सॉफ्टवेयर इंजीनियर लड़की को चोदा

Xxx सकिंग कॉक कहानी में पढ़ें कि एक गर्म लड़की ने मुझे चुदाई के लिए होटल में बुलाया. रूम में घुसते ही उसने मेरा लंड निकला और चूसना शुरू कर दिया. उसके बाद …

सभी दोस्तों को नमस्कार और सभी लड़कियों और भाभियों को मेरे लंड से सलाम.

दोस्तो, अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है. अगर कोई गलती हो तो माफ़ कर देना.
Xxx सकिंग कॉक कहानी में सभी नाम बदल दिये गये हैं.

मेरा नाम राज है. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ.
मैं अपने बारे में बता देता हूँ. मेरी उम्र 25 साल और मेरी हाइट 6’1″ है. दिखने में स्मार्ट हूँ. बॉडी स्लिम है. और लंड का साइज अच्छा लम्बा और मोटा है.
मुझे शुरु से ही चुदाई का बहुत शौक है.

चौड़ी गांड वाली लड़कियां मुझे बहुत पसंद आती हैं. चौड़े चूतड़ वाली को तो देख कर ही लंड सलामी देने लगता है.
मैं U.P. से हूँ लेकिन दिल्ली में रहता हूँ.
मैं एक प्ले बॉय हूँ.

दोस्तो, मुझे चुदाई का अच्छा खासा एक्सपीरिंयस है.
आज तक 9 चूतों की चुदाई कर चुका हूँ और लगभग 250 बार चुदाई करी है.
उनकी बात फिर कभी करेंगे.

यह बात 2021 फरवरी की है. लॉकडाउन की वजह से काफी दिनों से चूत ना मिलने के कारण मेरा लंड बौखलाया जा रहा था. मुट्ठ मार मार कर लंड भी परेशान हो चुका था.

एक शाम बारिश हो रही थी तो मैं भी दारु पीने बैठ गया.
और पीते पीते अचानक एक लड़की का कॉल आया.
उससे बात होने लगी.

उसने अपना नाम नेहा बताया.
वो लड़की जयपुर से थी. वो एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर थी. जॉब करती थी.

उसने बताया कि उसकी एक फ़्रेंड ने मेरा नंबर दिया है और मेरी सर्विस से वो बहुत खुश हो गयी थी.
मैंने उससे कहा- आपको पता है ना मैं चार्ज करता हूँ.
उसने कहा- पैसे की टेंशन मत लो डार्लिंग. बस मुझे संतुष्ट करो आकर!

उसने मेरी ट्रेन की टिकट करवाई. मैं समय पर घर से निकल गया.

वो मुझे रेलवे स्टेशन पर अपनी गाड़ी से लेने आयी.
जैसे ही मैंने उसे देखा … बस देखता ही रह गया!

उसने जीन्स और टॉप पहना हुआ था. गज़ब की खूबसूरत लग रही थी … एकदम गोरी … ऐसा लग रहा था जैसे दूध में नहाती हो.
और फिगर 34 32 36.

More Sexy Stories  सहकर्मी से होटल में बिना कंडोम चुत चुदवायी

उसने मेरे लिए होटल में रूम बुक कर दिया था.
वो मुझे होटल लेकर आयी और बोली- मुझे एक बार अपना लंड चूसा … फिर एक बार मैं घर होकर आती हूँ, उसके बाद हम लोग चुदाई करेंगे.
इतना कह कर उसने मेरी जीन्स खोली और मेरा लंड बाहर निकाल कर चूसने लगी.

वो जिस तरह से लंड चूस रही थी, ऐसा लग रहा था मानो जन्मों से भूखी हो.

करीब 10 मिनट बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया. Xxx सकिंग कॉक के बाद उसने पूरा माल पिया और लंड चाट कर साफ कर दिया.
फिर वो बोली- तुम नहा कर फ्रेश हो जाओ. मैं तब तक घर होकर आती हूँ.

लगभग 2 घंटे बाद वो आयी.
अब भी वो एकदम हूर की परी लग रही थी … वन पीस ड्रेस ब्लैक कलर की ड्रेस पहन कर आई थी वो!

वो आयी रूम में.
हम लोगों ने दारु की बोतल खोली और 3-3 पेग बातें करते करते ही पी गये.

अब हम दोनो ही थोड़े सुरूर में आ चुके थे।
फिर मैंने एक सिगरेट पी.
और नेहा मुझे लगातार प्यासी नज़रों से देखे जा रही थी.

फिर वो अचानक उठी और मुझे ज़ोर से किस करने लगी.
किस करते करते मैंने उसके कपड़े उतार दिये.

अब वो मेरे सामने ब्लैक कलर की ही ब्रा और पैंटी में थी.
मैं उसके चुचे दबाए जा रहा था.

इसी बीच नेहा ने मेरी शर्ट और शॉर्ट्स उतार दिये.
वो मुझसे चिपक कर फिर से किस करने लगी.

थोड़ी ही दर में हम दोनों पूरे नंगे थे.

उसने झट से मेरा लंड पकड़ा और प्यासी कुतिया की तरह चूसने लगी.
करीब 15 मिनट तक उसने चूस चूस कर मेरा पूरा माल निकाला और पी गयी.

हम फिर 69 पोजीशन में आये.
वो मेरे ऊपर थी और लंड चूसे जा रही थी.
मैं उसकी चूत और गांड चाट रहा था.

आह्ह्ह … क्या मस्त मज़ा आ रहा था.
मैं बीच बीच में नेहा के चूतड़ों पर थप्पड़ भी मार रहा था जिससे वो और भी ज्यादा गर्म हो रही थी.

इधर मेरा लंड उसने चूस चूस कर दोबारा खड़ा कर दिया.

फिर मैंने उसे लेटाया और उसकी चूत के दरवाजे पर अपना लंड रखा और एक ज़ोर से झटके में आधा लंड अंदर घुसेड़ दिया.

More Sexy Stories  ஜோடிகளை மாற்றி கொண்டு இரண்டாவது ஹனி மூன்

इससे नेहा की चीख निकल गयी, बोली- भेनचोद … आराम से घुसा … माँ के लौड़े मेरी चूत फाड़ देगा क्या?

फिर मैंने अचानक ही दूसरा झटका मार कर लंड पूरा अंदर डाल दिया.
इस बार तो नेहा के आंसू निकल आये.

लेकिन ये सब देख कर मैं रहम करने वाला नहीं था क्योंकि इतने महीनों बाद मेरा लंड किसी चूत में अंदर गया था.

मैंने समय बर्बाद ना करते हुए चोदना चालू किया.

लगभग 5 मिनट बाद नेहा को भी दर्द कम हुआ और अब वो भी चुदाई के मज़े लेने लगी.

कुछ मिनट ऐसे ही चोदने के बाद फिर मैंने पोजीशन बदली.
मेरी सबसे पसंदीदा डॉगी स्टाइल है दोस्तो … डॉगी स्टाइल मुझे सबसे ज्यादा इसलिए पसंद है क्योंकि उसमें लड़की के चूतड़ जब लंड के आस पास टकराते हैं ना तब उसका आंनद मेरी तरह ही सिर्फ एक गांड प्रेमी ही समझ सकता है.

लगभग दस मिनट ऐसे ही चोदने के बाद नेहा तब तक एक बार झड़ चुकी थी.

और मैं तब तक बीच बीच में उसके मस्त बड़े बड़े चूतड़ों पर थप्पड़ भी मार रहा था.

अब मेरा माल भी निकलने वाला था.
मैंने उससे पूछा- मैं झड़ने वाला हूँ. कहां निकालूँ? चूत के अंदर या बाहर?

नेहा कराहती हुई आवाज़ में बोली- चूत में अंदर ही निकालो.

बस मैंने 4-5 शॉट मारे और चूत में अंदर ही झड़ गया.
उसके बाद नेहा वही सो गयी.

करीब 2 घंटे तक सोने के बाद वो उठी और बाथरूम तक गयी.
वो ठीक से चल नही पा रही थी.

मैंने उससे पूछा- जानू मज़ा आया मुझसे सेक्स करके?
वो बोली- हाँ जान … आज तक ऐसी चुदाई कभी नहीं हुई मेरी. आज से पहले इतना मज़ा कभी नहीं आया.

हमने संडे का पूरा फायदा उठाया.
नेहा की भी छुट्टी थी और इस बीच हमने खूब चुदाई की.

उसने होटल का पेमेंट किया और दूसरे दिन मैं वहाँ से वापस आ गया.

बस इतनी सी ही है मेरी कहानी!
आशा है कि आप लोगों को मेरी Xxx सकिंग कॉक कहानी पसंद आयी होगी.
आप सब पाठक मुझे इमेल करके और कमेंट्स जरूर बतायें.
धन्यवाद!

[email protected]