मेरी भाभी मेरी जान

हाय, फ्रेंड्स युवर रिहान ईज़ बॅक अगेन वित माय न्यू सूपर हॉट एनकाउंटर बिट्वीन मी & माय भाभी तो हुआ यू भाभी और मेरा किसी बात को लेकर ऐसे ही कहा सुनी मतलब झगड़ा हो गया था, फिर कोई 5 या 6 दिन बाद भाभी खुद ब खुद ही मेरी दुकान पे आई पर मैं उसकी तरफ ध्यान नही दे रहा था.

तो वो बोली की अब तो मैं इतनी बुरी लग रही होंगी की मेरी तरफ देख भी नही रहे हो.

फिर मैने उसे कहा क्या करू तुम्हे देखकर तुम्ही ने तो कहा था की मेरे घर पर मत आया करो तुम्हारे भैया को शक होने लगा है और गली के लोग भी बोलते है, तो मैने कहा क्यू जा फिर कही मुसीबत गले ना पड़ जाए.

तो वो कहने लगी आज आ जाओ दोपहर मे तुम्हारे भैया 2 दिन के देहरादून ऑफीस की तरफ से जा रहे है, समझ रहे हो ना किस लिए बुला रही हू, तो मैने उसे झूठी ना करते हुए कहा की मैं नही आ रहा तुम अपने घर जाओ कही कोई देख ना ले, फिर वो मुझसे बोली अगर मुझसे प्यार करते हो तो ज़रूर आओगे अगर तुम नही आए तो मेरा मरा हुआ मु देखोगे, और वो चली गयी.

फिर दोपहर मे करीब 2 बजे के टाइम उसकी मिस कॉल आई और मैने कोई रेस्पोन्से नही दिया क्योकि मैं जानता था की वाहा से फिर कॉल आएगी, और वैसा ही हुआ और 5 मिनिट के बाद उसने फिर से कॉल करी और मैने इधर से उसकी कॉल काटकर खुद कॉल की और कहा मुझे फोन वोन मत करो, तुम्हारे आदमी को सब बताते है ना की मैं तुम्हारे घर आता हू, फिर क्यू अपनी मा चुदवाने के लिए कॉल कर रही हो.

तो वो कहने मा की उमर तो कब निकल गयी चुदने की अब क्या करेगी, चुदवाके मेरे पास तो तुम हो जब तक जिंदा हू और शरीर मे जान है तब तक तुमसे चुदवाति रहूंगी, और यही वजह है जो तुम्हारी गालियो पर भी प्यार आता है, अब मत तड़पाव और जल्दी से आ जाओ मैने झूठी ना नुकार फिर वो मनाती रही और मैने शॉप क्लोज़ की और उसके घर की तरफ चल दिया.

More Sexy Stories  पड़ोसन लड़की की कामुकता शांत की

वो अपने मकान के छज्जे पर ही खड़ी थी और मुझे देखकर वो बहुत खुश हुई और जल्दी से जीने की तरफ आ गयी, और मुझे जीने मे से ही अपनी बाहे खोलकर उपर बुलाने लगी.

मैं भी भाग कर जल्दी जल्दी उपर चढ़ने लगा तो वो कहने लगी जीने की कुण्डी तो लगा दो, फिर मैं वापस से नीचे आया और जीने की कुण्डी लगा दी, फिर उपर चढ़ गया तो हम दोनो सीधे बेडरूम मे चले गये, बेडरूम मे जाते ही वो मुझे ज़ोर ज़ोर से मेरे होटो को चूसने लगी बीच बीच मे वो अपनी पूरी जीभ मेरे मूह मे डाल देती जो बड़ी ही मस्त थी.

इस सब परक्रिया मे मेरा लॅंड बावली खेले जा रहा था, आज तो भाभी आग लगा रही थी क्योकि उसने मेरी गिफ्ट की हुई डार्क येल्लो कलर की साड़ी और डीप नेक हेवी कट वाला ब्लाउस पहना हुआ था जिसमे से उसके मोटे मोटे चुचे बाहर आने को उतावले थे.

फिर मैने उसके ब्लाउस के एक एक करके सारे बटन खोल दिए जिससे उसके मोटे मोटे गोरे गोरे चुचे मेरे सामने बिल्कुल नंगे थे जिसे इस तरह से पूरा नंगा देखकर मैं उनपर टूट पड़ा, एक तो उसके मोटे मोटे गोरे गोरे चुचे उसपे उसके चुचो की काली निप्पल आग मे घी का काम कर रही थी.

तो अब मैने देर ना करते हुए उसके चुचे चूसने लगा, और 1 उंगली नीचे करके उसकी चूत मे डाल दी जिससे वो और भी ज़्यादा मचल उठी, और मैने अब उसके चुचे छोड़कर उसकी चुत चाटने लगा ऐसे ही खड़े खड़े उसकी चुत को अपने हाथ से खोलकर चाटने लगा.

More Sexy Stories  चाची के साथ बस का सफ़र

जिससे वो अह्ह्ह्ह्ह्ह.. करके सिसकारिया लेने लगी, और मेरे सर को अपनी चुत पे दबाने लगी और मैं भी ज़ोर ज़ोर से उसकी चुत को चाटने लगा मैं जितनी ज़्यादा अपनी जीभ उसकी चुत मे डालता वो उतनी ही ज़्यादा पागल हुए जा रही थी, फिर मैने उसे नीचे बिठाया और अपना खड़ा हुआ लॅंड उसके मूह मे डाल दिया और वो बड़े प्यार से उसे चाटने चूमने लगी,

उसका पूरा मून मेरे लॅंड चाटने की वजह से थूक पूरा भीगा हुआ था, फिर मैने उसे उठाया और, फिर मैने उसे सीधा किया और उसकी साड़ी भी उतार दी अब वो मेरे सामने सिर्फ़ पेटिकोट मे थी, उसके गोरे गोरे नंगे चुचे फिर उसका काला पेटिकोट और भी ज़्यादा आग लगा रहा था.

फिर भाभी अब भी खड़ी थी और मैने उसका पेटिकोट उठाया और उसके पेटिकोट मे ऐसे ही उसे खड़ा करके उसकी चुत चाटने लगा और अब वो और भी ज़्यादा तेज़ तेज़ सिसकारिया लेने लगी, फिर मैं उसके पेटिकोट मेसे बाहर आया और उसके पेटिकोट का नाडा भी खोल दिया और उसने अंदर कछि(पैंटी) भी नही पहनी हुई थी, जिससे उसकी चुत के छोटे छोटे काले बालो वाली चुत मेरे सामने थी.

फिर मैने उसे ऐसे खड़े खड़े ही अपने हाथ से लॅंड उसकी चुत पे नीचे से सेट किया और एक धक्का मारा की लॅंड पूरा उसकी चुत मे घुस गया, जिससे उन्होने अपनी आँखे बंद कर ली और मेरे बाल पकड़ के मेरे मूह को अपनी तरफ खीचा और मेरे होटो को चूसने लगी और फिर मैने उसकी एक टाँग को अपने हाथो मे उठा लिया और ऐसे ही लॅंड उसकी चुत मे पेलने लगा, हर धक्के के साथ उसके मूह से अहहूआहू.. करके सिसकारिया निकल रही थी.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *