वेलेंटाइन डे से पहले ही चोदम चुदाई

नंगी लड़की की सेक्स कहानी में पढ़ें कि वेलेंटाइन डे से पहली रात मैंने अपने सामने वाले घर में पड़ोस की सेक्सी लड़की को पूरी नंगी होकर चुदाई करवाते देखा.

यह कहानी सुनें.

 

खटाक!
हल्की सी आवाज के साथ सामने वाले घर की खिड़की खुली थी।
रात के बारह बजे थे।
हल्की हल्की फुहारों से मेरी नींद खुल गई थी।

मैं अपने कमरे की खिड़की बंद करने जा रही थी कि तभी सामने वाले घर की खिड़की खटाक से खुल गई और उसमें से रुचित झांकने लगा।

रुचित सामने के घर में रहता था।
मस्त मौला … मजबूत कदकाठी का युवक।
करीब 24 की उम्र … जिम का शौकीन।
अभी उसकी शादी नहीं हुई थी।

मैं अपने घर की ऊपरी मंजिल पर थी।
आमतौर पर मेरा यह कमरा बंद ही रहता था।

मेरे कमरे में अंधेरा था इसलिए रुचित शायद मुझे देख नहीं पाया।

मुझे लगा कि वो बारिश का मजा लेना चाहता होगा …
लेकिन वो इधर उधर देख रहा था।

फिर उसने कुछ इशारा किया
तो पीछे से एक लड़की आई।

उसको देखते ही मैं चौंक गई।
अरे … यह तो रति है।

12वीं में पढ़ती है लेकिन पूरे मोहल्ले में उसके जलवे हैं।
भरे पूरे बदन की गोरी चिट्टी लड़की जिस्म उर्वशी रौतेला जैसा …
मक्खन सा बदन … उंगली रखो तो फिसल जाए.

रति सच में जैसे रति का अवतार है.

कामुकता से भरी रति … इतनी देर रात रुचित के साथ?
कुछ तो माजरा लगता है।
मैं दम साध कर बैठ गई उनके क्रियाकलाप का मजा लेने।

तभी याद आया कि कल तो वेलेंटाइन डे है।

अरे बेटा, इन दोनों की वेलेंटाइन की मस्ती की तैयारी लगती है!
लेकिन हट्टे कट्टे रुचित के सामने तो रति काफी कमजोर खिलाड़ी होगी क्योंकि रति ने अभी अपने जीवन के 20 वसंत भी नहीं देखे होंगे।

मैं मन ही मन में सोचने लगी।

मेरी नींद उड़ गई थी।

रति ने भी खिड़की पर आकर झांका।

आधी रात, बारिश का समय, किसी के आने की कोई उम्मीद नहीं थी।

More Sexy Stories  मौसी की बेटी के साथ पहली चुदाई

दोनों ने सर हिलाकर हां में हां मिलाई, यानि लाइन क्लियर है.
लेकिन दोनों को क्या पता कि स्टेडियम में एक दर्शक यानि मैं मौजूद हूँ।

रुचित ने रति की तरफ मुड़कर कुछ कहा लेकिन दूरी की वजह से कुछ सुनाई नहीं पड़ा।
शायद वेलेंटाइन डे की बधाई दी होगी।

खैर मुझे क्या, सुनाई नहीं पड़े तो नहीं पड़े लेकिन दिखता रहे।

एकाएक रति उछली और रुचित की गोद में चढ़ गई।
दोनों में चूमा चाटी शुरू हो गई थी।

रति की रफ्तार देखकर मैं भी हैरान थी। रति की उत्तेजना बढ़ने लगी थी।
अब वो अपनी चूचियों को रुचित के सीने से रगड़ने लगी थी।

उसने रुचित की टी शर्ट उतार दी और रुचित के सीने पर बने छोटे छोटे उभारों को मसलने लगी थी।

रुचित पर भी रति की खुमारी चढ़ रही थी।
उसने रति का कुर्ता उतार दिया।
अगले ही पल रति की ब्रा जमीन पर थी।

ओ माई गॉड …

रति के उभारों को देखकर मैं हैरान थी।
पता नहीं कितने लड़कों ने मेहनत की है।

उसके दोनों कबूतर इतने ठोस थे मानों सीमेंट से बनाए गए हो।
एक बार तो मेरी भी इच्छा रति की चूचियों को पीने की हो रही थी।

रुचित ने रति के दूध को अपने मुंह में भर लिया।
वो एकदम दूध पीता बालक जैसा लग रहा था।
उसका एक हाथ रति की चूचियों से खेल रहा था।

रुचित के दूसरे हाथ को जब कोई काम नहीं मिला तो उसने अपने हाथ से उसकी लेगिंग नीचे सरकानी शुरू की.
दो मिनट में लेगिंग को रति ने खुद अपने पैरों से बाहर कर दिया.

रति ने पैंटी नहीं पहनी थी. वो अपनी चुदाई के लिए तैयार होकर आयी थी.

नंगी रति रुचित के सामने थी.
रुचित ने अपनी मिडल उंगली रति की चूत में डाल दी।

एक साथ हुए तिहरे हमले से रति तड़फने लगी।
वो शायद वासना से सिसकार रही होगी. लेकिन उसकी आवाज मुझ तक नहीं पहुँच रही थी.

More Sexy Stories  Desi bhai bahan ki hot sex kahani

तभी अचानक उसने खुद को रुचित के चंगुल से छुड़ाया और रुचित का लोअर उतार कर उसके कड़े लन्ड को अपने मुंह में भर लिया।

सेक्सी रति के मुंह की गर्मी से लन्ड राजा और उसके मालिक दोनों का बुरा हाल हो गया।

रुचित ने अब रति को एक मेज पर खड़ा कर दिया।

मुझे रति की उभरी चूत साफ नजर आ रही थी।
नंगी लड़की की एकदम चिकनी चूत!

रुचित की जीभ उसके अंदर घुस गई।
थोड़ी देर में रति ने उछलना शुरू कर दिया।

वासना से तड़प रही रति की पतली हालत देखकर रुचित को उस पर तरस आया और आखिरी लड़ाई की तैयारी शुरू कर दी।
रुचित का मन कुछ और सोचे हुए था।

रुचित ने रति को खिड़की के सहारे घोड़ी बना दिया और खुद रति के कंधों पर हाथ जमकर पीछे खड़ा हो गया।
धीरे धीरे उसका लन्ड नंगी लड़की रति के जिस्म के भीतर घुसने लगा।
मुझे दिखा नहीं कि लंड रति की चूत में गया या गांड में!

तीन चार बार पंप करने के बाद रुचित ने अपने दोनों हाथ रति की चूचियों पर जमा दिए और पूरी रफ्तार से रति को चोदना शुरू कर दिया।

वासना के वशीभूत मेरा अपना हाथ भी अनायास मेरी जाँघों के बीच चला गया. मैं भी अपनी चूत को सहलाने लगी.

पांच मिनट में रति का हाल बेहाल हो गया लेकिन रुचित ने और तीन मिनट तक रति की चूत या गांड फाड़ी।
इसके बाद दोनों वहीं फर्श पर लेट गए।

रति रुचित का वेलेंटाइन तो हो गया लेकिन एक बात आज तक पता नहीं चली कि रुचित ने रति को चोदा था या फिर उसकी गांड मारी थी।

अब मैंने सोचा कि किसी दिन रति को अपने घर बुलाकर पूछूंगी कि उसने रुचित से चूत मरवायी थी या गांड?

कैसी लगी आपको यह नंगी लड़की की सेक्स कहानी?
कमेंट्स और मेल में अवश्य बताएं.

[email protected]

लेखिका की पिछली कहानी: मोहल्ले की जवानी को धर्मशाला में चोदा