Tag «पाठकों के पत्र»

मैं अपने मामा के बेटे को दिल दे चुकी हूँ

नमस्कार दोस्तो, मैं विशाखा शर्मा. मैं आप सभी पाठकों से एक राय लेना चाहती हूँ. हमारा समाज सभी पर कड़ा नियंत्रण रखता है. हम लड़कियों पर तो कुछ ज़्यादा ही ऐसा होता है. मैं बिहार के एक पिछड़े ज़िले के एक छोटे से गांव की निवासी हूँ. मेरे माता पिता ग़रीब हैं, पर अपनी हैसियत …

चाचा ने मुझे चूत में उंगली करते देख लिया

मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम शालू है, मेरी उम्र लगभग 20 साल है। मेरी एक समस्या है प्लीज़ आप लोग मुझे सही सलाह दीजिये। मैं अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ने की शौकीन हूँ। ऐसे ही एक दिन मैं इस साईट पर एक प्रतिष्टित रचनाकार अरुण जी की लिखी एक कहानी मेरी बेकाबू बीवी पढ़ रही थी। …