मुंबई की सेक्सी मॉडल ने दीदी बन कर चूत चुदाई

हाय मैं यश.. मेरे बाल घुंघराले हैं सो ज़्यादातर लोग मुझे मैगी कहते हैं। मैं गुजरात से हूँ.. बी.कॉम में पढ़ रहा हूँ। मेरी 5 फुट 10 इंच की हाइट है.. औसत जिस्म.. अच्छा लुक.. एकदम गोरा और लम्बा व मोटा लण्ड है।

यह कहानी अभी बस महीने भर पहले की ही है। अब इसे मेरा नसीब ही समझो कि मेरी दोस्ती इंस्टाग्राम पर एक मॉडल से हुई। उसका नाम प्रिया (बदला हुआ नाम) था। मैं लड़कियों की बहुत इज्जत करता हूँ.. उन्हें सम्मान देता हूँ। उसे मेरी ये बात पसंद आ गई।

फिर बातें बढ़ती गईं.. लेकिन मुझे लगता था कि ये कोई फेक है। सो एक दिन मैंने उससे नंबर के लिए कहा.. तो उसने बोला- ठीक है.. लेकिन किसी को देना मत।
मैंने ‘हाँ’ कर दी।

फिर दोस्ती बढ़ती ही गई।
एक दिन अचानक उसका कॉल आया प्रिया- हैलो..
मैं- हैलो दी..

मैं उससे छोटा था मैं सिर्फ़ 18 का वो 24 की.. तो मैं उसे दी कहता था।
प्रिया- मुझे तेरे से मिलना है.. मुंबई आजा ना.. पास ही तो है यार..
मैं- दी.. मैं आ जाता.. लेकिन घर से मुझे पैसे नहीं मिलेंगे.. थोड़े दिन बाद आऊँ?
‘अरे मैगी.. थोड़े दिन में तो मैं शूट के लिए दिल्ली जाऊँगी यार.. वहाँ तक कैसे आएगा तू?’
मैं- हाँ वो भी है।

प्रिया- अच्छा एक काम कर.. तू अपना बैंक अकाउंट नंबर दे.. मैं उसमें पैसा डालती हूँ।
मैं- नहीं दी.. आप क्यों?
प्रिया- अरे मेरी ज़रूरत है.. मैं बुला रही हूँ.. सो मैं ही पैसे भी दूँगी और तू दी बोलता है ना.. चल चुपचाप ले ले..
मैं- ठीक है दी..

खाते में पैसे आ गए.. फिर मैं सुबह बस और फिर ट्रेन पकड़ कर मुंबई चला गया।
वो मुझे लेने स्टेशन पर ही अपनी कार में आई।

मैंने देखा वो फोटो से ज़्यादा रियल में खूबसूरत थी। वो एक मॉडल थी.. सो उसका फिगर तो आप समझ ही सकते हो। उसका फिगर 34-28-32 का था। खुले बाल.. मुँह में सिगरेट और आँखों पर काला चश्मा.. गजब की खूबसूरती थी।

स्टेशन से हम एक होटल में गए।
मैंने उससे पूछा- ये होटल में क्यों?
उसने बोला- फ़्लैट में कोई देखता तो लोग नाहक बातें बनाते।

फिर हम दोनों एक पहले से बुक रूम में गए, फिर फ्रेश होकर हम दोनों घूमने निकल गए।

हम दोनों पूरा दिन घूमे। घूमते वक़्त वो मुझे काफी बार छू लेती थी, मुझे भी मन करता था तो मैं भी उसको कभी-कभी छू लेता था। रात को हम दोनों खाना खाया और लेट गए।

मुझे बार-बार चुदास की तरंग सी उठ रही थी.. पर मैं कुछ करने से थोड़ा हिचक रहा था, मैं टीवी देखते-देखते सोफे पर ही सो गया.. तो उसने गाल पर किस किया और मुझे उठाया।

बोली- तू बहुत स्वीट है पागल.. यहाँ क्यों सो गया.. चल मेरे साथ.. मुझको अकेले नींद नहीं आती।
मैं इतनी गहरी नींद में था कि बिस्तर के अन्दर जाते ही सो गया।

कुछ देर बाद उसने मुझे फिर से उठाया और मुझे एक जोरदार किस कर दिया ‘उम्म्माह..’
मेरी नींद ही उड़ गई।

More Sexy Stories  जवानी का पहला यौन सुख

उसने बोला- अब मेरी बात सुन तू.. एक अच्छा लड़का है.. लड़की की इज्जत करने वाला है। पर सुन मैंने तुझे यहाँ सेक्स के लिए बुलाया है।

मेरी आँखें तो जैसे बाहर आ गईं।

उसने एक सिगरेट जलाते हुए कहा- कॉलबॉय को बुलाने में खर्चा बहुत होता है और इज़्ज़त भी ख़तरे में रहने का डर होता है.. तो मैंने तुझे बुलाया है। क्योंकि तुझसे पहले भी मैं सेक्स चैट की वेबसाइट पर बात कर चुकी हूँ।
मैं समझ गया कि आज मुझे इसकी चूत मिलने वाली है।

बस फिर क्या था.. मैंने उसे किस करना चालू कर दिया.. वो भी मुझे पागलों की तरह किस करने लगी।
‘आहह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैगी यू आर सो हॉट बेबी..’
वो मादक स्वर में बोल रही थी।

मैंने भी प्रिया को बोला- तुम लेट जाओ.. मैं अभी आया।

रूम में एक छोटा फ़्रिज था, मैं गया और फ्रिज में देखा तो उसमें से कुछ बर्फ के टुकड़े और कुछ स्ट्रॉबेरी ले आया।

मैंने प्रिया से बोला- तू लेटी रह.. धीरे-धीरे मैंने उसके सारे कपड़े निकाल दिए और खुद भी नंगा हो गया। मैंने बिस्तर पर जाकर पहले मैंने उसके होंठों पर.. गर्दन पर और मम्मों पर बर्फ का टुकड़ा घुमाने लगा।
वो मचलने लगी- आहह मैगी.. उहह वॉऊ.. यू आर अमेजिंग बेबी..

कुछ देर बाद मैंने उसकी चूत पर बर्फ का पीस रखा और उसे किस करने लगा।

वो एकदम से चुदासी हो उठी और अपने नाख़ून मुझे मारने लगी। साथ ही वो मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी।

‘आहह.. आअहह.. यस.. स्टॉप मैगी.. प्लीज़.. अब चोद डाल मुझे.. आह्ह..आहह..
‘अभी तो और तड़पाना है तुझे..’

फिर मैंने एक स्ट्रॉबेरी उसके लिप्स पर.. एक उसकी गर्दन पर.. दो उसके दोनों मम्मों पर और एक चूत की दरार पर दाने के ऊपर रख दी।

वो बोली- ये क्या कर रहे हो..
‘तुम बस देखती जाओ..’

इतना बोलते ही.. मैंने उसके होंठों पर रखी स्ट्रॉबेरी को खाया और उसे चुम्बन करने लगा.. किस करते-करते उसे भी स्ट्राबेरी का थोड़ा सा हिस्सा उसके मुँह में दे दिया।

‘म्मम्म.. आह्ह.. यू आर रियली हॉट..’

फिर मैं उसकी गर्दन पर आया.. वहाँ की स्ट्रॉबेरी खा कर उसकी पूरी गर्दन को अपनी जीभ से चाटने लगा।

‘ओह मैगी.. यसस्स्स्स्स्.. यू आर सो क्रेज़ी डियर.. आहह..’

उसकी दीवानगी बढ़ती ही जा रही थी। मैंने उसको भड़काने का काम जारी रखते हुए उसके एक मम्मे पर गया। इस बार स्ट्रॉबेरी खाते वक़्त मैंने उसके मम्मे को काट लिया.. वो तो जैसे पागल हो गई.. उसने मेरे लंड को दबा दिया।

मैं उसके चूचे को ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगा, वो मादक आहें लेते हुए मेरे मुँह में अपना चूचा घुसेड़ने के लिए खुद को ऊपर उठाने लगी ‘आहह ओह.. मैगी.. यस बेबी.. यस.. चूसो.. और चूसो.. आहह..’

फिर मैं दूसरे मम्मे पर गया वहाँ पर रखी स्ट्रॉबेरी ख़ाकर उसका जूस मैंने मुँह में बना कर उसके मम्मों पर निकाला और पागलों की तरह उसके चूचे को चूसने और चाटने लगा।

More Sexy Stories  गाँव की भाभी को खेत में चोदा

‘ओह्ह.. अहह.. अह.. जल्दी चोद..’

मैं उठ कर नीचे उसकी चूत पर आ गया। पहले स्ट्रॉबेरी को मैंने चूसा.. फिर होंठों में दबा कर उसकी चूत में डाला.. और स्ट्राबेरी को चूत के दाने पर रगड़ने लगा.. वो उत्तेजना से उठ कर बैठ गई। ‘आह्ह.. कमीने.. चोद.. वर्ना देखना.. मैं तुझे चोद डालूंगी।’

इतना बोल कर वो मेरा लंड चूसने लगी। मैं ‘आहह अहह..’ करने लगा।

मैं आज खुद में अधिक उत्तेजना महसूस कर रहा था। मुझे ये बाद में मालूम हुआ था कि उसने खाना खाते समय मेरे खाने में वियाग्रा डाल दी थी। सब उसका प्लान था।

फिर उसने मुझे धक्का देकर बिस्तर पर गिरा दिया और मेरे ऊपर आकर मेरे पूरे जिस्म को चूमने और चाटने लगी।
मैं उसके बाल नोंचने लगा, वो अपनी चूत पर मेरा लंड घिसने लगी ‘आह्ह.. मैगी.. मैं अब तक बड़े-बड़े लौड़े ले चुकी हूँ.. पर तेरा वाला क्यूट है बेबी.. एकदम गोरा.. लाल रंग का टोपा.. आहह..’

वो धीरे-धीरे मेरे खड़े लंड पर बैठने लगी। जैसे ही वो मेरे लौड़े पर बैठी.. मैं तो जैसे जन्नत में पहुँच गया था।

वो शॉट मारने लगी ‘आहह.. उह्ह..’ इसके हर शॉट के साथ उसके बोबे भी हिल रहे थे.. वो चिल्ला रही थी- फक मी.. आहह अहह मैगी.. माय डार्लिंग फक मी..

मैंने वैसे ही उसे उठाया.. सीधा उसे शीशे के सामने ले गया और उसकी टाँगें उठा कर उसे चोदने लगा।
दे दनादन.. शॉट पर शॉट.. मैं उसकी चूत में ठोकरें मार रहा था।
वो पूरी हिल रही थी.. मेरे कान.. मेरी गर्दन पर लव बाईट कर रही थी, साथ में उसकी मादक सीत्कारें मेरा जोश बढ़ा रही थीं।

फिर मैं उसे बिस्तर पर ले गया.. उसे पटक कर उसकी टांगों को फैला कर उसके ऊपर आकर चोदने लगा।
काफी देर तक चुदाई करते हुए हो चुका था.. वो 3 बार झड़ चुकी थी।

वो बोली- डियर.. अब झाड़ दे जल्दी से.. पर चूत में मत आना.. मेरे मुँह में आना.. मैं थक गई हूँ।

मैं ज़ोर-ज़ोर से उसे चोदने लगा.. फिर लंड चूत से निकाला.. वो एकदम से उठ कर बैठ गई और मैंने पूरा माल उसके मुँह में भर दिया।
कुछ माल उसके मुँह पर गिर गया था.. वो उंगली से माल उठा कर चाटने लगी।

फिर उसने एक सिगरेट जलाई और बड़े तृप्त भाव से उसने मुझे चूमा और हम दोनों बिस्तर पर नंगे ही लेट गए। अभी रात के 3 बज रहे थे।

उसकी चुदाई का यह सिलसिला बहुत दिनों तक चला। उसके बाद उसने अपनी सहेलियों को भी ये बताया और मैंने उनको भी चोदा।

वो मैं फिर कभी लिखूंगा.. मैं रोमा का आभारी हूँ कि वो मेरी स्टोरी को लिखने में मेरी हेल्प कर रही है.. थैंक्स रोमा।

कैसी लगी सेक्स स्टोरी.. मुझे ईमेल करें।
आपका प्यारा मैगी
[email protected]

What did you think of this story??