पड़ोस की जवान लड़की की चुदाई

पहले मैं आप सब को अपने बारे मे बता देता हू मेरा नाम आदित्य है और मैं फिट हू हाइट 5.2 है और लंड का साइज़ 7 इंच है. हिन्दी सेक्स स्टोरीस

अब स्टोरी पे आता हू ये बात तब की है जब मैं *** क्लास मे पड़ता था और मेरे पड़ोस मे एक फॅमिली रहने आई थी उस फॅमिली मे 5 मेंबर थे अंकल आंटी और उनकी दो लड़किया बड़ी लड़की रानी और छोटी का नाम था सोनिया और एक लड़का था जिसका नाम राजा था.

ये मेरे और सोनिया की कहानी है उसका फिगर एक दम मस्त था 32,28,32 वो एक दम गोरी उसको देखते ही लंड खड़ा हो जाए.

कुछ दिन बाद उसकी मम्मी आई हमारे घर बोली की उनकी छोटी बेटी सोनिया को टूशन लगाना है अगर पता हो तो बता दे मम्मी ने कहा मेरा लड़का भी आपकी लड़की के स्कूल मे है और वो एक मेडम के यहा पड़ता है आप भी भेज दीजिए उसके साथ ये बात सुन कर मैं बहुत खुश हुआ उस समय मेरे मन मे कोई ग़लत विचार नही था.

फिर क्या अगले दिन सोनिया हमारे घर आई और मम्मी ने मुझे बुलाया मैं सोनिया को देखा तो देखते ही रह गया टाइट पिंक टॉप पहने थी जिसमे उसके बूब्स समा नही रहे थे और एक ब्लॅक स्कर्ट पहने थी जिस मे से उसकी गोरी गोरी जांघे दिख रहे थे.

फिर मम्मी बोली आज से सोनिया भी तेरे साथ जाया करेगी टूशन मैं खुश होकर हा बोल दिया और मैं बाइक की चाभी लेने अप्पर चला गया और फिर हम टूशन जाने लगे सोनिया मेरे पीछे बैठी थी वो थोड़ी शर्मा रही थी तो उसने पीछे सीट पकड़ ली मैं फिर हम टूशन पहुँच गये.

जो मॅम हमे पड़ाती थी उनका नाम नेहा था उनकी शादी नही हुई थी उनका फिगर 34 32 36 होगा थोड़ी स्लिम थी बट एक दम हॉट जिस्म था उनका बड़े बड़े बूब्स और चुदासि गॅंड वो हमेशा हमे टी शर्ट और लोंग स्कर्ट मे पढ़ाती थी जब वो हमे समझाने के लिए नीचे झुकती थी तो उनके बूब्स के क्लीवेज सॉफ दिखते थे और मैं उनको ही देखता रहता शायद ये उन्हे पता था बट उन्होने कभी कुछ कहा नही फिर कुछ दिन ऐसेही चलता रा.

पर एक दिन बारिश पड़ी और मैं और सोनिया टूशन से वापस आ रहे थे तो रोड स्लिपरि होने से एक जगह मेरी बाइक फिसल गई और हम दोनो गिर गये वाहा कोई नही था जब हम गिरे तो सोनिया का स्कर्ट उप्पर हो गया पूरा और मैं उठा नही मेरी नज़र सोनिया पे पड़ी और देखते र गया..

उसने रेड कलर की पैंटी पहनी थी जो सॉफ दिख रही थी उसकी चूत एक दम मस्त लग रही थी पैंटी इतनी टाइट थी की चूत की पूरे शेप दिख रहे थे और साइड से हल्के ब्राउन कलर की झाटे झाक रही थी.

तभी सोनिया चिल्लाई अह्ह्ह अह्ह्ह्ह शायद उसे चोट लगी थी तभी मैं उठा और उसको उठाया तो देखा उसकी टी शर्ट थोड़ी फट गई है तो मैं उसे देखता रहा उसमे से वाइट ब्रा सॉफ दिख रही थी और क्या बूब्स थे एक दम सफेद फिर वो बोली घर कैसे जौंगी ऐसे.

More Sexy Stories  गांड मे अंकल का मोटा लंड लिया

फिर मेरे दिमाग़ मे आइडिया आया मैने उसको बोला तुम बाइक पे मुझसे एक दम चिपक के बैठना जिस से की तुम्हारी फटी हुई टी शर्ट ना दिखेगी वो फिर सोचने लगी फिर वो मान गई मैने बाइक उठाई स्टार्ट की और उसे बैठने को कहा वो बैठ गई.

फिर मैं बोला थोड़ा और नज़दीक आओ वो आई तो उसके बूब्स पूरे के पूरे मेरे पीठ पे दबने लगे और मुझे बहुत मज़ा आ रा था फिर हम घर पहुचे मैने गली मे देखा कोई नही था और वो बाइक से तुरंत उतरी और ज़ोर से भाग कर अंदर चली गई रात को मैं उसकी पैंटी और बूब्स का ऐसासोचते सोचते 4 बार मूठ मारी और अगले दिन जब मैं टूशन के लिए निकला सोनिया आई और मुस्कराने लगी मैंने भी स्माइल दी और वो बाइक पे बैठ गई और मुझे ज़ोर का झटका लगा.

वो दोनो तरफ पैर कर के बैठी थी और उसने मुझे शोल्डर से पकड़ा हुआ था फिर मैं चल दिया रास्ते मे मैं कई बार ब्रेक मारी वो मेरे अप्पर आ जाती और उसके मोटे मोटे बूब्स मेरे पीठ पे चिपक जाते ऐसा ही कुछ दिन चलता रा.

फिर एक दिन टूशन मे चॅप्टर आया रिप्रोडक्षन का जो होता है मॅम उसे पढ़ा रही थी मैं उनके बूब्स घूर रा था शायद ये सोनिया ने भी देख लिया पर कुछ कहा नही..

फिर अगले दिन वो आई नही मॅम मुझे अकेले पढ़ाने लगी उसमे टॉपिक आया तो उन्हो ने बताया जब लड़की बड़ी होती अडल्ट तो उसको पीरियड आते है और प्यूबिक हेयर आते है झाटे तो मैं हैरान रह गया और फिर मैने पूछा और क्या क्या अंतर होता है लड़को और लड़कियों के स्ट्रक्चर मे तो वो थोड़ा मुस्कारआईइ और बोली जो तुम रोज़ देखते हो मैने कहा मै समझा नही.
सोनिया – अच्छा बच्चे समझे नही पर रोज़ देख तो लेते हो वो क्या अछा ये बताओ तुमने किसी और के देखे है.

मैं – नही मॅम कभी नही.

नेहा मॅम – अछा तो पहली मैं ही हू.

तभी मुझे उस दिन क्लास का किस्सा याद आ गया जब मेरा और सोनिया बाइक से गिरे थे.

मैं – हिचकिचाते हुए नही एक और है.

नेहा मॅम – कोन.

फिर मैंने पूरा किस्सा बताया कैसे सोनिया के बूब्स दिखे ब्रा मे और उसकी रेड पैंटी.

नेहा मॅम – ष्हशह अछा.

सेड वो गरम हो रही थी.

नेहा मॅम – अछा तुम ये अप्पर से ही देखते रहोगे या कभी.

मैं – क्या.

नेहा मॅम – बुद्धू कभी पूरे भी देखना चाहते हो.

मैं – हाा बट कैसे.

फिर वो मेरे बगल मे आकर बैठ गई और उन्होने मेरे हाथ पकड़ा और अपने बूब्स पर रख दिया और बोला.

नेहा मॅम – आह ऐसी.

फिर क्या मैने उनके बूब्स ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा वो सिसकारी ले रही थी आआअह्ह्ह सीइयाईयैयैयाया और फिर मैने उनकी टी शर्ट उतार दी तो देखा उन्होने ब्रा नही पहनी.

More Sexy Stories  दोस्त की गर्लफ्रेंड के साथ मस्ती

मैं – आ मॅम आप ब्रा नही पहनती हो.

नेहा मॅम – आह मुझे पता हैं तुम मेरे बूब्स घुरते हो सीीसशह इसीलिए पढ़ाने से पहले उतार देती हेह्हहू करो ज़ोर से करो.

फिर मेरे होट उनके होंठो पे कर खूब किस किया और मॅम अह्ह्ह श्ह्ह मज़ा आ रा है आदित्या ज़ोर से फिर मैने अपना मूह उनके निपल पे रखा और ज़ोर से चूसने लगा अह्ह्ह्ह श्ह्ह्ह दर्द हो रा है आराम से करो मैने देखा उनके निप्प्ल एक दम हार्ड हो गये.

मैं – मॅम ये आपके बूब्स इतने सॉफ्ट है और निप्पल इतने हार्ड क्यू है.

नेहा मॅम – अह्ह्ह श्ह्ह्ह्ह तुम सवाल बहुत पूछते हो अह्ह्ह आराम से.

मैं – बताओ ना.

नेहा मॅम – ओके अह्ह्ह निप्पल भी सॉफ्ट होते है पर जब लड़की को सेक्स चड़ता है सिर्फ़ तब हार्ड होते है..बस श्ह्ह्ह अह्ह्ह.

फिर ज़ोर ज़ोर से निप्पल चूस रा था और पेट पे भी किस कर देता था थोड़ी देर बाद जब मैं अपना हाथ उनकी चूत की तरफ बढ़ाया तो उन्होने हाथ पकड़ लिया और रोक दिया.

मैं – क्या हुआ.

नेहा मॅम – आ अभी नही फिर कभी.

मैं – अभी क्यू नही.

थोड़ी देर बाद वो बोली.

नेहा मॅम – अभी करूँगी तो कपड़े बिगड़ जाएगी.

मैं समझा नही मतलब.

नेहा मॅम – मतलब ये मेरे राजा अभी पीरियड है.

मे वो क्या होते है.

नेहा मॅम – बाद मे बतौँगी पूरा चॅप्टर है अभी ओके.

मैं उदास चहरे से ओके.

फिर नेहा मॅम झुकी और मेरे पैंट के अप्पर हाथ फ़िराने लगी मैं उनके बूब्स दबा रा था वो बोली तेरा तो बहुत बड़ा लग रा है फिर उन्होने मुझे खड़े होने को कहा और और मेरी पैंट अंडरवेर के साथ ही उतार दिया मेरा लंड पूरा टाइट उनके सामने आ गया उनकी आँखो मे खुशी थी और एक चमक भी उन्होने धीरे धीरे उसे सहलाया मुझे बहुत अच्छा लग रा था.

फिर वो जीभ टच करने लगी थोड़ी देर बाद ऐसेही उन्होने उसे मूह मे ले लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लग गई लोलीपोप की तरह मे एक्ससिटेमेंट मे मरा जा रा था मैं बोला मॅम कुछ हो रा है वो रुकी नही और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी और फिर मैं उनके मूह मे झड़ गया और उन्होने विर्य पीया नही ज़मीन पे गिरा दिया.

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि देसीकाहानी पर कहानियों का ये दौर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

फिर मुझे सुकून मिला और मैं वही सोफे पे बैठ गया बिना पैंट उप्पर किए और वो मेरे बगल मे मेरा हाथ उनके बूब्स पे था जब उन्होने टाइम देखा तो पता चला हमे 2 घंटे हो गये है उन्होने कहा किसी को बोलना मत और बाकी सब बाद मे पड़ेंगे.

मैं – ओके मॅम.

और मैं घर आ गया और पूरी रात सोचता रा मॅम के बड़े बड़े बूब्स के बारे मे और मूठ मारता रा.

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *