रिश्ते में बहन के साथ सेक्स सम्बन्ध- 3

यह हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स स्टोरी मेरे साथ वाले घर में रहने वाली मेरी बहन जैसी लड़की की है. आधी रात में खुली छत पर उसने मुझे पहला चुम्बन किया.

फ्रेंड्स, मैं अगम आपको अपनी दूर की रिश्ते में लगने वाली बहन लवी की चुत चुदाई की कहानी सुना रहा था.
हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स स्टोरी पिछले भाग
रिश्ते में लगी बहन को मुझसे प्यार हो गया
में अब तक आपने पढ़ा था कि मैं लवी से व्हाट्सैप पर चैट कर रहा था. मुझे उसको चोदने का बड़ा दिल कर रहा था.

अब आगे हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स स्टोरी:

मैंने उससे कहा- 10:30 बजे मुझे छत पर आकर मिलो.

उसकी छत और मेरी छत मिली हुई है बस बीच में एक 3 फीट की दीवार है. लवी भी ऊपर की मंजिल में रहती है और मैं भी.

वो बोली- देखती हूँ.
मैंने कहा- मुझे नहीं पता, आना है तो आना है.

वो बोली- अच्छा बेबी ठीक है, ओके आती हूँ.
मैंने उसे बाय बोला और कहा- मैं मैसेज कर दूंगा तो आ जाना.
वो ओके बोली.

मैंने 10:45 पर उसे आने के लिए मैसेज किया क्योंकि तब तक सब सो गए थे.

उस समय छत पर किसी के देखने का डर नहीं था … क्योंकि वहां अंधेरा सा रहता है.

फिर वो 11 बजे छत पर आई.
उसने और मैंने लोवर टी-शर्ट डाल रखा था.

मेरा मन तो कर रहा था कि इसे यहीं पकड़ कर चोद दूँ.
पर छत खुली थी, अगर कोई उठ जाता या देख लेता … तो गड़बड़ हो जाती.

वो मेरे पास आई और मेरी छत पर आ गई.
मैंने उसे ज़ोर से हग किया तो उसके चुचे मेरी छाती पर गड़ गए और मजा आने लगा.

मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था. मेरा मन था कि उसे यही पकड़ कर ठोक दूँ!
पर फिर मैंने खुद को संभाला और मैं उसकी कमर पर हाथ फेरने लगा.

मैंने उसका चेहरा ऊपर किया और कहा- जो काम उधर सड़क पर अधूरा रह गया था, उसे पूरा करना भी तो ज़रूरी है.

मैंने उसके होंठों को हल्का सा ऊपर किया और उसे किस करने लगा.
जैसे ही उसके होंठों पर मैंने अपने होंठ रखे, वो तो बिल्कुल ही अलग दुनिया में चली गई.
उसे तो जैसे कुछ और पता ही नहीं था.

कुछ देर तक लंबा स्मूच करने के बाद हम दोनों अलग हुए और मैंने उसे आई लव यू बोला.
उसने भी आई लव यू टू बोला.

फिर कुछ देर बाद वो चली गई.

अब जब भी मैं उसे श्वेता के यहां लेकर जाता, तो वो मुझे कसके हग करके बैठी रहती और हम रोजाना रात को छत पर मिलने लगे, किस करने लगे.
मैं उसकी बॉडी पर हाथ फेरता और वो कुछ ना बोलती.

मैं ऐसे ही उसे हग करते हुए ऊपर से ही उसे रगड़ता रहता पर मैंने उसे अभी तक सेक्स के लिए नहीं बोला था.

फिर एक दिन लवी मुझसे बोली- अगम सुनो, तुमको मेरी साथ कहीं चलना पड़ेगा.
मैंने कहा- किस जगह जाना है?

वो बोली- मैं बता दूँगी. तीन दिन बाद चलना है.
मैंने कहा- फिर भी बता तो दो.

वो बोली कि तुम बस ये याद रखो कि तुम्हारे लिए कुछ सरप्राइज भी है.
मैंने उसे ओके कहा.

फिर वो बोली- हमें 3 दिन बाद रात को एक पार्टी में जाना है.
मैंने कहा- किस टाइम?

वो बोली- नौ बजे.
मैंने कहा- क्या … और घर वाले?

वो बोली- उनकी टेंशन तुम मत लो … बस तुम अपने घर पर देख लेना.
मैंने कुछ सोचा और उसे ओके बोला.

फिर 3 दिन बाद मैंने घर पर दोस्त की बर्थडे पार्टी का बहाना बनाया कि 8:30 बजे जाना है … और मुझे वहां से वापस आने में टाइम लगेगा.
मेरे घर वाले मान गए.

फिर 8:30 बजे मैंने लवी को कॉल की तो वो बोली कि तुम 10 मिनट में अपनी छत से मेरे घर आ जाओ.
मैंने कहा- क्या … चलना नहीं क्या?

वो बोली- मुझे थोड़ा टाइम लगेगा … तुम तब तक यहीं बैठ जाना.
मैंने कहा- तुम्हारे घरवालों को तुमने क्या बताया?
वो बोली- उनकी टेंशन मत लो.

More Sexy Stories  फेसबुक से मिली विधवा भाभी की चुत गांड चुदाई

मैंने उसे ओके बोला और चुपके से अपनी छत से उसके घर चला गया.

जैसे ही मैंने उसके कमरे के गेट पर हाथ लगाया, तो वो खुला हुआ था.
मैं अन्दर चला गया.

तभी लवी ने मुझे आवाज़ दी कि अगम गेट को बंद करके आना.
मैंने कहा- ओके.

वो दोबारा से बोली- तुम प्लीज़ नीचे वाला मेन गेट लॉक करके भी आ जाओ.

अब मुझे कुछ गड़बड़ लगी.

मैंने कहा- मेन गेट पर लॉक क्यों?
वो बोली- घर पर कोई नहीं है. आज और हम पीछे के दरवाजे से चुपचाप निकल जाएंगे. प्लीज़ कर आओ न!

में गेट बंद करने चला गया.

उस टाइम मेरे माइंड में कुछ चल तो रहा था पर मैंने सोचा कि अभी इसके साथ चला जाता हूँ. इसे फिर आकर देखूंगा.

पर मुझे क्या पता था कि उसका तो प्लान ही कुछ और था.

मैं गेट बंद करके जैसे ही ऊपर आया और उसके रूम के बाहर से नॉक किया तो लवी बोली- एक मिनट रुको बाबा, आती हूँ.

लवी ने रूम का गेट खोला और मुझे ज़ोर से हग कर लिया.
मैंने भी उसे कसके जकड़ लिया.
उसका स्पर्श पाते ही मेरा लंड खड़ा हो गया जो शायद लवी को भी पता लग गया था.

मैंने देखा कि रूम में अंधेरा था, कुछ भी साफ़ नहीं दिख रहा था.
अन्दर बस एक हल्की सी लाइट जली हुई थी जिससे ये पता लग रहा था कि रूम में डेकोरेशन की हुई है.

मैंने लवी को अपने से अलग करते हुए पूछा- इतना अंधेरा क्यों किया है?
वो बोली- तुम्हारे पीछे ही स्विच है … खोल लो लाइट.

मैंने जैसे ही लाइट का स्विच खोला तो रूम को एकदम सजा हुआ पाया जो अंधेरे में साफ़ नहीं दिख रहा था … और हां … लवी ने डेकोरेशन काफ़ी अच्छी की हुई थी.
मैंने लवी से पूछा- ये क्या है?

उसकी साइड में मुड़ा, तो मैं लवी को देखता ही रह गया.
वो क्या मस्त माल लग रही थी. बिल्कुल हॉट एंड सेक्सी माल … जैसे वो कोई एक्ट्रेस हो.

उसने गुलाबी रंग की शॉर्ट ड्रेस यानि मिनी स्केटर ड्रेस पहनी हुई थी.
वो उसमें बहुत ज़्यादा मस्त लग रही थी.

मेरा तो उसे देख कर बुरा हाल हुआ जा रहा था.
कुछ तो पहले से ही मेरा लंड खड़ा था और कुछ लवी को देख कर बाहर निकला जा रहा था.

मैंने तो वैसे भी कुर्ता पजामा पहना हुआ था, जिसमें मेरे खड़े लंड का साफ़ पता लग रहा था.

खैर … मुझे इस चीज़ की कोई टेंशन नहीं थी क्योंकि आज तो वैसे भी में लवी के साथ किस से कुछ ज़्यादा करने के मूड में था.
बस मैं पार्टी से वापिस आने तक रुका हुआ था.

फिर मैंने लवी से पूछा- ये डेकोरेशन क्यों की है?
वो इठला कर बोली- जान, ये सब आपके लिए किया है … आपके लिए ही सरप्राइज है.

मैंने कहा- ओह ओके मैडम, लेकिन आप आज किस किस को मारने के मूड में हो?
वो बोली- क्या मतलब?

मैंने कहा- मतलब ये कि कुछ तो तुम पहले ही हॉट हो … और कुछ आज ये सजधज कर बिल्कुल एटमबम जैसी सेक्सी लग रही हो.
वो शर्मा कर बोली- ऊओ थैंक्स जान!

फिर मैंने कहा- वैसे मैडम आपको पार्टी में नहीं जाना क्या … हम लेट हो रहे हैं.
वो बोली कि हां रूको.

वो पास में डेस्क के पास गई और म्यूज़िक ऑन करके आ गई और बोली- लो हो गई पार्टी शुरू … चलो एंजाय करो.

मैं उसकी इस बात पर चौंक गया और कहा- क्या ये कैसा मज़ाक है … तुमने मुझसे झूठ क्यों बोला कि कहीं जाना है?
वो बोली- जान, एक तो तुम्हारे लिए इतना किया … और तुम थैंक्स बोलने के बजाए ऊपर से गुस्सा कर रहे हो.

मैं कुछ नहीं बोला और लवी डांस करती हुई मेरे पास आई और मेरा हाथ पकड़ कर डांस करने लगी.

वो बोली- हम दोनों अकेले भी तो पार्टी कर सकते हैं.
मैंने उससे कहा- जी ज़रूर मैडम.

मैं बस उसके साथ डांस करने लगा.
उसने म्यूज़िक की आवाज काफ़ी बढ़ा दी पर हमें कोई दिक्कत नहीं थी क्योंकि एक तो उनका घर काफ़ी बड़ा है और ऊपर से उनके घर से आवाज़ बाहर नहीं जाती.

More Sexy Stories  मौसी की जेठानी की प्यास बुझाई- 3

मैं डांस करते हुए उसे किस करने की कोशिश करने लगा तो वो आंख दबा कर बोली- क्या बात है … लेने की बहुत जल्दी है.

मैं उसकी इस बात से चौंका कि ये तो लेने की बात कर रही है.

तभी वो बोली- मेरा मतलब आज किस करने की बड़ी जल्दी है.
मैंने कहा- हां जी … क्या करें, देने वाली मस्त है न. … मगर वो और कुछ तो कर नहीं रही है तो अभी किस ही कर लेता हूँ.

वो बोली- क्या मतलब?
मैं बोला- कुछ नहीं मैडम, समझ जाओगी इतनी अंजान भी मत बनो.

अब वो थोड़ा शरमाई.

मैंने उससे कहा- एक मिनट रूको, मुझे प्यास लगी है.
वो बोली कि रूको, मैं कुछ लाती हूँ.

मैं रुक गया और वो किचन में से दो ग्लास कोल्ड ड्रिंक लेकर आई.

मैंने उससे कहा- मुझे पानी पीना है.
वो नशीले अंदाज में बोली कि बाबू जो आज मैं पिलाती हूँ, पी लो शांति से.

मैंने कहा- अच्छा मैडम जी … आपका हुकुम सर आंखों पर.

मैंने कोल्ड ड्रिंक पीना शुरू किया, पर मुझे उसका टेस्ट कुछ अलग सा लगा.
पहले तो मैंने उस बात को इग्नोर किया और पूरी कोल्ड ड्रिंक पी गया.

पर मुझे कुछ हल्का सा अजीब लगने लगा.
वो मुझे ऐसे देख रही थी जैसे कि अभी खा जाएगी.

मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ तुमको … ऐसे क्या देख रही हो?
वो बोली- कुछ नहीं.

वो फिर से डांस करने लगी.

मैंने कहा- अच्छा ये बताओ, मेरा सरप्राइज क्या है?
वो बोली कि अभी रूको जरा, इतनी जल्दी क्या है?

फिर लगभग 9:15 हुए होंगे तब वो मुझसे थोड़ा अलग हुई.
मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उसकी कमर में हाथ डालकर उसे अपने पास खींच लिया.

मैंने उसे अपने से बिल्कुल सटा लिया, तो उसने भी मुझे जकड़ लिया और मेरा लंड उसकी चुत पर रगड़ खाने लगा.
उसके चुचे मेरी छाती पर गड़े जा रहे थे.

कुछ पल बाद मैंने उसे थोड़ा अलग किया और उसका चेहरे को ऊपर करके उसे किस करने लगा.

कुछ देर किस करने के बाद मैंने मिरर में देखा तो उसने जो लाइट पिंक कलर की लिपस्टिक लगाई थी वो उसके होंठों से मेरे होंठों पर आ गई थी.

ये देख कर मुझे और भी ज़्यादा मस्ती चढ़ने लगी, तो मैंने उससे कहा- यार मुझे गर्मी लग रही है.
वो बोली- अभी तो गर्मी और भी बढ़ने वाली है.

फिर उसने एसी का टेंपरेचर कम कर दिया, जिससे कूलिंग बढ़ गई.

मैंने उसे हग करते हुए कहा कि अभी तो मैंने सिर्फ़ तुम्हारी लिपस्टिक हटाई है … मेरा बस चले तो मैं काफ़ी कुछ हटा सकता हूँ.

वो बोली- जान क्या क्या हटाओगे … जो भी हटाना है, पहले हटा लो. वैसे भी आज मैं सिर्फ़ तुम्हारी हूँ. तुम जो बोलोगे, मैं वो करूंगी.

इस पर मैं बहुत खुश हो गया कि ये तो सामने से ही इन्वाइट कर रही है.

मैंने कहा- बताओ आज तुम मुझे कैसे खुश करोगी?

मैं बस उसे ठोकने के बारे में सोच रहा था.

इतने में लवी बोली- तुम क्या सोच रहे हो कि मैं तुम्हें कैसे खुश करूंगी?
मैं बोला- कुछ नहीं बाबू … वो मैं तुम्हारे सरप्राइज के बारे में सोच रहा था कि कितना अच्छा सरप्राइज दिया तुमने, जो अभी तक मालूम ही नहीं चला है.

वो हंस कर बोली- वो सरप्राइज बाद में दूंगी, पहले इस सरप्राइज को तो अच्छे से देख लो.
मैंने कहा- अच्छा मैडम, दो दो सरप्राइज देने वाली हो?

वो हंस दी और बोली- मुझे बेड पर ले चलो.

अब चुत चुदाई की बेला आ गई थी.

फ्रेंड्स, मैं अगले भाग में अपनी इस दूर की रिश्ते वाली हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स स्टोरी का पूरा मजा लिखूंगा.
आप मुझे मेल करना न भूलें.
[email protected]

हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स स्टोरी का अगला भाग: रिश्ते में बहन के साथ सेक्स सम्बन्ध- 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *