रंडी नीशी बनी जीजू की रखेल

हेय, दिस इझ नीशी मेहरा, सॉरी बहोत देर कर दी मैने इंडियन सेक्स स्टोरीस लिखने मे, अम्म एज उजुअल, एज 22, एन्ड फिगर 34-26-32, एट्सेटरा एट्सेटरा, छोडो, आप जिसके लिए डेस्परेट है उसपे आती हू.

तो, इतनी देरी क्यू स्टोरी लिखने मे!! राइट? सॉरी गाईझ, क्यू की मेरी दी प्रेग्नेंट थी तो उनके साथ रहने गयी थी, और अब मेरी एग्ज़ॅम आ रही है, तो अब आ गयी वापिस आप सब के लंड लेने, सॉरी लंड खड़े करने.

दिस स्टोरी इझ अबौट मी, माय दी निक्की & हर हब्बी जस्सी (दीपक), वैसे तो उनकी शादी को 2 साल हो गये और रिज़ल्ट भी आ गया अब तो, येह्ह, दी ने मुझे अपने घर बुलाया रहने क्यूकी दी की प्रेग्नेन्सी की वजह से उनके घर के काम मे हेल्प चाहिए थी, और फिर जब हॉस्पिटल मे हो तो जस्सी की खाने की रेस्पॉन्सिबिलिटी मुझ पे आ गयी, तो मैं शुरू से स्टोरी स्टार्ट करती हू.

मुझे अभी आए हुए 3दिन नई हुए की जस्सी ने रंग दिखाना शुरू कर दिया, वैसे तो बोहोत रोमेंटिक है पर कभी कभी हवास्खोर हो जाता है, और वैसे भी उसने मुझे जीजू कहने से भी मना कर दिया है, तो नाम से ही बुलाती हू, हम तीनो एक ही कमरे मे सो जाते थे, उंदोनो के बीच मे मैं सोती थी, दी का 5थ मंथ चल रहा था, तो आसानी से खड़ी होने के लिए वो साइड मे सो जाती थी, और दवाई की वजह से चेन की नींद सोती थी.

पर जस्सी ना तो सोता था ना सोने देता था, पहले तो उसने सिर्फ़ हाथ रखा मेरे बूब्स पे, मैने इग्नोर किया तो रोज़ रखने लगा, कभी कभी सहलाने लगता, मेरा एक राज़ जस्सी को पता चल गया था तो वो मुझे ब्लॅकमेल टाइप, यू क्नोव, और मैं अबला नारी चुपचाप दामन सहती रहती.

एक दिन रात को मे वॉशरूम जाने उठी, फिर जैसे बाहर निकली जस्सी सामने था, उसने मुझे धक्का दिया और अंदर आ गया, मे ऑलरेडी प्रिपेर्ड थी की कुछ करेगा मेरे बूब्स के साथ, बट अनएक्सपेक्टेड, !! उसने मेरे बाल खिच क मेरी निज पे बिठा दिया.

जस्सी- सुन, तू ही डिसाइड कर, या तो मैं किसी और से अफेर कर के तेरी दी को चीट करू? या फिर तू अपनी दी की रेस्पॉन्सिबिलिटी निभाएगी?

और फिर लंड निकाल के मूह मे धक्के देने लगा, आहह एम्म्म मेरी कोई बात नई सुनी, मैं भी अब उसके कंट्रोल मे थी, फिर उसने मुझे कोने मे दबोच मे मूह मे चोदना शुरू किया, आहह उम्म मुझे साँस लेने मे प्रबलं होने लगी, तभी लंड राजा ने हार मान ली, पूरा लिक्विड मेरे मूह पे छ्चोड़ दिया, शायद दी की प्रेग्नेन्सी की वजह से कुछ करने को नई मिला होगा.

More Sexy Stories  Sexy Blue Film Dekh Kar Maa Ki Chudai- Part 1

फिर मैने नॉटी स्माइल दी तो जस्सी फिर से जोश मे आ गया. और मुझे वॉल के अगेन्स्ट मे खड़ा कर मे मेरी गॅंड पे धक्के देने लगा, (ओवर द क्लोथ्स) आअहह उम्म्म, अचानक कुछ आवाज़ आई तो जस्सी जल्दी से चला गया, फिर मैं थोरी देर मे कपले चेंज कर के सोने आई, दूसरी ही मिनिट मेरी ब्रा मे उसका हाथ आ गया.

इस बार सहलाने की जगह दबोच ने लगा, और मुझे स्मूच किया, ओएमजी, ही वाझ टेकिंग टू मच रिस्क, मेरा हाथ पकड़कर अपने लंड पे रख दिया उसने, फिर तो थोड़े दिन ऐसेही रोज़ लंड चूसने लगी, (चूसना पड़ता था, कोई ऑप्षन नई था), उसका हाथ मेरे बूब्स पे या चुत पे और मेरा उसके लंड पे, ऐसेही ही सोने लगे.

2 वीक बाद दी को हॉस्पिटल अड्मिट किया गया, फिर तो उसे चोदने का लाइसेन्स मिल गया.

