एक सेक्सी भाभी बारिश मे मिली

Bhabhi ki Chudai हाय फ्रेंड्स मैं किट्टू लकनौव का रहने वाला हू मैरी उमर 24 साल है मैं जॉब की प्रिपरेशन कर रहा हू इसी सिलसिले मे इधर उधर भटकता रहता हू एक दिन की बात है जब मैं अपनी गाड़ी से कही इंटरव्यू देके आरहा था तो रास्ते मे बारिश होने लगी मैं रास्ते मे एक ट्री के नीचे रुक गया और अपना समान सही से रखने लगा. लकनौव इंडियन देसी सेक्स भाभी की चुदाई

तभी मैने देखा एक ऑटो आया और उसमे से एक लेडी उतरी उनकी उमर कुछ 30 – 35 ईयर के आस पास थी. फिर मैं अपना समान रखने मे बिज़ी हो गया मैं समान प्लाइ बॅग मे डाल के खड़ा हुआ वो लेडी भी पेड़ के नीचे आ गयी थी उसके पास छाता था उन्होने छाता खोला और खड़ी हो गयी….

मैं भी खड़ा हो के बारिश देखने लगा देखते देखते बारिश और तेज हो गयी और रास्ते मे कोई भी नही दिख रहा था आस पास कोई दुकान भी नही थी मैं भी भीगने लगा तो मैने बोला आज ही बारिश होनी थी सारी वो लेडी भी बोली हा लगता है आज ही सारी बारिश होगी… फिर मैने बात करना स्टार्ट किया…

मैं – आप कहा जा रही है…

भाभी – मैं जा नही आराही हू हॉस्पिटल गयी थी बुखार था तो दवा ले के आई हू.

मैं – आप यहा कहा रहती है यहा तो कोई घर ही नही है

वो – बोली घर यहा नही है ऑटो वाले ने पहले कहा 50 रूपीज मे चलेगा और अभी बोला 80लगेंगे मैने कहा यही उतार दो नही जाना टेंपो से चली जौंगी…. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

मैं – हा ये ऐसे ही करते है मजबूरी का फ़ायदा उठाते है

वो – लो और तेज हो गयी तुम भी भीग रहे हो थोड़ा छाते के नीचे आ जाओ.

मैं थोड़ा छाते के नीचे आगया

वो बोली क्या करते हो मैने कहा अभी कुछ नही जॉब ढूँढ रहा हू.

More Sexy Stories  गर्लफ्रेंड डिम्पल को कार में चोदा

उन्होने मेरा नाम पूछा मैने कहा करण पर प्यार से सब किट्टू कहते है…

उन्होने कहा अछा उन्होने अपना नाम बताया “मैं आशा हू यहा से 1 – 1/2 किमी मेरा घर है .

मैने कहा अछा जी तो अब आप कैसे जाओंगी किसी को घर से बुला लो..

भाभी – घर पर कोई नही है यहा मैं और हज़्बेंड ही रहते है

मैं – ओह इस रास्ते पर तो ऑटो भी नही जाते बहुत मुश्किल होता होगा यहा आना जाना अभी डेवेलप नही हुआ है ना इस लिए.

भाभी – होता तो है पर क्या करे बाकी लोग गाव मे रहते है उनकी जॉब के वजह से यहा आना पड़ा.

मैं – हा वो तो है

तभी बारिश कम हो गयी..

मैने कहा अगर आपको सही लगे तो मैं आपको छोढ़ देता हू बस जनरल पूछ रहा हू

वो कुछ सोचने लगी

मैने कहा चलिए कोई बात नही मैं समझता हू डर लगता है ऐसे अननोन पर्सन के साथ जाने मे सही भी है

भाभी – ह्म अछा चलिए घर के पास तक छोढ़ दीजिए…

हम उनके घर की तरफ चल दिए थोड़ी दूर ही गये थे की एक मोड़ आया उन्होने कहा मोड़ लो फिर आगे गये तो 8 – 9 घर बने थे लाइन से मैने कहा अछा यहा रहती है आप बोली हा अभी 1साल हुआ है यहा लिए हुए किसी बिल्डर ने लाइन से घर बना के बेचा था

वो बोली बस बस ये तीसरा वाला है मैने कहा ओके

फिर वो उतर गयी मैने देखा उनके घर के दोनो तरफ वाले मकान मे टाला लगा था

मैं – इनमे कोई नही रहता क्या

वो – रहते है दोनो लोग जॉब करते है ना इस लिए…

मैं – ठीक है मैं चलता हू

वो – बोली ओके मैं बाइक मोड़ ही रहा था बारिश आगई और तेज भी थी उन्होने कहा रुक जाओ. थोड़ा

मैं – बाइक से उतरा और घर के साइड मे खड़ा हो गया.

More Sexy Stories  मॉं की चुदाई मामा के दोस्त ने की

वो – अपना घर का टाला खोला मुझे बोली अंदर वेट कर लो

मैं – मैने कहा ठीक है

फिर मैं गेट के पास खड़ा रहा वो अंदर गयी और चाय बनाने लगी मैं वही खड़ा रहा वो आई बोली अरे खड़े क्यू हो बैठ जाओ

मैं – नही सही मे शाय हू

फिर उन्होने ज़ोर दिया मैं बैठ गया वो चाय ले आई और मुझे दी मैने कप लिया इतनी देर से भीगने से हाथ कापने लगे उन्होने देखा बोली रूको टॉवेल लाती हू.

फिर मैने चाय पी टॉवेल से थोड़ा ड्राइ किया मोबाइल मे देखा 2:30 हो गये थे दोपहर के मैने बोला अब चलता हू वो भी बोली ठीक है तभी मेरा फोन बजा फिर बंद हो गया मैने देखा फिर बॅटरी निकाल के थोड़ा पानी चला गया था सॉफ किया फिर ऑन हो गया मैने उनसे कहा एक बार फोन कर के देख लू सही है या नही उसने अपना फोन निकाला और मेर से नं. पूछा मैने बताया इट वाज़ वर्किंग एंड आई लीव हर होम.

कुछ दिन बाद मेरे व्ट्सॅप पर मैसेज आया “हाय” मैने कहा हाय

बोली मैं आशा पहचाना मैने कहा हा पहचान लिया फिर हमने थोड़ा बात किए ऐसे ही कुछ दिन बाद ह्म काफ़ी बाते शेयर करने लगे थे एजह गुड फ्रेंड

फिर एक दिन उसका मैसेज आया क्या कर रहे हो मैने कहा कुछ नही वो अपसेट लग रही थी मैने पूछ क्या हुआ बोली यार हज़्बेंड से कहा सुनी हुई है मैने कहा कोई नही ये तो नॅचुरल बात है.. फिर ह्म अपनी हसी मज़ाक करने लगे…
कुछ दिन बाद अगेन वो सॅड थी बोली उनके हज़्बेंड बार बार टूर पर जाते थे उन्हे पता चल गया कहा जाते थे उनका किसी के साथ ऐफ्फैर है और वो रोने लगी मैने चुप कराया वो नही चुप हो रही थी बोल रही थी मैं मर जौन्गि मेरी फ्रेंड होने के नाते मैं उनके घर गया.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *