मैं उसकी चूत का हीरो

मेरा नाम शिवम है, मैं नोएडा में रहता हूँ, मेरा कद 5’10” का है. मैं दिखने में गोरा और आकर्षक हूँ.

यह कहानी उस समय की है, जब मैं बारहवीं कक्षा में पढ़ता था, उस वक़्त मैं हॉस्टल में रहा करता था. सुबह मैं स्कूल जाता और शाम को कोचिंग चला जाता था.

एक दिन की बात है, मैं कोचिंग में थोड़ा जल्दी पहुँच गया था क्योंकि मुझे रास्ते में कुछ काम था. जब मैं कोचिंग पहुँचा, तब मैंने देखा कि वहाँ अभी तक कोई भी नहीं आया था. मैंने अपनी बाईक पार्क की और अपने दोस्तों का वेट करने लगा. थोड़ी देर बाद मैंने सोचा कि क्यों ना क्लास में चलकर थोड़ा मैथ पढ़ लूँ.

मैं जैसे जैसे सीढ़ियों से ऊपर अपनी क्लास की तरफ बढ़ रहा था, मुझे कुछ आवाज़ें सुनाई देने लगीं. यह सिसकारियाँ भरने की आवाज़ें थीं. मैं समझ तो गया कि कोई खेल चल रहा है.. लेकिन तभी मैंने सोचा कि किसी दूसरे का मज़ा क्यूँ खराब करूँ तो इसीलिए मैं वापिस से नीचे आ गया.

फिर थोड़ी देर बाद, मुझे सीढ़ियों से किसी के उतरने की आवाज़ आई. मैं यह देखना चाहता था कि किसकी इतनी ज़ोरदार चुदाई चल रही थी. वह नीचे उतरी और जब मैंने उसे देखा, तब मेरी आँखें खुली की खुली रह गईं. उस लड़की का नाम ज़रीन था और वह मेरी सीनियर रह चुकी थी.

तभी मेरे दोस्त भी आ गए और हम कोचिंग पढ़ने चले गए.. पर मेरे दिमाग़ में केवल ज़रीन चढ़ी हुई थी. उसका 34-30-32 का फिगर मेरे लंड में हलचल पैदा कर रहा था, मुझे बार बार यही ख़याल आ रहा था कि वह अपनी चूचियाँ और गांड हिलाते हुए कैसे चुद रही होगी.

कुछ देर बाद जब क्लास ओवर हुई और मैं हॉस्टल पहुँचा, तब भी मेरे दिमाग़ में वही सब चल रहा था. फिर मैंने बाथरूम में जाकर उसको याद कर के मुठ मारी और अपने कमरे में आ गया. मैंने फ़ेसबुक पर उसको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी.

More Sexy Stories  सेक्सी स्टूडेंट सपना की सील तोड़ी

रात 11 बजे मैंने फिर फ़ेसबुक खोली, तो देखा कि उसने मेरी रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली थी और वह ऑनलाइन भी थी. मैंने हाय लिख कर भेजा, थोड़ी देर बाद उसका रिप्लाई आया.
फिर मैंने उससे उसकी पढ़ाई के बारे में पूछा कि वो क्या कर रही है. तो उसने मुझे बताया कि वह ग्रेजुयेशन कर रही है और साथ ही सिविल सर्विसेज़ की तैयारी भी कर रही है.
मैंने पूछा- आप राहुल सर के पास क्यूँ जाती हो?
उसने मुझको बोला- मैथ की क्लास लेने जाती हूँ.
मैंने बोला- वो आपको अकेले ही पढ़ाते हैं?
उसने बोला- हां.
अंत में मुझसे रहा नहीं गया और मैंने बोल दिया कि मुझे सब पता है कि आप वहां क्या करने जाती हो.

कुछ देर तक कोई जबाब नहीं आया.. मैंने भी कुछ नहीं कहा.
मुझे लगा कि शायद वो जबाव नहीं देगी.

लेकिन तभी उसने मैसेज भेज कर मेरा मोबाइल नम्बर माँगा, मैंने दे दिया. अगले ही मिनट में उसका कॉल आया, वह रो रही थी. उसने बताया- लास्ट ईयर हमारा टूर गया था, तब नहाते टाइम राहुल सर ने मेरा वीडियो बना लिया था और वह उनके फ़ोन में अब तक है, जिसे दिखाकर वो रोज़ मेरा फ़ायदा उठाते हैं, प्लीज़ हेल्प मी.
मैंने पूछा कि उसने उस क्लिप को कहीं नेट पर अपलोड तो नहीं कर रखा है?
वो बोली- नहीं.. उसने कहीं भी अपलोड नहीं की है. ये पक्का मालूम है.
मैंने बोला- ठीक है, मैं मदद की पूरी कोशिश करूँगा.

अब मेरे दिमाग में उसकी तस्वीर कुछ दूसरी बनने लगी थी, लेकिन उसकी मदभरी आवाजें मुझे कुछ और सोचने पर मजबूर भी कर रही थीं.

फिर रात भर मैंने इस बारे में सोचा और अगले दिन स्कूल के बाद कोचिंग पहुँचा. क्लास के बाद मैंने सर को बोला कि मेरे पापा आने वाले हैं और मुझे उन्हें लेने जाना है, मेरा मोबाइल लो बैटरी के कारण ऑफ हो गया है, प्लीज़ आप मुझे अपना मोबाइल दे दीजिएगा.

More Sexy Stories  College Girl Ki Chudai - Hindi Sex kahaniya

यह कह कर मैंने उनसे एक कॉल करने के बहाने मोबाइल ले लिया और जल्दी से उनका फोन फ़ॉर्मेट मार दिया.

उन्होंने फोन को ब्लैंक देखा तो गुस्सा होने लगे. मैंने उन्हें मोबाइल देकर बोला- सर किसी का वीडियो बनाकर उसे धमकाकर सेक्स करना.. आप जानते हैं कि यह अपराध होता है, अगर आपने अभी ज़रीन से माफी नहीं माँगी तो मैं आपके खिलाफ केस करूँगा. ज़रीन भी इस बात पर तैयार है और उसका मेडिकल होने पर आपको सज़ा पाने से कोई नहीं बचा पाएगा.

मेरी इस बात से वो घबरा गए. इसी के साथ मैंने कहा कि यदि उसका वीडियो किसी भी जगह नेट आदि से मिलता है तो उसके जिम्मेदार भी आप ही होगे. इसलिए बेहतर रहेगा कि यदि आपने कहीं इस वीडियो की कॉपी रखी हो तो उसे भी डिलीट कर दो.
मेरी बात सुनकर सर डर गए और उन्होंने मेरी बात मानते हुए कहा कि नहीं मैंने इसकी कोई कॉपी नहीं बनाई थी.
मेरे सामने उन्होंने ज़रीन को सॉरी भी बोला. मैंने सर से जरीन को कुछ पैसे भी दिलवाए.

इसके बाद कुछ दिनों तक हमारी खूब बातें हुईं, वह बार बार बोलती थी- शिवम, यू आर माय हीरो.
एक दिन मैंने उसको बोला- आई लव यू ज़रीन.. विल यू एक्सेप्ट मी?
उसने बोला- आई लव यू टू शिवम… यू आर माय हीरो.

फिर मैंने उसको डेट के लिए पूछा, उसने शनिवार का टाइम फिक्स कर लिया. इसके बाद मैंने अपने दोस्त के फ्लैट की चाभी ली और सारे अरेंज्मेंट करने लगा. मैंने केक, चॉकलेट, वाइन और डेकोरेशन सब का इंतज़ाम किया.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *