मामी की सेक्स की अंतर्वसना शांत की

मैं अनिकेत हूँ 21 साल का हूँ और यह कहानी तब की है जब मैं 13 क्लास मे था मुझे अपनी मामी 9त क्लास से ही सेक्सी और हॉट लगती है, उनके बूब्स मीडियम साइज़ के है बुत गांद बहुत ही ज़्यादा बड़ी है और जब चलती है तो ऐसे हिलती है की बिना लंड हीले पानी निकल जाए बहुत हॉट है मामी यार.

तो मैं जब भी मामी के घर जाया करता था, तो मैं उनकी पनटी स्मेल करता था और मूठ मरता था और माल उनकी ब्रा मैं छोड़ देता था. मैं उनके सूट की अंडर आर्म्स भी स्मेल करता था और बहुत मस्त हो जाता था, मैं उनके बदन की खुश्बू सूंघ कर.

मेरे मामा का किसी और के साथ रीलेशन था और यह मामी को पता था और मुझे भी, मामा जॉब करते थे और घर बहुत कम आते थे. मामी के साथ अब सेक्स नही करते थे.

यह मुझे 100% पता है की मामी अनसॅटिस्फाइड थी और अभी जवान भी थी, तो मैं उनसे बहुत फ्रॅंक था. उनको मेरी गफ़ के बारे में पता था और जब मेरा ब्रेकप हुआ तब भी मैने सबसे पहले अपनी मामी को बताया.

तो मैं मज़ाक मज़ाक में उन्हे यह भी कह देता था की मामी आप काश मेरी उमर की होती मैं आपसे शादी करता और आपको बहुत खुश रखता.

एक दिन मैने उन्हे पॉर्नस्टार की पिक भेज दी जिसके बहुत बड़े बूब्स थे और मामी ने गुस्से से पूछा यह क्या है.

तो मैने कहा ओह सॉरी मामी जी ग़लती से सेंड होगया किसी और को भेजनी थी.

फिर उन्होने कहा इट्स ओक.

तो मामी जी की जॉब लग गयइ और नानी नाना जी का ख्याल रखने वाला कोई नही था घर मे, तो मम्मी ने मुझे कहा की अपने मामा के घर रहना पड़ेगा तुझे अबसे. तो मैं बहुत खुश हुआ और झट से हा कहा और बॅग्स पॅक करके उनके घर चला आया और वही रहने लगा.

तो मैं बहुत खुश था क्योंकि रोज मामी की पनटी और ब्रा स्मेल करने को मिलती थी और मामी को निहारता था मैं, जब वो झाड़ू लगती तब उनके चुचों को देखता उनके कर्व्स बहुत ही सेक्सी थे, थोड़ा सा पेट था मामी का एक बेटा था जो हॉस्टिल में पढ़ता था.

एक दिन मैं अपने लॅपटॉप पे chudai kahani पर एक कहानी पढ़ रा था, मामी भनजे की चुदाई और साथ ही दूसरे पेज पेर पॉर्न खुला हुआ था, एक दम मेरे दोस्त का मुझे फोन आया की और मुझे जल्दी जाना पड़ा और मैं ग़लती से अपना लॅपटॉप ऑन ही छोड़ दिया..

मुझे नही पता था की मामी जी के आने का टाइम हो रहा था, मामी जब घर आई (यह बात उन्होने बाद में मुझे बताई की मैने केसे तेरे लॅपटॉप में देखा की तू मामी भनजे की चुदाई स्टोरीस पढ़ता है).

तो उन्होने मेरा लॅपटॉप चलाया और उसमे उन्होने मामी भनजे की स्टोरी पढ़ी, उसे पढ़ कर वो भी गरम हो गयइ. उन्होने समझ लिया की अंकित मुझे चोदना चाहता है और थोड़ी पॉर्न देखी और चली गयइ.

मैने घर आके देखा मेरा लॅपटॉप ऑन पड़ा है और मैने देखा की वो उसे भी किया हुआ है. मैने देखा मामी भी मुझे अलग अलग तरह से देखने लगी एक्सपोज़ करने लगी, गॅंड निकल निकल के चलने लगी, तो मैं भी उनसे अट्रॅक्ट होने ल्गा.

एक दिन मेरे मन में ख्याल आया की मामी को नंगा देखा जाए, मेरे पास कॅमरा पेन था, मैं बातरूम में जाके अपनी शर्ट में लगा के वो लटका आया वही और मामी नहाने चली गयइ.

More Sexy Stories  मछली की तरह तडपा कर जन्नत

मैं वेट करने लगा की कब मामी बाहर आएँगी तो मामी बाहर आई और तैयार होके चली गयइ, मैं झट से बातरूम में गया और अपना पेन उठाया उसकी पेंद्रीवे कंप्यूटर में लगाई और वीडियो चलाई.

उसमे मामी ने जाते ही अपने अपने कपड़े उतरे और ब्रा उतरी, उनके बूब्स देख कर मेरा खड़ा हो गया, गोल गोल चुचे एक दूं मस्त लग रहे थे.

उन्होने पनटी उतरी तो उनकी चूत एक दूं क्लीन शेव्ड थी और मैने यह देख कर मूठ मारी और फिर मामी के आने का जब टाइम हुआ मैं लॅपटॉप ऑन छोड़ कर पेन कॅमरा रूम में लगा कर चला गया.

जब मैं शाम को आया, तो मैने सीधा वो पेन वाली पेंद्रीवे लॅपटॉप में लगाई और देखा की मामी ने सीधा मूह हाथ धूके रूम में आई और सीधा लॅपटॉप चलाने लगी और वो स्टोरीस पढ़ रही थी और अपने बूब्स आराम आराम से प्रेस कर रही थी और मज़्ज़े ले रही थी.

फिर मामी ने पॉर्न लगाई और लॅपटॉप साइड में र्खा और अपने पनटी में हाथ डाल कर फिंगरिंग करने लगी और ये देख कर मैं पूरा गरम हो गया.

तो अब वो दिन आ गया जिस दिन मुझे उनका जलवा देखने को मिला, तो उस दिन मामी का पेपर था देल्ही जॉब का, तो मामा जी ने तो माना कर दिया,

तो नाना जी ने कहा की अंकित तू चला जा अपनी मामी के साथ.

मैं तैयार हो गया और शाम की बस से हम चले गये रोडवेस बस से, तो सुबा 10 बजे पेपर था तो हुँने सोचा रात होटेल में बीतायँगे सुबह पेपर देने चले जयनगे.

जब बस में अंधेरा हो गया तब थोड़ी देर में मामी सो गयइ और मैं गरम हो रहा था, मैने अपने लंड पे हाथ फेरने लगा और फिर मैने मामी के बूब्स पर हाथ फेरने लगा.

मामी को पता नही चला मेरी और हिम्मत बढ़ी तो मैने थोड़ा सा बूब्स प्रेस किया और फिर और हिम्मत करके उपर गले में से ब्रा में हाथ डाल लिया और बूब्स प्रेस करने लगा.

मामी जाग गई तो मैने हाथ निकल कर सोने की आक्टिंग की तो मामी दोबारा सोने लगी, फिर सुबह हम देल्ही पहुंच गये हमने होटेल लिया तो मामी फ्रेश होने गयइ और बाहर गई तो मैं टेंशन मैं बैठा हुआ था.

तो मामी ने पूछा अंकित क्या हुआ.

तो मैने कहा मामी मुझे पेंट में नींद नही आती.

मामी ने कहा फिर क्या हुआ शॉर्ट्स पहनले.

मैने कहा मामी वो लाना भूल गया.

तो मामी ने कहा की अंडरवेर में ही सो जाओ.

तो मैने कहा की चलो ठीक है और मैं पंत उतरी और मैं जॉकी ओरिजिनल्स का अंडरवेर पहना था जो की बहुत पतला था उसमे लंड खड़ा हुआ सॉफ दिखता है, तो हम सोने लगे पर मुझे नींद कहा आने वाली थी, मामी मेरी तरफ़ पीठ करके सो रही था.

मैं आयेज बढ़ा और उनकी गॅंड पे लंड प्रेस करने लगा, लंड उनकी गॅंड का चुभ रहा था, उनकी पीठ पर हाथ फेर रहा था आराम आराम से, फिर मेरी हिम्मत बढ़ी और मैं उनकी नाइटी मैं हाथ डाल कर बूब्स प्रेस करने लगा मामी जाग गई और मामी झट से बोली अंकित यह क्या कर रहे हो?

