मेरे पड़ोसी की किरायेदार परियाँ- 2

स्टूडेंट टीचर सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने युगांडा की एक लड़की को चोदा. उसका भाई भारत घूमने आया तो उसने अपनी प्रिंसिपल की चुदाई की कहानी सुनायी.

स्टूडेंट टीचर सेक्स कहानी के पहले भाग
जवान लड़कियों की कोरी बुर का मजा

में आपने पढ़ा कि युगांडा की एक अश्वेत लड़की जीनिया मेरे साथ लिव इन रिलेशन में रह रही थी और मेरे बच्चे की माँ बनने वाली थी.

अब आगे स्टूडेंट टीचर सेक्स कहानी:

एक दिन जीनिया ने बताया कि अगले हफ्ते उसका छोटा भाई भारत घूमने के लिए आ रहा है, वो यहां 15 दिन रुकेगा. उसके ठहरने के लिए होटल बुक कराना होगा.

“होटल क्यों? मेरा साला है वो! यहीं घर पर रुकेगा.”

एक हफ्ते बाद मैं और जीनिया उसे लेने के लिए एयरपोर्ट गये.
कार जैसे ही घर के लिए चली तो जीनिया अपने भाई रिचर्ड से अपनी भाषा में बातें करने लगी.

इस दौरान रिचर्ड बार बार मुझे देखता, इससे मैं समझ गया कि शायद मेरे बारे में बात हो रही है.

तभी रिचर्ड मुझसे मुखातिब हुआ और बोला कि आप दोनों एक दूसरे को पसंद करते हो, यह जानकर मुझे अच्छा लगा. आपके प्यार की निशानी जीनिया के पेट में है, यह और भी खुशी की बात है.

बातें करते करते हम लोग घर आ गये.

लंच के समय पायल भी आ गई, सबने मिलकर खाना खाया.

शाम को जीनिया मेरे पास आई और बोली- राबर्ट कह रहा है कि वो पायल को चोदना चाहता है, मैं जुगाड़ लगा दूँ.
मैंने पूछा- कितने साल का है राबर्ट? अभी तो बच्चे जैसा दिखता है.
“है करीब साढ़े अठारह साल का. अभी तो स्कूलिंग कम्पलीट हुई है.”

“ठीक है, बुलाओ उसे, हम समझें तो सही कि वो चाहता क्या है?”

राबर्ट आया तो मैंने पूछा- तुम पायल को चोदने की बात कर रहे हो, पहले किसी को चोदा है?

वो बताने लगा:

हाँ, अपनी स्कूल प्रिंसिपल को.
अभी दो महीने पहले की बात है, हमारे फाइनल एग्जाम हुए तो मैं मैथ्स में फेल हो गया.
थोड़े से नम्बर ग्रेस मार्क्स के रूप में मिल जाते तो मैं पास हो जाता.

मैं बड़े बाप का बेटा हूँ, मेरे चाचा मंत्री हैं इसी रुतबे के साथ मैं प्रिंसिपल के कमरे में पहुंचा और कुछ नम्बरों के लिए रिक्वेस्ट की.

“अगर मैं तुम्हें पास कर दूँ तो तुम मेरे लिए क्या कर सकते हो?”
“मैम, आप जो कहियेगा हो जायेगा, मेरे पापा और चाचा बहुत पॉवरफुल हैं.”
“लेकिन मैं तो तुम्हारी पॉवर चेक करना चाहती हूँ, तुम छुट्टी के बाद आओ.”

दो बजे छुट्टी हुई तो मैं प्रिंसिपल के कमरे में पहुंचा.
मैम ने बैठने को कहा और अपना काम निपटाने लगीं.

थोड़ी देर बाद उठीं और बोलीं कि आओ तुम्हारे नम्बर बढ़ा दूँ.
इतना कहकर व़ो चल दीं और मैं उनके पीछे पीछे.

कॉलेज कैम्पस में ही पीछे की तरफ उनका बंगला था.

वहां पहुंच कर मैम ने मुझे सोफे पर बैठने को बोला और चेंज करने अन्दर चली गईं.

थोड़ी देर में मैम लौटीं तो उन्हें देखकर मैं दंग रह गया. कॉलेज में सिर से पैर तक लम्बे चोगे में ढकी रहने वाली मैम मेरे सामने टेनिस प्लेयर जैसी छोटी सी स्कर्ट और ब्लाउज में थीं.

मैं उन्हें एकटक देख रहा था.
इसे भांपकर मैम बोलीं- मैं घर में ऐसे ही रहती हूँ.

मैम की उम्र करीब 40 साल है और वे अविवाहित हैं.
लम्बी चौड़ी कद काठी और सांवले रंग की सेक्सी फिगर है.

फ्रिज से दो गिलास जूस लेकर मैम सोफे पर आ गईं और मेरे बगल में बैठ गईं.

हम दोनों ने जूस पी लिया तो मैम ने मेरे सिर पर हाथ फेरते हुए कहा- तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो! गॉड ब्लैस यू.
और अपने दोनों हाथों से मेरा चेहरा पकड़कर मेरे मस्तक पर चुम्बन किया.

“तुम वाकई बहुत अच्छे हो.” कहते हुए मेरे होंठों पर किस किया और मुझे एकटक देखने लगीं.
मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था.

तभी मैम ने फिर से मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये और रसपान करने लगीं.
मेरा हाथ अपनी जांघ पर रखकर मैम मेरा हाथ सहलाने लगीं.

होंठों को चूसने में मैं भी मैम का साथ देने लगा तो मैम ने अपनी जांघ पर रखा हुआ मेरा हाथ अपनी स्कर्ट के अन्दर खिसकाकर अपनी बुर पर रख दिया.

मैंने ये सब कभी नहीं किया था लेकिन ब्लू फिल्म्स तो देखी ही थीं.
मैम की बुर पर मैंने हाथ फेरा तो एकदम चिकनी थी जैसे कि अभी शेव करके आई हों.

मैंने मैम की बुर के लबों पर ऊंगली फेरते फेरते अपनी उंगली उनकी बुर में डाल दी तो उन्होंने मेरे होंठ अपने दांतों में दबा लिये.
मैम ने अपना ब्लाउज उतारकर अपने चूचे खोल दिये और एक चूचा मेरे मुंह में डाल दिया.
मैं चूसने लगा.

तब मैम ने मेरी पैन्ट खोलकर मेरा लण्ड निकाल लिया और उसके टोपे को सहलाने लगीं.

मेरा लण्ड हरकत में आने लगा तो मैम मेरे लण्ड का टोपा चाटने लगीं.
तभी मैम ने मुझे अपने पास खींच लिया और मेरे लण्ड का टोपा अपनी बुर पर रगड़ने लगीं.

मैम अब पूरी तरह से गर्म हो चुकी थीं, उन्होंने अपनी स्कर्ट उतार दी और मेरे भी सारे कपड़े उतार दिये.

फिर वो मेरा हाथ पकड़कर बेडरूम में आ गईं, मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरा लण्ड चूसने लगीं.

उनके लगातार चूसते रहने से मेरा लण्ड कड़क हो गया तो मैम मेरे ऊपर चढ़ गईं, घुटनों के बल खड़े होकर मैम ने अपनी बुर के लब खोले और मेरे लण्ड के टोपे पर टिका दिये और उस पर बैठ गईं.

More Sexy Stories  बहूरानी के मायके में चुदाई-2

मैम जैसे जैसे बैठती जा रही थीं, मेरा लण्ड उनकी बुर में समाता जा रहा था.

पूरा लण्ड अपनी बुर में लेने के बाद मैम मेरे लण्ड पर फुदकने लगीं.

कुछ ही देर में उनकी बुर ने पानी छोड़ दिया तो उनके फुदकने से फच्च फच्च की आवाज आने लगी.

अब मैम ने गद्दे के नीचे से कॉण्डोम निकाला और मेरे लण्ड पर चढ़ाकर बेड पर लेट गईं और मुझे अपने ऊपर आमंत्रित किया.

मैम की टांगों के बीच मुंह लगाकर मैं मैम की बुर चाटने लगा तो मैम उछलने लगीं.

अपने चूतड़ उचकाकर मैम ने एक तकिया गांड के नीचे रखा और अपनी जांघें फैला कर अपनी बुर खोल दी.

मैंने अपने लण्ड का टोपा उनकी बुर के मुखद्वार पर रखा और पूरा लण्ड उनकी गुफा में पेल दिया.

मैम के चूचे चूसते हुए मैं उनके गालों को सहला रहा था और मैम अपनी बुर को ऐसे सिकोड़ रही थीं जैसे कि लण्ड का रस निकाल रही हों.

थोड़ी देर में मैम चूतड़ उचकाने लगीं तो मैं उन्हें चोदने लगा.
करीब सौ सवा सौ धक्के खाकर मैम की बुर ने पानी छोड़ दिया तो वही फच्च फच्च की आवाज से कमरा गूंजने लगा.
मैंने स्पीड बढ़ाई तो मैम आह ऊह करते हुए बोलीं- राबर्ट मैंने बहुत लड़कों से चुदवाया है लेकिन तुम्हारे जैसा कोई नहीं चोद पाया, तुमने मेरी बुर को तृप्त कर दिया. अब पानी छोड़ दो.

“मैम, छूटे तब तो छोड़ूं. जिन्दगी में पहली बार बुर चोदने का मौका मिला है और आपके चूचे इतने मस्त हैं कि दिल करता है कि चूसता ही रहूं.”

मैम की टांगें उठाकर मैंने अपने कंधों पर रखकर मैम को ठोकना शुरू किया तो हर ठोकर पर मैम आह आह करतीं- बस करो राबर्ट, बस करो, आज मेरी बुर का भुर्ता बन गया है.

मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और अंततः मैम की बुर में पानी छोड़ दिया.
कॉण्डोम न पहना होता तो पानी सीधे उनकी बच्चेदानी में जाता.

डिस्चार्ज के बाद मैं मैम के ऊपर लेट गया तो मैम मुझे सहलाने लगीं.

काफी देर बाद हम लोग अलग हुए, मैम ने मेरा कॉण्डोम उतारा और चाट चाटकर मेरा लण्ड साफ करने लगीं.

मैम के चाटने से मेरा लण्ड फिर से हरकत करने लगा तो मैंने अपना लण्ड मैम के मुंह में दे दिया, मैम उसे चूसने लगीं.
तो मैं मैम का सिर पकड़कर उनका मुंह चोदने लगा.

तभी मैम उठीं, एक कॉण्डोम लेकर मेरे लण्ड पर चढ़ा दिया और बेड पर हाथ टिकाकर घोड़ी बन गईं और बोलीं- हमको घोड़ी बनाकर चोदो राबर्ट.

मैंने घोड़ी बनी मैम के पीछे आकर मैम की बुर के लब फैलाकर अपने लण्ड का टोपा टिकाया और मैम की कमर पकड़कर मैंने लण्ड को अन्दर धकेल दिया.
घोड़ी आसन में मैम की बुर बहुत टाइट हो गई थी.

मैंने मैम की ठुकाई शुरू की तो मैम भी रिवर्स गेयर लगाकर जवाबी धक्के मारने लगी.
मैम के चूचे अपने हाथों में दबोचकर मैं उन्हें चोद रहा था और वो भी जवाबी धक्के मार रही थीं, परिणामस्वरूप मेरे लण्ड ने पिचकारी छोड़ दी.

चार घंटे में मैम को दो बार चोदकर मैं घर लौट आया.

राबर्ट की कहानी सुनकर मैं समझ गया कि इसे चूत तो चाहिए लेकिन पायल राजी कैसे हो?

रात का खाना हम चारों ने एक साथ खाया और योजनानुसार जीनिया पायल के साथ सोने चली गई और राबर्ट मेरे घर में सोया.

रात भर में जीनिया ने पायल को जो भी समझाया उसका नतीजा यह हुआ कि अगले दिन पायल मेरे पास आई और बोली- जीनिया मुझसे बार बार कह रही है कि एक बार राबर्ट से चुदवा लो.

“तुमने क्या कहा?”
“मैं क्या कहूँ यार, मैं कुछ समझ ही नहीं पा रही कि क्या कहूँ.”

“तुम्हारी दोस्त है, यार. मान लो उसकी बात.”
“नहीं यार, मुझे डर लग रहा है.”

“तुम एक काम करो, आज डिनर के बाद जीनिया और राबर्ट को वहाँ सोने भेज देंगे. तुम मेरे यहाँ सोना, तुम्हारा डर खत्म हो जायेगा.”
“कैसे?”
“अरे बाबा, रात तो आने दो.”

डिनर के बाद रात को जीनिया और राबर्ट उधर चले गये तो मैं और पायल टीवी पर क्रिकेट देखने लगे.

रात 11 बजे मैच समाप्त हुआ तो हम दोनों बेडरूम में आ गये.
मैंने पायल का हाथ अपने हाथ में लेकर कहा- तुम मेरी अच्छी दोस्त ही नहीं, मेरा साइलेंट प्यार भी हो. हर लड़की के जीवन में एक दिन ऐसा आता है जब अपना शरीर किसी के हवाले करती है, मैं चाहता हूँ कि आज की रात तुम खुद को मेरे हवाले कर दो.

इतना कहकर मैंने पायल को अपनी ओर खींचा तो वो मेरे सीने से लग गई.
उसकी पीठ थपथपाते हुए मैंने उसे चूम लिया.

फिर हम दोनों लिपट गये और एक दूसरे को बेतहाशा चूमने लगे.

मैंने पायल की टीशर्ट उतारी तो उसके कबूतर ब्रा से बाहर निकलने के लिए फड़फड़ाने लगे.

फिर मैंने उसका लोअर उतारा और उसे गोद में उठाकर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये.

पायल को गोद में लिये हुए ही मैंने उसकी ब्रा व पैन्टी निकाल दी.
गोरी चिट्टी संगमरमर की मूरत मेरी गोद में थी.

पायल को बेड पर लिटाकर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये और बेड पर आकर पायल से लिपट गया.

उसके गालों पर, होंठों पर, गर्दन पर चुम्बन करते करते मैंने अपना हाथ उसकी बुर पर रखा तो उसने बड़े सलीके से मेरा हाथ हटा दिया और बोली- कुछ न करो विजय, बस ऐसे ही लेटे रहो.

More Sexy Stories  எனது வயது 40 . எனது மனைவிக்கு 36!

मैंने भी कोई जबरदस्ती नहीं की और उससे लिपटकर कभी उसकी पीठ सहला देता तो कभी चुम्बन कर देता लेकिन मेरा लण्ड तो उसकी बुर में जाने के लिए तैयार हो रहा था.

चूंकि हम दोनों लिपटे हुए थे इसलिये मेरा लण्ड उसकी बुर के पास ही था.

मेरे कड़क होते लण्ड के स्पर्श ने पायल की बुर में खलबली मचा दी थी.
उसने अपनी एक टांग मेरी टांगों पर रख दी और अपनी बुर का मुखद्वार मेरे लण्ड से सटाने के लिए आगे पीछे खिसकने लगी तो मैंने अपने लण्ड का सुपारा उसकी बुर के मुखद्वार से सटा दिया.
बुर पर लण्ड का स्पर्श पाते ही पायल बड़ी मादक आवाज में बोली- विजय मेरी जान!
पायल के चूतड़ों को मैंने अपनी ओर दबाया तो मेरे लण्ड का सुपारा उसकी बुर के मुखद्वार में फंस गया.
एक लम्बी सिसकारी भरकर पायल बोली- विजय अअ अ!

लोहा गर्म था लेकिन अभी और तपाने की जरूरत थी.

मैं पायल की टांगों के बीच आ गया और उसकी बुर के लबों पर अपने लब रख दिये और उसकी बुर पर जीभ फेरने लगा.
पायल ने मेरा लण्ड पकड़ लिया तो मैं 69 की पोजीशन में आ गया.

उसने कुछ देर तक मेरे लण्ड को निहारा और फिर चाटने लगी.
इधर मैं भी उसकी बुर चाट रहा था और उसके निप्पल मसल रहा था.

आखिर वो वक्त आ गया जिसका मुझे इंतजार था, पायल ने मेरे लण्ड को चूमते हुए कहा- विजय मुझे ये चाहिए, यहां.
इतना कहते हुए उसने अपनी बुर पर हाथ रख दिया.

मैंने अलमारी से कोल्ड क्रीम की शीशी निकाली और अपने लण्ड पर क्रीम चुपड़कर पायल की टांगों के बीच आ गया.
पायल की बुर के लब खोलकर अपने लण्ड का सुपारा रखा और ठोक दिया.

दो तीन झटके दिये तो पायल चिल्लाई, शायद उसकी सील टूटी थी क्योंकि मेरे लण्ड पर खून के निशान आ गये थे.

बड़े संजीदा तरीके से उस रात मैंने पायल को तीन बार चोदा और अगली चार रातों तक इसी तरह से चोदता रहा.

फिर आ गया शनिवार.

इस बीच ये तय हो गया था कि शनिवार रात को ग्रुप सेक्स होगा.
मैं और जीनिया तथा राबर्ट और पायल एक ही कमरे में एक साथ खेल करेंगे लेकिन अपने अपने पार्टनर के साथ.

शनिवार की रात आई तो चारों ने डिनर किया और बेडरूम में आ गये.

राबर्ट ने पायल का लोअर व टीशर्ट उतार दिया और जीनिया का मैंने. राबर्ट और मैं भी सिर्फ जॉकी में रह गये.

हम दोनों ने अपनी अपनी पार्टनर की ब्रा खोलकर उनके चूचे आजाद कर दिये.

चूचों को चूसते हुए हम उनकी बुर सहला रहे थे. अब दोनों ने अपने अपने पार्टनर की पैन्टी उतार दी और उनकी चूत चाटने लगे.

मेरा लण्ड चूत की डिमांड करने लगा तो मैंने अपना जॉकी उतारा और अपने लण्ड की खाल चार छह बार आगे पीछे करके जीनिया की चूत में डाल दिया.

मेरी देखादेखी राबर्ट ने भी अपना जॉकी उतारा और पहले से ही बेड पर लाकर रखी हुई कोल्ड क्रीम से अपने लण्ड की मसाज करने लगा.

उसका लण्ड देखकर मेरी तो गांड फट गई क्यों कि उसका लण्ड करीब 11 इंच लम्बा था जो मसाज से 12 इंच हो गया. पहली नजर में किसी गधे का लण्ड लगता था.

अब मेरा ध्यान अपने काम से हटकर राबर्ट पर केन्द्रित हो गया था.
राबर्ट ने बार बार क्रीम लगाते हुए अपने लण्ड की मसाज की और चिकना कर लिया.

अपने बायें हाथ की उंगलियों से पायल की चूत के लब फैलाकर अपने दायें हाथ में लण्ड थामकर पायल की चूत के मुखद्वार पर रखकर अन्दर धकेला.

लण्ड का सुपारा अन्दर जाते ही पायल के मुंह से आ आआआ आ आआ निकला.
लेकिन इससे राबर्ट पर कोई फर्क नहीं पड़ा और उसने धीरे धीरे पूरा लण्ड पायल की चूत में उतार दिया.

मेरी आँखें फटी रह गईं कि पायल 12 इंच का लण्ड कैसे झेल गई?

पायल के ऊपर लेटकर राबर्ट उसकी चूचियां चूसने लगा. उसका लण्ड किसी रेलवे इंजन के पिस्टन की तरह एक निश्चित रफ्तार से पायल की चूत में चल रहा था.

करीब आधे घंटे तक पिस्टन चलाने के बाद राबर्ट उठा और पायल को अपनी गोद में बिठा लिया और उसको कमर से पकड़कर उछालने लगा.
पायल राबर्ट के कड़क लण्ड पर उछल उछल कर मजा ले रही थी.

काफी देर तक पायल को अपने लण्ड पर उछालने के बाद राबर्ट ने पायल को फिर लिटा दिया और पायल को ठोंकने लगा तो पायल भी अपने चूतड़ उछालने लगी.

जब डिस्चार्ज का समय करीब आये तो राबर्ट ने अपना लण्ड बाहर निकाला और उस पर क्रीम मली और फिर से पायल की चूत में डाल दिया.

राबर्ट के लण्ड का सुपारा फूलकर संतरे जितना मोटा हो गया था.
जब राबर्ट ने डिस्चार्ज किया तो पायल की पूरी चूत लबालब भर गई.

अब ऐसा अक्सर होने लगा.

तभी एक दिन जीनिया ने मुझे बताया कि पायल प्रेग्नेंट हो गई है और वो कोर्स समाप्त होने के बाद मेरे और राबर्ट के साथ युगांडा जाना चाहती है.

इस बारे में मेरी पायल से बात हुई तो बोली- विजय, राबर्ट ने मुझे जिस लण्ड का चस्का लगा दिया है, उसे पाना है तो उसके साथ जाना ही पड़ेगा.

मेरे पाठको, आपको मेरी स्टूडेंट टीचर सेक्स कहानी कैसी लगी?
[email protected]