मैं दिन भर अपनी पढ़ाई करती, या फिर हॉस्पिटल मे दी के साथ रहती. और जैसे जस्सी घर आता मुझे टेक्स्ट करता.

जस्सी – हे बिच, मय लंड इझ वेटिंग, आर यू कमिंग और शुड आय गो आउटसाइड?

मैं – अभी आई जीजू.

जस्सी – डोंट कॉल मी जीजू, साली रांड़, आयएम युवर पार्ट-टाइम हब्बी.

मैं – ओके हब्बी, यूआर न्यू वाइफ इस ओन देयर वे.

जैसे मैं घर गई, कुत्ता दुम हिलाते किचन मे आ गया, पीछे से हग कर के.

जस्सी – जान, आज खाने मे क्या है?

मैं – क्या चाहिए आपको?

जस्सी – मुझे तू चाहिए, छीनाल, कब से तेरा इंतेज़ार कर रहा हू.

उसने मुझे एक पॅकेट दिया और कहा ये पह्न के सोने आना बेडरूम मे.

मैं – लेकिन ये तो खाली है पॅकेट.

जस्सी – हा तो कुछ मत पह्न, वैसे भी नयी नयी शादी हुई है, अभी तो सुहग्रात भी नई मनाई.

मैं – लेकिन अगर दी को पता चला तो?

जस्सी ने मुझे कस्स के थप्पड़ मारा, तू उसको बताएगी? साली, पालतू कुतिया है तू मेरी, जो मैं कहु वो कर, बीसी.

मैं थोड़ी डर गयी, पर फिर भी बोहूत दीनो बाद चुदवाने का मौका मिला था ऐसे थोड़ी जाने देती, पूरी नंगी हो कर चली गयी सोने, जीजू टीवी बंद कर के आए, आते ही मुझ पे टूट पड़ा, अऔच मेरे बूब्स को बाइट करने लगा, एंड लिप्स को भी, अऔच.
जस्सी – साली क्या माल है तू, एमसी, मेरी शादी के वक़्त क्यू नई आई, तेरी बहन से शादी कर के फँस गया हू, तू होती तो लाइफ रंगीन होती, बीसी.

More Sexy Stories  वाइफ शेयरिंग क्लब में मिली हॉट माल की चुदायी- 4

मैं – सॉरी जीजू, अब आ गयी हू ना.

जस्सी – फिर से बोली बीसी, तेरा पति हू. जीजू जीजू मत कर भोसडिकी.

फिर मेरे बाल खिच कर चाटा मारा, आउच.

मैं – सॉरी हब्बी, माफ़ कर दो.

फिर से थप्पड़.

मैं – साले बीवी पे हाथ उठता है, चुपचाप लंड डाल वरना छुने तक नई दूँगी.

जस्सी ने पूरी ताक़त से एक ही धक्के मे घुसा दिया लंड, आआहह मुमययी. इतना मोटा.

जस्सी – (थप्पड़ मार के) अब बोल वेश्या. बीसी, अब रोज़ यही होगा तेरा हाल. रंडी साली, प्रमोशन की बात चल रही है, अगर मिल गया ना तो गोआ मे हनिमून होगा हमारा, एमसी, रखेल साली, लंड लेने के अलावा कुछ करती है?

मैं – हाँ, आप जो कहोगे वो करूँगी.

जस्सी – ये हुई ना बात, इसे टिपिकल इंडियन वाइफ कहते है, पति के हर इशारे पे नचनी चाहिए, बीसी ये ले.

मैं -आअहह, उहह आमम्म मर गाइइ.

मैं – यअहह फक महह एम योअर स्लट, जल्दी, आहह एम अबौट टू कम.

जस्सी – बोल, रोज़ चुदेन्गि रंडी? तो ही अभी तेरी गर्मी शांत करू.

मैं – या हब्बी, अब मैं लीगल वाइफ बनने को भी तैयार हू, आप जो कहो, पर अभी चुत फाड़ दो मेरी, मा कसम, हेवेन सी फीलिंग आ रही है.

जस्सी – तो ये ले, छीनाल, भोसडिकी. वेश्या कही की, मादरचोद. पूरा लंड ले, अपनी गुफा मे, बीसी, तेरे जेसी वाइफ हो तो रंडी का क्या काम, आहह एम्म्म ये ली और ली.

मैं – आअहह उहह माआअ. मी डन हब्बी.

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि ड्सईकाहानी पर कहानियों का ये दौर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

फिर तो ये रोज़ होने लगा, आए मीन सुबह हॉस्पिटल मे, और शाम को जस्सी के साथ, रोज़ की चुदाई से सूजन होने लगी, जस्सी रोज़ अलग अलग स्टाइल से चोदने लगा, अभी तो 1ही वीक हुआ दी को हॉस्पिटल मे अड्मिट किए, और हमने 3बार चुदाई कर दी.

एक दिन, मुझे अपनी ऑफीस ले गया, और जस्सी ने सब के साथ मुझे अपनी वाइफ बनके इंट्रो किया, पर मुझे उससे ये उमीद नही थी की जस्सी इतना गिर जाएगा,

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *