कॉलेज के दोस्त की इच्छा पूरी की

नमस्कार फ्रेंड्स मैं सुनील आज बहुत लंबे समय के बाद अपनी एक और साची चुदाई कहानी ले आप सब के लिए ले कर आया हूँ. क्या करूँ फ्रेंड्स मैने अभी तक कोई नयी चुदाई नही करी थी. इसलिए मैने कोई नयी चुदाई कहानी नही डाली थी. और आप सब को तो मेरा पता ही है मैं जो भी कहानी लिखता हूँ. वो एक दम मस्त होती है

आज जो मैं आप को बताने जा रा हूँ. वो हादसा या मेरे साथ एक हफ्ते पहले सॅटर्डे नाइट को ही हुआ है. तो चलिए फिर आप को मैं अपनी कहानी बताना शुरू करता हूँ. उससे पहले थोडा सा अपने बारे मे भी आप सब को बता देता हूँ.

मेरा नाम सुनील है और मेरी उमर 23 साल हो गयी है. मैं एक जवान हॅंडसम और स्मार्ट लड़का हूँ. मैं अभी ब.कॉम कर रा हूँ. कॉलेज मे आते ही मेरे लंड को खोबसूरत और जवान लड़कियो की चूत मूह लग गयी थी. स्कूल टाइम मैने जितनी चुदाई करी उससे काफ़ी ज़्यादा मैने कॉलेज के पहले सें मे ही कर दी थी.

कॉलेज मे मुझसे सारी खूबसूरत लड़किया दोस्ती करना चाहती थी. पर मेरी क्लास मे मेरे साथ एक पूजा नाम की लड़की भी पढ़ती थी. मैने कभी उस पर ज़्यादा ध्यान नही दिया. उसने मुझे अपना बाय्फ्रेंड बनाने के लिए बहुत कोशिश भी करी पर मैने उस पर फिर भी ध्यान नही दिया. उसके ऑफर मेरे पास कोई ना कोई ले कर आता रहता था.

वैसे मैं बता दूं की पूजा भी कम स्मार्ट नही है. उसका रंग गोरा और फिगर कुछ ऐसा था 32-28-34. बहुत ही सेक्सी और हॉट थी पर फिर भी ना जाने मेरा ध्यान पर नही जाता था. प्रीति कॉलेज से थोड़ी सी डोर एक रेंट रूम मे रहती थी. उसके साथ उसका एक छोटा भाई और एक बड़ी बेहन जिसकी शादी हो चुकी थी. पर शादी के कुछ दिन बाद ही उसके पति ने उसे छोड़ दिया था. इसलिए अब वो अपनी छोटी बेहन पूजा के साथ ही रहती है.

कॉलेज मे अब प्रॉजेक्ट बना कर देने थे. वो मेरे साथ पूजा मेरे ग्रूप मे थी. मेरा लॅपटॉप उन दीनो ठीक नही था इसलिए मैं पूजा से कहा की क्या मैं एक दिन के लिए तुम्हरा लॅपटॉप ले सकता हूँ. इससे ये होगा की तुम्हे काम करने की ज़रूरत नही होगी. सब कुछ मैं ही आज आज मे ख़तम कर दूँगा. उसने मुझे एक बार भी ना नही करी और अपना सारा काम विन छोड़ कर मुझे अपना लॅपटॉप दे दिया. वो मुझे मुस्कुराते हुए देख रही  थी.

अपने रूम पर आ कर मैने सब से पहले कॉलेज का प्रॉजेक्ट पूरा किया. फिर मैं फ्री बैठा था इसलिए मैं पूजा का लॅपटॉप देखना शुरू कर दिया. तभी मुझे उसमे एक हिडन फोल्डर मिला जिसमे उसकी फॅमिली की फोटोस थी. उसके अंदर मुझे एक xxx नाम का एक और फोल्डर मिला. मैने जेसे ही उसे ओपन किया तो मेरा लंड उसी टाइम खड़ा हो गया.

क्योकि उसने बहुत ही सेक्सी सेक्सी मूवीस थी. ज़्यादातर उसमे बड़े बड़े काले लंड वाली थी. और 9 वीडियोस पर उसने मी फेव लिखा हुआ था. उस वीडियो मे लड़किया लड़को के लंड चूस रही थी. मैं ये देख कर समझ गया की पूजा को बड़े लंड अपनी चूत मे लेने और मूह मे ले कर चूसना बहुत अछा लगता है. फिर मैने उन मूवीस को देख कर एक बार मूठ मारी और फिर मैं सो गया.

अगले दिन मैं उठा और डेली की तरह कॉलेज जाने लग गया. कॉलेज जाते ही मैने सब से पहले पूजा को उसका लॅपटॉप दिया. और उसकी आँखो मे आँखें डालते हुए उसे कहा की पूजा यार मूवीस तो तुमने बहुत ही कमाल की रखी हुई है इसके अंदर. उसने मुझसे पूछा कों सी मूवीस, मैने कहा वो ही यार जो तुम्हारी फॅमिली की फोटो वेल फोल्डर मे पड़ी हुई है. ये सुनते ही उसके चेहरा का रंग उडद गया. और वो शरम से पानी पानी हो गयी. वो वाहा से चली गयी.

More Sexy Stories  पापा के दोस्त से चुदाई

और मैने तो रात ही उसको चोदने का पूरा प्लान बना लिया था. फिर मैने शाम को उसको फोन किया. उसने मेरा फोन तो उठा लिया पर वो काफ़ी डारी हुई थी. तब मैने उसे कहा यार इसमे डरने वाली क्या बात है. ऐसी मूवीस तो सब देखते है. तुमने देख ली तो इसमे कॉन्सा ज़रुम हो गया है.

मेरी बात सुन कर उसे थोडा होसला सा हुआ. फिर हम दोनो फोन पर ही बातें करने लग गयी. हम दोनो ने उस शाम करीब 1:27 मिनिट बात करी. और बतो ही बतो मे पूजा मेरे साथ पूरी खुल चुकी थी.

उस दिन के बाद हम दोनो मे सब कुछ ऐसा ही चला रा फिर उसने मुझे क्लास मे कहा की सुनील अगर तुम बुरा ना मानो हम दोनो एक फुल दे एनोजी करना चाहिए. मैने उसे हन कह दिया तो उसने कहा की ठीक है इस शुक्रवार शाम को मेरी बड़ी बेहन और छोटा भाई अपने घर जा र्हे है. तो हम दोनो ये सॅटर्डे पूरा एंजाय करेगें. मैने उसे हन कह दिया और अपने माइंड मे पूजा को चोदने का पूरा प्लान बनाने लग गया.

मैं उसकी बातो से ही समझ चुका था की पूजा खुद ही मुझे चुदाई के लिए इन्वाइट कर रही थी. मैं भी बहुत बेसब्री से सॅटर्डे का वेट कर रा था. आख़िर वो दिन आ ही गया रात को हम दोनो ने फोन पर पूरा प्लान बना लिया था. ठीक 9 बजे मैं उसके रूम के बाहर बाइक ले कर आ गया. उसने उस दिन पतला ब्लू कलर का टॉप और ब्लू कलर की जीन्स डाली हुई थी. उसको देखते ही मेरा लंड खड़ा होने लग गया.

वो झट से मेरे पीछे बैठ गयी और मैने उसे कहा की इतनी डोर क्यो बैठी हो ज़रा सा पास हो जाओ ना. मेरे कहने पर वो थोडा से मुझसे चिपक गयी उसके बूब्स मेरी कमर पर लगे हुए थे. हम दोनो सिटी से बाहर आ गये और एक पार्क मे चले गये. वाहा पर जा कर मैने अपना काम शुरू कर दिया. मैने उसकी बॉडी पर इधर उधर हाथ मारना शुरू कर दिया. उसने मुझे एक बार भी माना नही किया.

मैने हिम्मत करके 4 बार उसकी गॅंड को भी अपने हाथ मे ले कर मसाला वो कुछ नही बोली. मैं समझ गया ये तो चोदने के लिए पूरी तैयार बैठी है. पार्क मे काफ़ी देर घूमने के बाद हम दोनो ने एक होटेल मे जा कर अछा सा लंच किया. और फिर शाम तक इधर उधर मस्ती मार कर हम दोनो वापिस घर आने लग गये. रास्ते मे अब पूजा मुझे पूरी तरह से चिपक बैठी हुई थी. उसने मुझे अपनी बाहों मे लिया हुआ था और बार बार वो मेरे लंड को टच कर रही थी.

रास्ते मे ही उसने मुझे कहा सुनील प्लीज़ तुम जाते हुए मेरा लॅपटॉप देख सकते हो. मैने कहा क्यो फिर से मूवीस दिखानी है क्या. वो एक दम चिड गयी और बोली तुम चलो तो सही फिर वही पर तुम्हे बताती हू. आख़िर हम दोनो उसके रूम पर आ गये. टाइम रात के 7 बजे चुके थे उसने मुझे अपने रूम मे लिया और मुझे उसने कहा की प्लीज़ आज रात तुम यही रुक जाओ मुझे अकेले मे दर लगता है. उसकी एक एक बात का मतल्ब मैं बहुत आछे से समझ रा था.

मैने उसे ना कह दिया पर वो मेरे आगे ज़िद करने लग गयी और फिर मुझे रुकना पद गया. उसने कहा की तुम बैठी टीवी देखो मैं नहा कर आती हूँ. इतने वो नहाने चली गयी मैं किचन मे गया तो देखा वाहा पर कोल्ड ड्रिंक और विस्की पड़ी हुई थी. मैने थोड़ी सी विस्की कोल्ड ड्रिंक मे मिला. जब पूजा नहा कर आई तो वो कयामत लग रही थी. उससे मैने उसका लॅपटॉप माँगा और उसमे पंगे लेने लग गया. फिर हम दोनो ने कोल्ड ड्रिंक पी और उसे जल्दी ही नशा सा हो गया.

मैने कहा चलो पहले थोड़ी सी ब्लू मोविए देख लेते है इससे थोडा मूड बन जाएगा. फिर क्या था पूजा मेरी गोड्ड़ मे बैठ कर मूवीस देख रही थी. कुछ ही देर मे वो गरम होनी शुरू हो गयी. मैने उसकी गार्डेन और कानो को धीरे धीरे अपने होंठो से चूमना शुरू कर दिया. उसकी दोनो आँखें बंद होने लग गयी थी. मैने उसे खड़ा किया और उसे अपनी गोद मे उठा कर उसे सीधा बेडरूम मे ले गया.

More Sexy Stories  बुआ की बेटी की चुदाई कहानी

बेडरूम मे आते ही मैने उसे पूरा नंगा कर दिया. और उसके होंठो और उसके बूब्स को मसलने और चूसने लग गया. हम दोनो सेक्स की वासना मे पूरी तरह से डूब र्हे थे. मैने उसे बेड पर लेता दिया और उसके दोनो बूब्स को बरी बरी से आचे से चूसने लग गया.

फिर उसका हाथ मेरे लंड पर आ गया उसने मेरा लंड बाहर निकल लिया. और खुद थोड़ी सी खड़ी हो कर मेरे लंड को अपनी जीब से चाटने लग गयी.

मैं भी मस्त हो गया और मैने उसका मूह चोदना शुरू कर दिया. कुछ ही देर बाद मेरे लंड का सारा पानी उसके मूह मे ही निकल गया. फिर मैने उसके मूह से अपना लंड निकल लिया. और उसकी दोनो पताँगे खोल कर उसकी चूत को अपनी जीब से चाटने लग गया.

जेसे ही मैने उसकी चूत को चाटना शुरू किया तभी उसकी चूत और वो पूरी तरह से पागल हो गयी. पूजा मेरा सिर पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से अपनी चूत मुझसे चटवा रही थी.

कुछ ही देर बाद उसकी चूत ने काफ़ी सारा पानी बाहर निकल दिया और मैं उसकी चूत से निकले हुए पानी को आचे से चॅट चॅट कर पी गया. अब टाइम था चुदाई करने का इसलिए मैने अपना लंड उसकी चूत पर सेट किया और उसके होंठो को अपने होंठो मे ले कर. उसकी चूत पर जोरदार ढके से अपना पूरा लंड उसकी चूत मे डालने की कोशिश करी. पर चूत काफ़ी चॅट थी मेरा आधा लंड ही उसकी चूत मे जा स्का. पूजा को बहुत दर्द हुआ वो रोने लग गयी थी.

मुझे आछे से पता था की दर्द तो उसको होना ही है मैने एक और ढाका अपनी पूरी ताक़त से मारा और अब की बार अपना पूरा लंड उसकी चूत मे समा दिया. हम दोनो ने चुदाई शुरू कर दी थी. और 10 मिनिट बाद ही हम दोनो का पानी पूजा की चूत मे ही निकल गया. मैने अपना लंड बाहर निकाला और पूजा के उपर मैं 69 की पोस्टीओं मे आ गया. वो मेरा लंड पूरा का पूरा अब अपने गले मे रही थी.

कुछ ही देर बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. अब की बार मैने उसे घोड़ी बनाया और उसकी चूत की चुदाई पीछे से करने लग गया. पीछे से चूत को चोदने मे मुझे ज़्यादा मज़ा आ रा था. पर इसमे पूजा को बहुत दर्द हो रा था. क्योकि मेरा हर ढाका उसकी बचे दानी पर जा कर लग रा था. जिससे मेरा लंड आगे से पूरा लाल हो चुका था. फिर से मैने अपने लंड का सारा पानी उसके मूह के अंदर निकल दिया.

उस रात हम दोनो ने सुबह के 5 बजे तक चुदाई करी. और जब वो सुबह 10 ब्जे उठे तो हम दोनो का नशा उतार चुका था. और फिर मैं सनडे को भी उसके रूम मे रुक गया. और सनडे का दिन और रात भी उसके घर ही लगा कर आया. सनडे की रात तक मैने उसकी चूत का भोसडा बना दिया था.

रात को 9 बजे ही पूजा ने मेरे आगे अपने हाथ जोड़ दिए थे. और कहा बस करो बाबा तुम को ही थकते ही नही कल रात से सिर्फ़ मुझे चुदाई जा रहे हो प्लीज़ मुझे अब माफ़ करो.

दोस्तो, मैं ये कहानी और भी आगे लिखता पर मुझे अभी के अभी पूजा को फिर से चोदने जाना है. मुझे उमीद है आप को मेरी आज की ये कहानी पसंद आई होगी. इस तरह दोस्तो मैने पूजा की चुदाई की इच्छा पूरी कर दी.

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *