रेखा आंटी को नंगी देख लिया

बात तब की , जब मे फाइनल एअर डिग्री मे था. मेरा आंटी रेखा. दिखनेमए तो मुझे सुंदर लगती थी. मेरे बगल के घर मे ही रहते थे. तो हम दोनो का आना जाना घर मे रहता था.

पहले तो देसी सेक्सी आंटी के बारे मे मुझे ग़लत विचार नही था. पर जैसे जैसे मे बड़ा होता गया मेरे मन मे आंटी के बारे मे कुछ अजीब सी भावना जागने लगी.

मान लगता था की उसे ज़ोर से पकड़ के अपने होंठ से उसके होंठ को दिन भर चुभता राहु, अपने बाहों मे भर के जीभर प्यार करलूँ. पर ये कुछ होने वाला नही था. डरता था. दिन पे दिन मारे मन मे आंटी के लिए प्यार बदता ही गया. प्यार के साथ साथ उसको संभोग करने का भी मान करता था.

मेरे आंटी के बारे मे बता दूँ. आंटी दिखने मे सुंदर है. तोड़ा हेल्ती है. करीब 5’2″ का हाइट होगा, उसके रसीले होंठ देखते किसी को भी उसे किस करने का मन हो जाता था..

और चुचिया, चुचिया तो एसा था की दो 2 लीटर दूध के पॅकेट को अपने सिने से लगाया हो. साइज़ तो मालूम नही पर काफ़ी बड़े थे. आंटी सारी मे बहोत अच्छी लगती थी. आंटी के 1 बेटी थी. जो के प्राइमरी मे पड़ती थी. और अंकल ऑफीस जाते थे.
कहानी एसा था..

मुझे जब भी मौका मिलता था, मे आंटी के घर जाता था, कोई ना कोई कम बनके. मुझे उसको देकने का बस बहाना चाहिए था. वो अकेली रहती थी जब अंकल काम पे और उसकी बेटी स्कूल जाते थे.तब आंटी को जी भर देखता था. पर मेरे अंदर अजीब सी फीलिंग थे, के मे जब भी उनसे बात करता तो उनसे नज़रे नही मिला पाता था. मेरे एग्ज़ॅम्स भी खतम हो गये थे, तो मे घर मे था.

More Sexy Stories  दीदी के बूब्स गिफ्ट मे मिले

एक दिन मेरी मॉं ने बोली के वो सब गांव जा रहे हे. और मुझे आने को कहा. मेरा मन नही था, एसलिए मैने कर दिया. शायद मेरे नसीब मे कुछ खास था. उधर अंकल भी बाहर जा रहे थे अपने बेटी के साथ, 2-3 दिन के लिए. पर मुझे उस वक़्त पता नही था. बाद मे मॉं ने आंटी से जाके कुछ बात करके आई. और चले गये.

मे अपने घर मे टीवी देख रहा था के डोर बेल बाजी. जाके देखा तो आंटी थी. मे तो आंटी को देखता ही रह गया. आंटी शायद पहली बार नाइलॉन की नाइटी पहनी थी. अपने पूरी शेप और स्ट्रक्चर दिख कर मेरे सामने खड़ी थी. मैने अंदर बुलाया और बैठने को कहा. वो बैट गयी. और कहा.

मे: “क्या बात है आंटी?”

रेखा: “कुछ नही बेटा, तेरे अंकल भी बाहर गये है 2-3 दिन के लिए, तो तुम हमारे घर मे ही रहने आ जाओ. मे भी आकेली हूँ, और तू भी. तुम्हारे मॉं ने भी यही कहा है.”

मे खुशी से पागल हो रहा था. मान मे ही सोच रहा था की यही अच्छा मौका मिला है आंटी के करीब जाने के लिए. मैने माना करने का नाटक किया और बाद मे मान गया.

मे: “ठीक है आंटी मे अवँगा.”

रेखा: “चलो अच्छा है. तुम जल्दी आना मे खाना बना देती हूँ.”

यह कहके आंटी चली गयी. मे मान मे ही प्लान बना रहा था की आज कुछ भी हो जाए, आंटी को नंगा करना ही होगा. पर मन मे ये डर भी था की कोई गड़बड़ हुआ तो. मैने कुछ देर बाद आंटी के घर पे गया, तो दरवाज़ा खुला था.

More Sexy Stories  मसाज वाले से चुदाई कराई

तो मे सीधा अंदर चलगाया. और आंटी को बुलाने ही वाला था, के अचानक मैने देखा आंटी बात रूम से सिर्फ़ तोवेल मे बाहर आगाय, और मुझे देख कर घबरा गयी.

मे भी आंटी को देखते ही मूह मोड़ लिया, और आंटी को सॉरी कहा. आंटी जल्दी से अपने बेड रूम की और जा रही थी के भीगे पाव की वजा से पाव स्लिप होके अपने नितंब (गॅंड) के बाल गिर गयी. मैने उन्हे देख कर भगा और उन्हे उठाने लगा. पर ज़ोर से गिरने के वजा से वो उठ नही पा रही थी.

आंटी अपने तोवेल को एक हाथ से पकड़ के दूसरे हाथ से उठ ने की कॉसिश कर रही थी. मैने कुछ सोचने के बाद बेडरूम जाकर छोटा सा बेड लाया और आंटी के बगल मे भिछा दिया, और आंटी को लेट के बेड पे रोल करने को बोला.

पर वो नही कर पा रही थी. एसलिए मैने आके आंटी को रोल करने लगा, तब टवल का एक एंड मेरे पैर पे अटका हुआ था और मेने आंटी को ज़ोर से रोल किया. जैसे ही आंटी रोल हो गयी, आंटी के तोवेल निकल गया. तब आंटी मेरे सामने सिर्फ़ ब्लॅक सेमी ट्रॅन्स्परेंट ब्रा और पनटी मे थी.

आंटी मुझे देख कर घबरा गई अपने शरीर छुपा ने लगी. तो मैने आंटी को सॉरी बोलकर तोवेल उनके उपर भिछा दिया. आंटी दर्द से कांप रही थी. तो मैने उनको पूछा

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *