मम्मी की गांद मोहल्ले के गुंडे ने मारी

ये इंडियन सेक्स स्टोरी मेरी मोम और मोहल्ले के सबसे बड़े गुंडे की हैं, मेरी मोम का नाम नेलु हैं और उसका फिगर 42 38 44 हैं हाइट 5’4 हैं रंग गोरा हैं उमर हैं 44 ये कहानी 2 साल पहले की हैं जब मैं 12थ मे पढ़ता था.

मुझे दारू पीने की बहुत आदत थी तो मेरा दोस्त एक दिन मुझे एक आदमी के पास ले गया उसने कहा अगर इससे दोस्ती करोगे तो वो तुझे बहुत दारू पिलाएँगा मैं भी कहा ठीक हैं जैसे ही मैने उसे देखा मैं हैरान रह गया वो हमारे मोहल्ले का सबसे बड़ा गुंडा था.

उसका नाम था विजय यादव हाइट 6 इंच रंग पूरा काला हटता कटता हमेशा हर किसी को गाली देते रहता था उसकी एज 32 की करीब होगी मेरे दोस्त ने उसे मेरा परिचय करवाया और मैं उसके ग्रूप मे शामिल हो गया वाहा मुझे दारू पीने को बहुत मिलता था.

एक दिन उसने मुझे बुलाया और कहा साले मैं तुझे इतनी दारू पिलाता हू कभी तूने मुझे खाना भी नही खिलाया मैने तुरंत कहा अरे आप आइए आज मेरे घर डिन्नर करने रात को वो मान गया मैं घर गया और मोम को कहा की आज विजय यादव खाने पर आने वाला हैं तो मोम ने कहा बेटा तू उससे बच कर रहना उसके लिए मर्डर किडनॅपिंग कोई बड़ी बात नही हैं कही तू ना फस जाए.

मैने कहा मम्मी ऐसी कोई बात नही हैं वो दिल के आछे हैं मोम ने कहा ओके रात को मॉम ने अछी अछी डिशेस बनाई रात 9 बजे मेरे घर की घंटी बाजी मॉम ने नाइटी पहनी हुई थी ब्लॅक कलर की जिसमे वो गजब लग रही थी मोम ने दरवाजा जैसे ही खोला विजय यादव उसे देखता ही रह गया उसकी आँखे नही झुकी और वो मोम को घुरे जा रहा था.

जब मैं आया तो मैने विजय को मोम से इंट्रोड्यूस कराया उसने मोम को बोला मैं विजय यादव मोम ने भी कहा मेरा नाम नेलु हैं उसने कहा नीलू जी आप बहुत सुंदर हो और मोम मुस्कराने लगी कुछ देर बातें करने के बाद मोम ने खाना लगाया टेबल पर मैने देखा मोम जब झुक कर खाना परोस रही थी.

More Sexy Stories  दोस्त की मॉं नीता को चोदा

तो विजय उनकी बूब्स को देख रहा था जो उनकी नाइटी की क्लीवेज से नज़र आ रही थी मैने जब देखा तो सोचा कुछ बोलू लेकिन विजय यादव को कैसे बोल सकता था मोम जान भुज कर ये कर रही थी.

फिर विजय ने मोम से कहा की अगर आपलोगों को कोई दिक्कत हो तो मुझे बोलना मोम ने कहा क्यू नही ज़रूर और वो चला गया उस दिन से विजय यादव अक्सर मेरे घर आ जया करता था कभी कभी जब मैं नही रहता था तब भी और विजय खुश भी रहता था एक दिन की बात हैं विजय यादव का मोबाइल मेरे पास रह गया और उसमे कुछ मेसेज आ रहे थे व्हतसप पर मैने सोचा देखा जाए ये क्या काम करता था.

मैने उसका फोन खोला तो देखा वो मेसेज मेरी मोम के नंबर से था मेरे तो सिर ही घूम गया ये क्या हैं मैने मेसेज चेक किया तो देखा वो दोनो एक दूसरे से रात रात भर बात करते हैं और डार्लिंग कहकर बुलाते हैं क़िस्स्स देते हैं एक दूसरे उसमे मेरी मोम की ब्रा और पैंटी वाली पिक थी और विजय की लंड की पिक थी जो वो मोम को सेंड करता था उस लंड के पिक मे देखने से बहुत बड़ा और मोटा लग रहा था.

मैं तो देख कर पागल सा हो गया तब मुझे पता चला आख़िर विजय यादव मेरे घर क्यू जाता हैं वो मोम को चोद रहा था एक दिन मैने सोचा की मैं भी तो देखु एक दिन मैने मोम का मोबाइल चेक किया तो देखा उसमे लिखा था की कल मैं तेरे बेटे के जाने के बाद 11 बजे आउन्गा मोम ने कहा ओके कल मुझे काम भी हैं तुम मदद कर देना.

More Sexy Stories  18 साल के लड़के से चुदाई की

मैने भी सोचा कल मैं कॉलेज नही जाउन्गा मैं सुबह तैयार होकर निकला और कॉलेज नही गया अपने मोहल्ले मे ही छिप गया ठीक 11 बजे विजय यादव मेरे घर आया मोम ने दरवाजा खोला और अंदर चला गया मैं भी अपने घर के पीछे वाले रास्ते से घर मे घुस गया मैने देखा मोम ब्लॅक कलर की ब्लाउस पेटिकोट मे थी जिसमे उसका पूरा बूब्स लगबघ दिख रहा था.

विजय बोल रहा था नेलु डार्लिंग तू मेरी रखेल हैं तुझे चोदने मे जितना मज़ा हैं उतना किसी मे नही और अपने शर्ट खोल दी मोम ने कहा चलो पहले मेरी काम मे मदद कर दो वो बोला क्या करना हैं उसने कहा मुझे उपर से समान उतारना हैं तुम मुझे पकडो मैं उपर से समान उतार के तुम्हे देती हू मोम टेबल पर चढ़ गई और मनोज उनकी लेग्स को पकड़ लिया मोम समान उतार कर विजय को दे रही थी और वो रख रहा था.

मैने देखा की धीरे धीरे विजय अपना हात मोम के गॅंड पर ले आया और कसके उनकी गॅंड को दबाने लगा मोम ने कहा विजय अभी बदमाशी मत करो उसने कहा क्या करू मेरी जान तेरी गॅंड इतनी भारी हैं की रहा नही जाता और मोम की गॅंड में अपना तीट गढ़ने लगा मोम ने कहा तुम नही मनोगे रूको वो नीचे उतर गयी और बोली चलो जो करना हैं करो उसने मोम को तुरंत अपनी बाहों मे ले लिया और किस करने लगा लिप्स मोम लिपस्टिक लगाई हुई थी रेड कलर की जिससे किस करने पर विजय की लिप्स भी लाल हो गई.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *