मेरी क्यूट सी छोटी बहन चुद गयी

वो मादक सिसकारियां ले रही थी. मैंने उसको सीधे लेटने को बोला.. वो सीधा लेट गई. उसके बाद मैंने उसको सलवार निकालने को बोला, वो कुछ नहीं बोली.
मैं बोला- क्या मैं सलवार खोल दूँ सोनिया?

अब उसने हां में सिर हिला दिया. मैं उसकी सलवार का नाड़ा खोल कर उसकी सलवार को नीचे करने लगा. उसने धीरे से अपने चूतड़ उठा कर सलवार निकालने में मेरी मदद की. उसने नीचे काले रंग की पैंटी पहनी हुई थी.

मैंने एक बार फिर से उसके पूरे शरीर को ध्यान से देखा. वो बहुत ही प्यारी क्यूट सी हसीना लग रही थी. मैंने उसकी पैंटी के चारों तरफ उसकी जाँघों पर बड़ी गरमाई से किस किया.. वो एकदम से सिहर उठी. फिर धीरे धीरे उसकी जाँघों से किस करते हुए नीचे तक पूरे पैर पर किस किया, सभी उंगलियों को मुँह में ले कर चूसा. फिर उसका उल्टा लिटा कर उसकी पैंटी से लेकर बिल्कुल नीचे तक दोनों पैरों पर किस किया. वो बहुत जोर जोर से सिस्कारियां ले रही थी.

मैंने उसे सीधा किया, उसकी पैंटी नीचे से गीली हो चुकी थी. मैंने उस गीली जगह पर उपनी जीभ रख दी. जीभ रखते ही उसने अपने हाथों की मुठ्ठी बंद कर ली. मुझे वो पानी खट्टा सा नमकीन सा लगा. मैंने धीरे धीरे पैंटी को भी उतार दिया और पैंटी के उतरते ही मैंने अपना पूरा मुँह सोनिया की चूत पर रख दिया. मैं उसकी चूत को चाटने लगा. उसकी चूत बिल्कुल गुलाबी थी. आज तो उसने शेव भी कर रखी थी. मुझे अपनी बहन की चुत चाटने में बहुत मज़ा आ रहा था और वो भी तेज तेज सिस्कारियां ले रही थी.

मैंने कम से कम 15-20 मिनट तक चूत चाटी. उसके बाद उसकी चूत से नमकीन सा पानी निकला. मैंने सारा पानी पी लिया और वो ढीली सी हो गई.

More Sexy Stories  बहन के साथ सेक्स का नंगा नाच

उसके बाद मैंने उसे उलटी लिटा कर उसके कूल्हों पर किस किया. उसके कूल्हे भी बिल्कुल मस्त थे, कहीं भी कोई भी दाग या निशान नहीं था. मैंने पूरे कूल्हों पर किस किया. फिर उसको धीरे धीरे घोड़ी सा बना दिया. उसके घोड़ी बन जाने पर उसकी गांड का छेद ऊपर उठ आया. मैं उस होल को किस करने लगा. मैंने धीरे धीरे उस होल में अपनी जीभ डाल दी और बहुत देर गांड को तक चूसता रहा. उसे भी इस देसी गांड सेक्स में, चूतड़ चटवाने में बहुत मज़ा आ रहा था.

फिर मैं उससे अलग हो कर उसके पास लेट गया और बोला- सोनिया, कितना मज़ा आया?
वो एकदम से मेरे से चिपक गई और बोली- भैया बहुत ज्यादा.. ऐसा मज़ा कभी भी नहीं आया था.
मैं बोला- अब आगे का क्या प्लान है?
तो बोली- भैया अब तो मैं आपकी हो गई हूँ.. जो मन करे कर लो.

मैं उठा और धीरे से उसके पैर ऊपर उठा कर अपना लंड धीरे से उसकी चूत पर रखा. उसने फिर से अपनी आंखें बंद कर ली थीं.
मैंने बोला- सोनिया प्लीज अब अपनी आंखें खोलो और पूरा मजा लो.

उसने अपनी आंखें खोल दीं. मैं धीरे धीरे लंड अन्दर डालने लगा. लंड धीरे धीरे अन्दर जाने लगा, वो सिसकारियां ले रही थी और अपने निचले होंठ को अपने दांतों से दबा रही थी. मेरा लंड धीरे धीरे पूरा अन्दर चला गया. लंड को अन्दर जाने में कोई दिक्कत नहीं हुई.

पूरा लंड घुसेड़ने के बाद मैं धीरे धीरे झटके लगाने लगा. साथ ही मैं उसकी आँखों में देख रहा था और वो मेरी आँखों में देख रही थी. उसने अपने हाथ मेरी गर्दन के ऊपर से बांध लिए थे. करीब 8-10 मिनट में मेरा पानी निकल गया. मैंने अपना सारा पानी उसके पेट पर निकाला और उसके बगल में लेट गया.

More Sexy Stories  दीदी ने चुकाया मेरे पैसो का क़र्ज़

लगभग 5 मिनट बाद मैं उठा और उसको भी उठाकर कपड़े से एक दूसरे को साफ किया. हम दोनों ने अपने अपने कपड़े पहने. कपड़े पहनते ही सोनिया ने मुझे थैंक्यू बोला.
मैंने बोला- थैंक्यू क्यों?
तो बोली- इतना मज़ा देने के लिए. इतना मज़ा ज़िन्दगी में पहली बार मिला है.

वो मुझे किस करने लगी. जब हमने घड़ी की तरफ देखा तो सुबह के 4 बज चुके थे. फिर हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर सो गए.

अगले दिन जब भी हम एक दूसरे को देखते तो आपस में स्माइल दे देते.

फिर अगली रात आई. उस दिन उसने पजामी सूट पहन रखा था, बहुत प्यारी लग रही थी.
मैंने पूछा- सोनिया क्या आज भी करने देगी?
तो वो मेरे से चिपक गई और बोली- भैया अब तो आपकी वाइफ की तरह रहूँगी.

उस रात भी हमने वो सब किया, जो पहली रात किया था. लेकिन उस रात उसने शुरू से ही खुल कर सेक्स किया. उस रात हमने 2 बार चुदाई की और उस रात उसने मेरा लंड भी चूसा.

उसके बाद से हम रोज रोज सेक्स करने लगे. जब कभी दिन में मौका मिलता तो दिन में भी करते.

दोस्तों कैसी लगी आपको हमारी ये बहन भाई की चुदाई की कहानी.. अपने विचार जरूर मेल करें.. ये चुदाई की स्टोरी हम दोनों भाई बहन ने एक साथ बैठ कर लिखी है.

Pages: 1 2 3