सेक्सी ऑफीस की लड़की को चोदा

office ki ladki ko choda सभी लंड वाले मर्दों के मोटे लंड पर किस करते हुए और सभी खूबसूरत जवान चूत वाली रानियों की चूत को चाटते हुए सभी का मैं स्वागत करती हूँ। अपनी कहानी के माध्यम से आप सभी मित्रो तक भेज रही हूँ। ये मेरी पहली स्टोरी है। इसे पढकर आप लोगो को मजा जरुर आएगा, ये गांरटी से कहूंगी।

ही मैं सानू सिंग. उमर 28 साल सिंगल हू और देल्ही मे रहता हू.

एक बार फिर से आप सब के लिए नयी कहानी के साथ आया हू.

लेट’स गेट टू दा स्टोरी.

जैसा की आप जानते है की मैं इट इंडस्ट्री सॉफ्टवेर इंजिनियर हू. ये बात तब की है जब मैं गुरगाओं की एक स्टार्टाप मे काम करता था. बहुत ज़्यादा लोग नही थे कंपनी मे. मैं वहाँ सीनियर डेवेलपर हुआ करता था.

हमारी कंपनी मे न्यू इंटेर्न्स आए ट्रैनिंग के लिए. उसमे कुच्छ लड़के और कुच्छ लड़किया भी थी. उसीमे एक लड़की थी जिसका नाम अंजलि था. वो बहुत ही खूबसूरत थी. स्पेशली उसके बूब्स और गान्ड बड़े थे. शी वास ए साइलेंट गर्ल, लेकिन बहुत अट्रॅक्टिव थी.

पहले 1 यियर तक तो मेरी उससे कुच्छ खास बात नही होती थी, बट मैं हमेशा उसे देख के फॅंटसाइज़ होता रहता था. कितनी बार उसको देख के मैने मुठ भी मारी है. पर कभी उससे बात करने का मौका नही मिलता था. बस कभी कभार ही हेलो या फिर उसकी कुच्छ प्रॉब्लम्स देख लिया करता था.

2015 की होली के बाद मैं छुट्टियो से वापस आया ऑफीस तो उस पूरे वीक वो आई नही ऑफीस. मेरा भी मन नही लग रहा था. मैं बस सोच रहा था कैसे और किससे पता करूँ. बस ऐसे ही वेडनेसडे को रात मे उसका कॉंटॅक्ट चेक किया, मैने देखा वो व्हाट्सअपप यूज़ करती है.

फिर क्या था मैने उसे पिंग किया आस्किंग “क्या हुआ आजकल ऑफीस नही अराही हो?” पर उसका कोई जवाब नही आया. ऑन फ्राइडे नाइट उसका रिप्लाइ आता है. मैं चाट वाले फॉर्मॅट मे ही सारी कॉन्वर्सेशन लिख रहा हू.

More Sexy Stories  कॉलेज कपल्स की मस्ती सिनिमा हॉल मे

शी – “मेरी तबीयत खराब चल रही है आंड मंडे से ओंगी.

मे – ” ई डिड्न’ट नो डाट” फिर उसको गेट वेल सून बोला और फिर नॉर्मल चाट होने लगी लाइक – कैसी रही होली, आंड हाड़ युवर डिन्नर एट्सेटरा टाइप. वो बहुत ही फॉर्मल बाते कर रही थी आंड सॉरी आंड थॅंकआइयू @ रेग्युलर इंटर्वल.

मुझे अच्छा नही लग रहा था सो मैने कहा “थॅंकआइयू वग़ैरह वाली फॉरमॅलिटी ऑफीस तक ही रहने दो”.

तो उसने रिप्लाइ किया “आक्च्युयली फिर मैं कुछ ज़्यादा ही ओपन हो जाती हू वो भी सही नि है”.

मैने कहा “आइ लाइक ओपननेस. मेरे साथ तू पूरा ओपन हो सकती है”.

उसने कहा “टोटली ओपन?”.

मुझे समझ नही आया की वो मेरी खिंचाई कर रही है या कुच्छ ग़लत समझ गयी फिर मैने सम्हाउ बात चेंज कर दिया.

फिर वो मुझे सिर बुलाती थी तो मैने कहा यू डॉन’ट नीड टू कॉल मी सिर, जस्ट कॉल मी बाइ माइ नेम. थोड़ा फॉरमॅलिटी के बाद शी स्टार्टेड कॉलिंग मी बाइ माइ नेम. फिर उसने कहा

शी – “और रवि, और बताओ”

मे – “तुम बताओ क्या सुनोगे?”

शी – “जो भी आपका मॅन हो”

मे – “यार मेरी मन की तो ना ही पूछना, बड़ा कमीना टाइप का मन है”

शी – “नही नही बता दीजिए, सबके अंदर होता है”

मे – “हा पर मेरा वाला ना बड़ा उनपरेडिकटिवे है, पता ही नही चलता क्या चाहता है?”

शी – “अब जब तक खोलके नि दिखाएँगे पता नि चलेगा कैसा है, आपको तो पता ही होगा क्या चाहता है”

फिर मुझे लगा बात कुच्छ बन रही है. तो मैने बात आगे बढ़ाई

मे – “ये पहले से ही खुला है बस एक झलक झाँकने की ज़रूरत है”

More Sexy Stories  दोस्त को सिड्यूस कर के चोदा

फिर उसने लिखा की आप मुझसे कही मज़ाक तो नही कर रहे ना, ऐसा ना हो की आप ये किसी को शेर कर दो और मेरी लग जाए. अगर मज़ाक कर रहे हो तो प्लीज़ ऐसा मत करना.

मैने फिर सम्हाउ उसको समझाया ऐसा कुच्छ नही है मैं बस एक अच्छे दोस्त की तरह तुमसे सब शेर कर रहा हू. मैं भी थोड़ा सेनटी हो गया देन शी बिलीव्ड की मैं गेनूईञली बात कर रहा हू. फिर थोड़ी देर और चाट हुई जिसमे वो मेरी तारीफ करने लगी. (आइ आम नोट गोयिंग टू पुट डाट चाट हियर.)

फिर उसने कहा मुझे ना ऑफीस मे आपसे बहुत डर लगता है. मैने सारकॅसटिकली कहा आइ डॉन’ट बाइट और मैं इतना स्केरी भी नही हू.

तो उसने रिप्लाइ किया “हाउ वुड आइ नो”

आइ सेड “यू वॉन’ट नो अनलेस यू ट्राइ”.

शी – “ठीक है चलो”

मे – “कहा चलो?(सेर्कास्टिकल्ली)”

फिर ऐसे ही कुच्छ देर तक डबल मीनिंग बाते वो भी करती रही और मैं भी करता रहा. फिर मुझे भी लगा की शायद ये भी तैयार है.

शी – “और बताओ”

मे – “कुच्छ खास नही है”

शी – “जो खास है वो बताओ”

मे – “कोई नही तुम वापस अजाओ फिर बता दूँगा”

शी – “वक़्त का क्या भरोसा, आज जो ऑपर्चुनिटी है ग्राब इट”

मे – “बात तो तुम्हारी अच्छी है”

शी – “मेरा तो सब कुछ ही अच्छा है मेरा छोड़ो”

फिर कुच्छ देर उसके इन्सिस्ट करने पर मैने कह दिया “आइ लाइक यू” फिर वो थोड़ा भाव खाने लगी लाइक पहले आपने कभी नही बताया ना कभी मेसेज किया कही मज़ाक तो नही कर रहे एट्सेटरा.

फिर आइ एक्सप्लेंड एवेरितिंग तो उसने कहा ऑफीस की एक दोस्त के बारे मे “आप जब उसके साथ बैठ के हसी मज़ाक करते हो उसकी हाथो मे हाथ लेकर मुझे बिल्कुल अच्छा नही लगता”.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *