मामी ने सिखाई चुदाई करना

mami ne sikhai chudai karna हेलो दोस्तो मेरा नाम सुप्रिया है और मैं 24 साल की हूँ और मैं अपने मम्मी पापा के साथ हरयाणा मे रहती हूँ. मैं एक बहोत ही आमिर बाप की एक्लोति संतान हूँ और मुझे किसी भी बात का, किसी भी चीज़ का डर नही है. देसी गंदी कहानिया मेरी चुदाई

मेरी खूबसूरती पर तो सारी दुनिया फिदा है. मेरा गोरा हुसन देखकर और मेरी फिगर जो की 36-24-38 है इस पर तो सबके दिल धड़कते हुए थम जाते है.

दोस्तो ये कहानी तब की है जब मैं 19 साल की थी और कॉलेज से स्टडी कर रही थी. कॉलेज मे भी मुझे काफ़ी ऑफर आए पर मन तो करता था की हाँ करदु पर दिल डरता भी था इसलिए कभी हाँ नही कर पाई. एक दिन ऐसे ही मैने मम्मी और पापा की बाते सुन ली जिसमे पापा मम्मी को कह रहे थे की ‘सुप्रिया अब जवान हो गई है इसे मॉडर्न कपड़े पहनना सिख़ाओ, ये तो चर्च की मैड जैसी बन कर रहती है’.

पापा की ये बात सुनकर मुझे बहोत अछा लगा की घर पर पापा मेरे बारे मे कितना कुछ सोचते है. मैं ये सब जानकर खुश हुई की तभी मम्मी पापा से बोली ‘ठीक कह रहहे हो आप, मैं इसे 15 दिन के लिए मुंबई ले कर चली जाती हूँ जहा इसके मामा-मामी रहते है वाहा ये सब सीख जाएगी. और आप भी इसे दिखावटी गुस्सा करते रहो ताकि ये मॉडर्न कपड़े पर मरना नही क्योकि ये अछा नही लगता’.

मम्मी की ये बात सुनकर मैं बहोत खुश हो गई और अपने कमरे मे जा कर सोने लग गई और सुबह जब उठ कर नहा-धो कर पापा के डाइनिंग टेबल पर ब्रेकफास्ट करने बैठी तो मम्मी ने पापा से कहा की ‘हम 15 दिन के लिए मुंबई जा रहे है’. तब मैने मम्मी से कहा की हम छुट्टियोंमे चलेंगे पर मम्मी काहा मानने वाली थी इसलिए मुझे अब तैय्यार होना पड़ा और फिर हम अगले दिन सुबह मुंबई की फ्लाइट से वाहा पहोच गये.

मेरी मामी बहोत ही ज़्यादा मॉडर्न ख्यालात की है और वो मामा जी की मर्ज़ी से बिल्कुल कमर के साथ सारी बाँधती है और बहोत ही छोटे-छोटे ब्लाउस भी पहनती है. मुझे अपने मामा-मामी बहोत आछे लगते है और हम जब वाहा पहोचे तो मामी ने मुझे गलेसे लगा लिया और गाल पर किस भी करी. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

अब हम काफ़ी सारी बाते करने लग गये और मैं दोपहर मे सोने का नाटक करने लग गई क्योकि मैं बस थोड़ा रेस्ट करना चाहती थी नींद तो मुझे आ ही नही रही थी. फिर मैने मम्मी और मामी की बात सुनी जिसमे मम्मी मामी को कह रहे थे की हमारा यहा आने का मकसद क्या है तो मामी बोली – तू चिंता मत कर, इससे तो मैं नंगी ला दूँगी पर तू बीच मे बोलेगी नही.

उनकी ये बात सुन कर मुझे बहोत अछा लगा और अब मैने सोच लिया की अब आएगा जवानी का असली मज़ा. शाम को अब जब मैं उठी तो मामी ने मुझसे कहा की चलो मैं तुम्हे बाजार घुमाने ले चलती हूँ और मैं भी तब तैय्यार हो गई और फिर मामी के साथ चल पड़ी.

मामी मुझे एक मॉल मे ले गई और वाहा पर मेरी लो-वेस्ट जीन्स, शॉर्ट टॉप, स्कर्ट, हाइ हील सॅंडल पर्चेस कर लिए और मुझे जीन्स और शॉर्ट टॉप ट्राइ करने को कहा तो मैने भी मज़े मे थोड़ा झूठ बोल दिया की लूझ है और एक नंबर और छोटा ले लिया. फिर मामी ने मुझे जीन्स और टॉप पहन कर ही रखने को कहा और नीचे पैरो मे हाइ हील सॅंडल पहना दिए जिसके चलते मुझे ऐसा लग रहा था की मेरी गॅंड और बूब्स तो कपड़े फाड़ कर बाहर ही आजाएँगे.

More Sexy Stories  मामी की सेक्स की अंतर्वसना शांत की

मामी ने इसी तरह मुझे पूरे मॉल मे घुमाया और सबकी नज़र मुझ पर ही टिकी हुई थी जो की मुझे अछा तो लग रहा था पर मैं भी ड्रामे करते हुए बोली – मामी कुछ ज़्यादा ही शॉर्ट है, देखो सब देख रहे है.

अब हम घर की और चल पड़े तो ड्राइवर भी मुझे देखने लग गया और फिर जब घर आए तो मम्मी ने मुझे देखा तो बोला – ये क्या है.

मैं – हाँ हाँ, एक तो खुद पहनाना चाहते हो और अब उपर से ये ढोंग कर रहे हो.

अब मैं मन ही मन सोचने लग गई की अगर मुझे अब जीन्स पहनने की खुली आज़ादी मिली है तो देखना अब तो मैं सेक्स के मज़े लूँगी और देखती हूँ की मेरे अंदर भी कितना दम है और मैं कितनो को निपटा सकती हूँ.

शाम को जब मामा आए तो मैने उन्हे स्कर्ट और टॉप पहनकर दिखाई तो देखा की उनका लंड खड़ा हो गया था. अब मैं मामी के पास आई तो मामी मुझे बोली- जान के एक नंबर साइज़ लिया है.

मैं – हाँ मामी आप तो मेरे दिल की बात समझ गये हो इसलिए ये मम्मी को मत बताना.

मामी – तू चिंता मत कर, अब तो मैं तुझे सब कुछ सीखा दूँगी की कैसे फ्लर्ट करते है और कैसे अपनी दी हुई खूबसूरती का फ़ायदा उठाकर लोगो को पागल करते है और ये ऐसी खूबसूरती जिस को देख कर तो बाप भी दीवाना हो जाता है.

और एक और बात, मर्द को भगवान ने चोदने के लिए बनाया है और औरत को चुदवाने के लिए इसलिए इसका जितना हो सके उतना मज़ा लो क्योकि एक आदमी लंड डालेगा, चूत मरेगा, बूब्स दबाएगा और फिर निकल कर ढीला पड़ जाएगा और इसी तरह औरत एक समये मे 8 लंडो को लेकर अपनी और उनकी प्यास बुझा सकती है.
मैं ये सब बाते सुनकर हैरान हो गई और फिर मैं बोली- क्या मामी आप भी?

मामी – देखो अगर मर्दो से पैसे निकलवाने हो तो घर पर छोटे कपड़े पहनकर नोकर के सामने आओ क्योकि हर मर्द चाहता है की उसकी बीवी का नंगा बदन उसके इलावा कोई और ना देख पाए और फिर वो खुद पे खुद पैसे दे देते है. वैसे भी मेरी तेरे मामा जी से रात ही बात हुई है की तुम्हे जब तक यहा है शॉर्ट मे ही रखना है और रात तो 4- 5 लंडोका भी स्वाद ज़रूर चकवाना है.

मैं मामी की बात सुनकर बहोत खुश हो गई और सोचा की मैं अपना पॉइंट घर पर रहते हुए एक नोकर को बनाउन्गि और अगले दिन सुबह कही सब बाहर चले गये पर मैं घर पर ही रुक गई और फिर मैने नहाकर शॉर्ट स्कर्ट, खुली शॉर्ट टॉप डाल ली और नोकर को अपना गोरा-चिकना बदन दिखाने लग गई. फिर करीब 3 घंटे बाद नोकर ने किचन मे आकर मुझे पीछे से बाहो मे भर लिया, बूब्स दबाए और मेरे गाल पर किस करते हुए बोला – साली हराम खोर, कितने दिन से लंड को तडपा रही है इधर-उधर अपना नंगा जिस्म लेकर. अब तो इस लंड से रात मे कुत्तिया की तरह चुदेन्गि और तुझे माली और वॉचमन के लंड भी दूँगा जिससे तेरी गॅंड, चूत और मूह सब पानी से भर जाएँगे.

मैं- तुम गोलिया ही पाते रहोगे या कुछ करोगे भी, मेरी जवानी का फ़ायदा तो उठाओ ताकि मुझे भी मज़ा आए.

मेरी बात सुन कर नोकर हैरान रह गया की उसने मुझे शिकार बनाया या खुद शिकार बन गया. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

अब शाम हो चुकी थी और रामू नोकर ने मेरे बूब्स को 4 बार दबा दिया था जिसके चलते मैं और पागल हो गई थी और तब उसने मुझे रात को कमरे वाली बात भी याद दिला दी तो मैं थोड़ा हस पड़ी और बोली- देखते है रात मे तू मुझे हराएगा या मैं तुझे.

More Sexy Stories  बस मे चुदाई का सुहाना सफ़र

अब मामी भी घर पर आ गई और मुझे सुबह वाले कपड़ो मे देख कर खुश होती हुई बोली- समजदार हो गई है और तेरी मम्मी रात को लेट आएगी और हमने डिस्को मे जाना है और मैने तेरे से एक बात भी करनी है, चल तू मेरे साथ.

मामी ने रामू को चाय का कह दिया और मुझे बाल्कनी मे ले गई और उन्होने अब अपनी शॉर्ट ब्लॅक ड्रेस भी डाल ली जिसमे वो बहोत ही ज़्यादा सेक्सी लग रही थी की तभी रामू भी चाय ले कर आ गया और उन्हे आँखे फाड़-फाड़ कर देखने लग गया और फिर मामी बोली – देखा नही क्या पहले नंगे जिस्म जो अब घूर-घूर कर देख रहा है.

रामू – मालकिन आप बहोत मस्त लग रही हो और ऐसे ड्रेस आप छोटी मालकिन को भी दिला दो.

मामी ने मेरी तरफ देखते हुए कहा- इसका मतलब तूने सुप्रिया पर हाथ रख ही दिया, चल ठीक है 10 दिन वो यहा है फिर तू इसे बाहर घुमा लाना और तभी ड्रेस दिलवा देना.

मैं मामी की बात सुनकर हैरान थी की तभी फिर मामी मुझसे बोली – सुप्रिया देखना आज डिस्को मे कितने मर्द मेरे बूब्स और चुत्तर दबाते है, मैं कितनो को दीवाना बनाती हूँ और रही रामू की बात इसका लंड भी मैं मूह मे ले कर चूस लेती हूँ और महीने मे 2 बार चुदवा भी लेती हूँ और ये बात तुम्हारे मामा जी भी जानते है.

अब मामी ने रामू से कहा – रामू देख इसे ऐसे ही आधे नंगे कपड़ो मे बाजार मे लेकर जाना ताकि इसका डर ख़तम हो जाए और अगर कोई इसके बुब्स पर हाथ लगाए तो रोकना मत बस इसे संभाल लेना.

मुझे मामी की बात कुछ अजीब सी लगी पर खैर वो तो मुझे मॉडर्न बनाना चाहती थी इसलिए मैं कुछ बोली नही और फिर मामी को रामू के कमरे पर रात वाली बात बता दी तो मामी ने मुझे रात को उसके पास जाने की पर्मिशन दे दी और ये भी कह दिया की सुबह जल्दी अपने रूम मे आजाना और रामू को भी समझा दिया की रात भर सिर्फ़ इसका मूह ही चोदना और चूत तो सिर्फ़ एक बार ही चोदनि है.

अब मामी की ये बात सुनकर रामू बोला – मेरा तो इसे सारी रात चोदने का प्लान था पर आपने तो सब बिगाड़ दिया.

मामी – तू टेन्षन मत ले तू मुझे बुला लियो और मेरी गॅंड भी मार लियो. पर हाँ इसे तूने ही ट्रेंड करना है ताकि इसे अब कुल्लू को भी दे और ये असली औरत का मज़ा ले सके.

मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया कहानी को ‘लाइक’ ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये दौर देसीकाहानी पर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

मैं उनकी बात समझ नही पा रही थी की आख़िर ये कुल्लू कोन था तो मामी बोली- चल तू तैय्यार होज़ा इसके बारे मे कल बताउन्गि.

मैं भी शॉर्ट स्कर्ट और टॉप डाल कर तैय्यार हो गई और मैने नीचे कुछ भी नही डाला पर मुझे स्कर्ट बड़ी लगी तो मामी ने मुझे अपनी अल्मारी से एक स्कर्ट देदि जो की छोटी थी और वो काफ़ी नीचे की ऐर बाद रखी थी और फिर मैं हाइ हील सॅंडल डाल कर रामू के लंड को एक बार दबा कर बाहर आ गई और जब नीचे कार के पास आई तो सबकी आँखे फटी की फटी रह गई.