पड़ोसन भाभी को किचन मे चुदाई

pados ki bhabhi ki chuai हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम विकास खन्ना है और मैं फरीदाबाद मे रहता हूँ. आज मैं आपको अपने साथ घटी एक इंडियन भाभी की चुदाई शेयर करना चाहूँगा अगर आपको पसंद आए तो मुझे रिप्लाइ ज़रूर करना.

स्टोरी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे मे बता दूं मैं 21 साल का हूँ और 6’2″ हाइट और 6. 5″ का लंड है और 17″ का डोला है.

अब मैं ज़्यादा टाइम ना लगाते हुए आपको अपनी स्टोरी बताता हूँ ये बात आज से 2 साल पहले की हैं जब मैने अपने क्लास 12थ के एग्ज़ॅम दिए थे. हमारे पड़ोस मे एक भाभी रहती थी जिसका नाम था प्रीति जिसका फिगर बोहत सेक्सी था गोल गोल चुचे और मोटी मोटी गॅंड मानो कोई भी देखे तो एक बार मे दीवाना हो जाए.

भाभी की एज होगी 29 साल और भाभी के एक 3-4 साल की बच्ची भी थी. भाभी अक्सर हमारे यहाँ आती रहती थी. भाभी हमारे यहाँ काफ़ी बार आ जाती थी दिन मे मम्मी से बात करने और दिन मे टाइम पास करने. भाभी का नेचर बोहत अछा था और वो हमेशा मुस्कुराती रहती थी भाभी अपनी बच्ची को भी हमारे घर लाती थी तो मैं उनकी बच्ची के साथ खेलता था तो बच्ची के बहाने कभी कभी भाभी से बात हो जाती थी.

भाभी बोहत स्वीट थी वो हमेशा मुझसे बोलती थी की तुझे देखके ये खुश हो जाती है तेरे साथ खेलते हुए तो ये अपनी मम्मी को भी भूल जाती है. पहले मैं भाभी के बारे मे ऐसा नही सोचता था. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

लेकिन एक दिन मैं भाभी के घर गया था और वो झाड़ू लगा रही थी और उन्होने ब्रा नही पहनी हुई थी उनकी निप्पल सॉफ दिख रही थी उस दिन से मेरा भाभी को देखके इरादा बदल गया था उस दिन मैने घर जाके भाभी के नाम की मूठ मारी फिर मैं रोज़ भाभी के बारे मे सोचता रहता था.

इस बात को लगभग एक मंथ हुआ था की एक दिन भाभी मेरे घर आई तब मेरी मम्मी नानी के घर गई हुई थी 2-4 दिन के लिए. भाभी आई सीधा हमारे घर मे पूरे घर मे ढूंढा मम्मी नही दिखी तो मेरे रूम मे आई और पूछा की मम्मी कहाँ है तो मैने बता दिया की मम्मी तो नानी के घर गई हैं 2-3 दिन मे आएँगी.

More Sexy Stories  कज़िन को रात मे चोदा

भाभी उस दिन बोहत ही सुंदर लग रही थी पिंक कलर का सूट पहना हुआ था जिसमे से भाभी की ब्रा दिख रही थी रेड कलर की मैने भाभी को बोला आप बैठो मैं आपके लिए चाय बनाके लाता हूँ भाभी बोली नही मैने बोहत रिक्वेस्ट करके भाभी को मना लिया और वो ड्रॉयिंग रूम मे बैठ गई मैं चाय बनाने चला गया.

अचानक से भाभी आई किचन मे बोली तुम हटो मैं बनाती हूँ भाभी चाय बना रही थी मैं भाभी के पीछे खड़ा था एकदम मेरा हाथ भाभी के बूब्स पे टच हुआ मुझे लगा भाभी गुस्सा करेंगी पर भाभी ने कोई रिएक्शन नही दिया तब मेरे मे और होसला आया और मैने हल्के से भाभी के गॅंड पे हाथ टच किया भाभी बोली ये क्या कर रहे हो विकास मैने बोला भाभी ग़लती से हो गया.

भाभी मुस्कुराइ और बोली कोई बात नही और 2 मिनट के लिए महोल बिल्कुल शांत हो गया 2 मीं बाद भाभी ने अचानक मुझसे पूछा तुम्हे मैं कैसी लगती हूँ मैने बोला भाभी मेको आप बोहत अछी लगती हो और आप बोहत सुंदर हो भाभी बोली अछा..

मैने बोला भाभी मैं आपके बारे मे सोचता रहता हूँ पूरा दिन भाभी स्माइल करते हुए बोली अछा क्या सोचते हो मेरे बारे मे मैने बोला भाभी आप बुरा मान जाओगी भाभी बोली नही मानूँगी तू बता तो दे.

मैने बोला भाभी आप बोहत सुंदर हो मैं आपको सोचके मास्टरबेशन करता हूँ और आपके साथ सेक्स करने के सपने देखता हूँ. भाभी बोली मुझे ये पहले से ही पता था पागल तभी तो मैं आज यहाँ आई हूँ मुझे तो आंटी ने कल ही बता दिया था की वो जाएँगी 2-3 दिन के लिए मैं तो बस तेरे मूह से सुनना चाहती थी.

More Sexy Stories  हिंदी सेक्स स्टोरी कैसे मैं बाप से जानवर बना

इतना सुनते ही मैं पागल हो गया और भाभी के सूट के उपर से ही उनके बूब्स को दबाने लगा बुरी तरह पागॉलो की तरह भाभी बोली यहाँ नही पागल पहले तू जाके दरवाज़ा लॉक कर मैं तेरे रूम मे जा रही हूँ. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

मैं जल्दी से दरवाज़ा लॉक करके अपने रूम मे गया भाभी के कपड़े उतारे जल्दी जल्दी भाभी ने एक दम मुझे रोक के मुझे किस करना स्टार्ट कर दिया और मुझे ज़ोर ज़ोर से किस करने लगी और काटने लगी. और बोलने लगी मैं तो बोहत दीनो से तुझसे चुदना चाहती थी पर शी मोका ही नही मिला था आज वो दिन आ गया है जब मैं तेरे लंड को खा जाउन्गि और और अपनी सारी प्यास बुझा दूँगी.

आज चोद दे अपनी भाभी को विकास आज मुझपे रहम मत कारिओ. मैने भाभी के कपड़े उतारे और भाभी के बूब्स चूसने लगा पागलो की तरह फिर मैं एक दम से किचन मे गया और किचन से हनी लाया और भाभी के बूब्स पे लगाके चूसने लगा और उनके साथ खेलने लगा और उनको बाइट करने लगा भाभी सिसकारियाँ ले रही थी आआ आ करके भाभी तड़प रही थी सेक्स के लिए.
फिर एक दम भाभी ने मेरा पेजामा उतारा और मेरे लंड को चूसने लगी और मेरे लंड के मूह पे थोड़ा हनी डालके चूसने लगी और उसको एकदम सक करने लगी उस टाइम जो फीलिंग थी वो मैं एक्सप्रेस भी नही कर सकता की मैं अपने आप को कितना लकी फील कर रहा था और लग रहा था की ये पल कभी ख़तम ना हो भाभी भी मानो चुदने के लिए पागल हो रही थी और 10-15 मीं तक चूसने के बाद भाभी ने बोला अब वेट नही होता चोद दे मुझे प्लीज़ अब वेट नही होता प्लीज़ चोद दे फाड़ दे मेरी चुत.

Pages: 1 2

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *