फोन सेक्स चैट अपनी बीवी के साथ

‘जान तेरी चूत में मेरा लंड..’
‘आह स्स्स्सस्स्स्स मस्त..’
‘क्या देखो न.. तुम्हारा लंड मेरी चूत में कैसे घुसा है.’
‘साली छिनाल.. तुम तो बड़ी चुदक्कड़ हो यार.’
‘ऐसा क्या..’

‘हां यार.. तुम्हें याद है जब पहली बार तेरी गांड में मैंने उंगली की थी.’
‘हां कैसे याद नहीं होगा यार.. कितना दर्द हुआ था उस समय..’
‘साली तू तो चुदने के लिए उतावली थी.’
‘इसलिए तो सहन कर रही थी ना तेरी उंगली गांड में..’

‘जानू आज मैं तुमसे एक बात पूछूँ?’
‘क्या.. पूछ न?’
‘तुम्हारा पहला गैंगबैंग कब हुआ था?’
‘चार साल पहले.. यानि मेरी शादी से पहले हुआ था.’
‘कितने थे?’
‘पहले वो चार थे.. फिर दो और आ गए थे.. यानि पूरे छह जने.’
‘बाप रे यानि चूत में, गांड में, मुँह में हाथों में.. सब छेद शायद भरे होंगे तुम्हारे?’
‘दूसरे दिन मैं मूतने के लिए भी उठ नहीं सकी थी.’

‘चल अब अपनी उंगलियों को चुत के छेद में डाल, ठीक है..’
‘यार, अब मैं उंगली से कब तक काम चलाऊं..? तुम्हारे साढ़े छह इंच के लंड का प्रसाद चाहिए चुत को..’
‘आ रहा हूँ डार्लिंग चोदी.. कल यहां से निकलूंगा और दोपहर तक तेरे आगोश में पहुंच जाऊंगा.. फिर तुम्हारा बाजा भी तो बजाना है ना.’
‘देखा तुम्हारे आने की बात सुनकर ही मेरी चुत अंगार मूत रही है साले ठोकू आ जा ना जल्दी..’
‘ठीक है अब चैटिंग बंद.. कल मिलते हैं तेरी चुत गांड मुँह सब चोदने के लिए..’
‘आ जा रे.. मेरी चुत के बादशाह.. तेरा इंतज़ार मेरी चुत खोलकर होगा.
‘हां आता हूँ साली चूत की सफाई करके रखना.’
‘ओके.. मेरी जान.’

More Sexy Stories  शादी का मंडप और चुदाई

अगली कहानी जो मिलने पर हुई. उस दिन जब घर पहुंचा तो क्या क्या हुआ. वो सब लिखूँगा.

बस स्टॉप से मैं सीधा घर पहुंचा. रानी मैक्सी में मेरा इंतज़ार कर रही थी. मादरचोद के चूचे खुले थे. साली ने ब्रा ही नहीं पहनी थी. ये भी पता चल गया था कि मेरे आने की खुशी में उसने पैंटी भी नहीं पहनी थी.

अब तो ये पक्का था कि भंयकर चुदाई का रण होगा, लंड चुत का महाभयंकर युद्ध होगा.. जो किसी एक को परास्त करके ही रुकेगा. मेरी तलवार तो मैंने भांज ली थी.. अब म्यान को भी तैयार करना था. वो मेरी चुदाई की शक्ति की राह देख रही थी.

दरवाजा जैसे ही मैंने बंद किया, रानी मेरे गले में लटक गई. उसकी मैक्सी में से निकले हुए उसके दूध मेरी छाती पर दब रहे थे.

मैंने पूछा- क्यों री बहनचोद.. तू मैक्सी के अन्दर पूरी नंगी है क्या?
‘हां रे मेरे लौड़े.. मेरी चुत सवेरे से अंगार मूत रही है तेरे लौड़े के लिए.. जल्दी से आजा मैदान में भड़वे..’
‘साली.. मादरचोद, रंडी चोदी.. तेरी बहन को पानी में चोदूँ.. भेनचोद.’
‘साले.. भड़वे.. दे गाली जमके.. लेकिन पहले मेरी मार.. मादरचोद.’
‘क्या मारूं साली बोल ना?’

‘तुझे पहले क्या चाहिए गांड या चुत?’
‘पहले तेरी नरम गांड में लंड डालूंगा, फिर तेरे होंठों पर मेरा लंड घुमाऊंगा, फिर तेरी चुत मथूंगा जानू.’
‘बॉस, बस तेरी मुराद पूरी हो.’
‘क्या तेरी माँ की चुत.. छिनाल, भेन की लौड़ी.. यहीं फर्श पर लेट जा.. आज तेरी चुत मथूंगा.. तेरी गांड में डंडा करूँगा.. तेरे मुँह में लौड़ा डाल कर तुझे चुसाउँगा.. तेरी माँ की चुत.. चल मैक्सी उतार और कुतिया बन जा..’
‘अरे वाह, मेरे कुत्ते के लंड में एकदम जान आ गई, देख साला कैसे इतरा रहा है भैनचोद..’
‘आह सस्ससस मस्त.. चूस रंडी, चूस मेरा लंड.’
‘साले चुत के लौड़े.. कुत्ते कमीने आह सससससस ठोक तेरा डंडा मेरी गांड में.. आह मेरी गांड भी बड़ी परपरा रही है तेरे लंड के लिए.’
‘तेरी गांड में लंड, साली, मादरचोद ले..’

More Sexy Stories  कॉलोनी की रंडी लड़कियाँ

और इस तरह मैंने मेरी बीवी की गांड और चुत पर जम के हमला बोला.

Pages: 1 2