स्पा वाली चिकनी लड़की की चुदाई

मेरा नाम सैम है और मैं इंदौर का रहने वाला हूं. गोपनीयता की वजह से मैंने इस कहानी में नाम बदल दिये हैं. अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ते हुए मुझे काफी समय हो गया है. मेरे मन में कई बार ये ख्याल आता था कि मैं भी अपनी कहानी पाठकों को बताऊं. लेकिन मुझे समय नहीं मिल पा रहा था. फिर मैंने समय निकाल कर अपनी कहानी पाठकों तक पहुंचाने के लिए कहानी लिखना शुरू कर दिया.

उसी कहानी को मैं आप लोगों तक लेकर आया हूं. चूंकि यह मेरी पहली कहानी है इसलिये हो सकता है कि इस कहानी को लिखते समय मुझसे कोई गलती भी हो जाये तो या फिर मैं बाकी के लेखकों की तरह अपने साथ हुई घटना को सही तरीके से आप लोगों के सामने न रख पाऊं, इसलिए मैं पहले ही आपसे कहना चाहता हूं कि यदि आप लोगों को कहानी में कोई त्रुटि मिल जाये तो प्लीज उसे इग्नोर कर देना.

अब मैं अपने साथ हुई घटना को शुरू से बताता हूँ. लेकिन उससे पहले आप मेरे बारे में थोड़ा और जान लीजिये क्योंकि कहानी को अच्छी तरह समझने में आप लोगों को आसानी होगी. तो दोस्तो, मैं एक 24 साल का नौजवान हूं और दिखने में काफी हैंडसम भी हूं. मैं अपनी तारीफ इसलिए नहीं कर रहा हूं कि मुझे किसी लड़की को पटाना है इस कहानी के माध्यम से. बल्कि ऐसा कई लड़कियों ने मुझे बोला है कि मैं दिखने में काफी स्मार्ट लगता हूं.

कई बार तो मेरे दोस्त भी मुझे हैंडसम बुलाते हैं. मेरा लंड ज्यादा बड़ा नहीं है. उसका साइज पांच इंच का ही है. बस मुझे इसी बात का थोड़ा सा दुख रहता है कि बनाने वाले ने मुझे शक्ल तो अच्छी दी है लेकिन मेरे लंड को भी थोड़ा और बड़ा कर देता तो सोने पर सुहागा हो जाता. लेकिन मुझे अपने लंड के साइज से कोई परेशानी नहीं है. वैसे भी लड़कियों को खुश करने के लिए लंड के अलावा एक कला की जरूरत होती है. मुझे लगता है कि वो कला मेरे अंदर है इसलिए मैं लड़कियों को जल्दी ही पटाने में कामयाब भी हो जाता हूं.

More Sexy Stories  मौसी के साथ पहली चुदाई

मैंने अपनी जवानी में आते ही बहुत सी लड़कियों को चोदा है लेकिन मेरी लाइफ की ये कहानी थोड़ी अलग है इसलिए मैं इस कहानी को अन्तर्वासना पर भी शेयर करना चाह रहा था. बाकी कहानियां तो सामान्य चुदाई की कहानियां हैं जो मेरे साथ घटित हुई थी. इस कहानी को पढ़कर शायद आपको मजा आयेगा.

मेरी एक आदत है जिसके लिए मैं हमेशा ही तैयार रहता हूं. मुझे विदेशी लड़कियों से मसाज करवाना बहुत पसंद है. मैं महीने में दो या तीन बार तो मसाज करवाने चला ही जाता हूं. बिना मसाज करवाये मेरे बदन को चैन नहीं मिलता है.
या फिर ऐसा कहें कि जब तक किसी लड़की के नर्म कोमल हाथ मेरे बदन को ऊपर से लेकर नीचे तक न सहलायें तो मुझे कुछ अधूरापन सा लगता है. इस वजह से मैं महीने में कम से कम दो बार तो मसाज करवाने जरूर जाता हूं. मुझे इस तरह मसाज करवाने की लत ही लगी हुई है.

अब जहां पर मसाज की बात आ जाती है तो वहां पर फिर सेक्स की बात भी हो ही जाती है. आप लोगों को भी पता होगा कि मसाज की आड़ में कई जगह लोगों ने धंधा करने वाली लड़कियों को रखा होता है. वहां पर मसाज के नाम पर जिस्म की प्यास भी मिटाई जा सकती है.

मैं तो अक्सर ऐसे ही मसाज सेंटर पर जाता था जहां पर मसाज हैपी एंडिंग वाली होती है. मतलब तो आप समझ ही गये होंगे. मसाज के साथ-साथ वहां पर लौड़े को हिलवाने का मजा भी मिल जाता है. कई जगह तो पैसे थोड़े ज्यादा देकर चूत भी मिल जाती है.

मुझे दोनों ही काम पसंद हैं. जहां पर चूत न मिल पाये तो लौड़ा हिलवाकर ही काम चला लेता हूं. लेकिन मेरी कोशिश यही रहती है कि जब पैसे दिये ही जा रहे हैं तो क्यों न फिर लंड को चूत का मजा भी मिल ही जाये.

More Sexy Stories  नीना को मिला मेरी दोस्ती का तोहफा

ऐसे ही एक बार मैं मसाज करवाने के लिए एक जगह पर गया. वो एक अच्छा स्पा था. बाहर तो स्पा की सर्विस देने का ही वादा किया जा रहा था लेकिन फिर काम की बात करने पर वो लोग बाकी सर्विस भी देने के लिए तैयार हो जाते थे. उस स्पा का पता मेरे एक दोस्त ने मुझे बताया था.

उस स्पा की एक खास बात ये थी कि वहां पर चिकनी लड़कियां मिलती थी. इसलिए मेरा वहां पर जाना बहुत जरूरी हो गया था. मुझे चिकने बदन वाली गोरी लड़कियां बहुत पसंद आती हैं. इस काम के लिए स्पा से बेहतर कोई जगह हो ही नहीं सकती थी. इसलिए पैसे चाहे कितने भी देने पड़ें लेकिन मैं अपने मन की शांति चाहता था.

तो दोस्तो जिस स्पा में मैं गया वहां पर एक लड़की असम के साइड की थी. आप तो समझ ही गये होंगे कि असम की लड़कियां कैसी होती हैं. एकदम गोरी और चिकनी. पता नहीं वहां की लड़कियां इतनी चिकनी कैसे होती हैं. इसलिए स्पा में ज्यादातर उसी तरफ की लड़कियां रखी जाती हैं.

उस चिकनी जवानी को देखते ही तो मेरा लौड़ा वहीं पर फनफनाने लगा था. मैंने अपने लंड को पकड़ कर कंट्रोल में करने की कोशिश की लेकिन साला फिर खड़ा हो जाता था. मसाज के लिए मैंने उसी लड़की को सिलेक्ट कर लिया. उसके अलावा और भी दो-तीन अच्छी लड़कियां थीं वहां पर, लेकिन मेरी नजर में वो पहली ही दफा चढ़ गई थी. इसलिए अब तो उसके सिवा कोई और पसंद ही नहीं आ रही थी.

Pages: 1 2 3