मैने कहा मामी आप मुझे बहुत ही सेक्सी और हॉट लगती हो, मैं आपके साथ सेक्स करना चाहता हूँ.

मामी गुस्सा दिखाते हुए यह तुम क्या कह रहे हो मैं तुमहरि मामी हूँ.

More Sexy Stories  बहिणीची सील पेक पुच्ची

तो मैं बोला की मुझे पता है आप मेरी मामी हो बॅट आप हो तो औरत ही ना और औरत आदमी का रिश्ता सिर्फ़ जिस्म का होता है.

तो मामी गुस्सा दिखाने लगी, पर मुझसे रहा नही गया और मैने अपने फोन में उनको वो वीडियो दिखाई जिसमे वो लॅपटॉप पे मामी भनजे की चुदाई स्टोरी पढ़ कर फिंगरिंग कर रही थी, तो वो एक दम से बोली और तू भी तो बस मैं मेरे बूब्स प्रेस कर रहा था.

मैने कुछ बोला तुझे समझ जाना चाहिए था

तो मैने झट से उन्हे बाहों में लिया और किस करने लगा और उनकी बूब्स सक करने लगा, तो मामी बहुत गरम हो गयइ और आहें भरने लगी आआहह ऊओह आंन्नक्कीित्तत्त चूसो मेरे चुचे निपल्स बीते करो अंकित मुझे सॅटिस्फाइ करदो आज पूरा.

फिर मैने उन्हे पूरी नंगी कर दिया और उन्होने भी मेरे सारे कपड़े उतरे और मेरा लंड को हाथ में लेके हिलने लगी.

तो मैने कहा मामी चूसो ना.

फिर मामी ने कहा की नही अंकित मैने यह कभी नही किया है.

मैने कहा की आज करके देखो मामी बहुत मज़्ज़ा आयगा.

तो उन्होने मेरा लंड मूह में लिया और आराम आराम से चूसने लगी.

थोड़ी देर बाद मैने उनका सिर पकड़ा और उनके मूह को चोदने लगा और आपना सारा माल उनके मूह में डाल दिया और वो सारा पी गयइ और मैं उनके साइड मैं लाते गया.

फिर मैने उनकी पनटी उतरी और क्लीन शेव्ड पुसी को सक करने लगा लीक करने लगा, मामी बहुत होगया इससे ऊओह अहह बेबी अहह उम्म्म्ममम लीक इट अंकित लीक इट और मैं चाट ता गया और थोड़ी देर बाद उनका पानी छूट गया और मेरे मूह मैं अगया मैने सारा पी लिया.

फिर मामी ने कहा मुझे अब और मत तड़पाव, तो मैने लंड सीधा उनकी चूत पे रखा और ज़ोर का झटका मारा और आधा लंड अंदर चला गया और मामी चीखने लगी बाहर निकालो .

मैने देर ना करते हुए एक और धक्का मारा पूरा लंड अंदर चला गया और मामी की आँखो से आँसू आ गये, फिर मैने उन्हे लीप किस करी उनका दर्द जब कम हुआ तब चुदाई शुरू की आअहह अहहह्ा आहह ऊओह ओह चोदो मुझे मैं तेज़ तेज़ चोदने लगा.

मामी दर्द और गुस्से से बोली मैं कहीं भाग रही हूँ क्या आराम से डालो, फिर मैं आराम आराम से झटके मरने लगा.

तो वो बोली अब इतना भी आराम से नही बोला.

फिर मैं स्टार्ट हो गया पूरे 20 मिनिट्स तक अलग स्टाइल मे चोदने के बाद मेरा माल निकलने वाला था.

तो मैने कहा निकालून मामी?

तो वो बोली अंदर ही डाल कर मेरी आग बुझा दो मैं बाद मे गोली ले लूँगी और 6-7 झटको के बाद मैने उनकी चूत के अंदर ही अपना माल निकल दिया और उनके उपर ही लेट गया.

फिर कुछ देर बाद मामी ने मुझे अपने उपर से उठाया और कहा आज कई साल बाद ऐसा मज़ा आया है, उन्होने बताया की तेरे मामा अब मेरे साथ सेक्स नही करते

फिर मैने मामी से कहा की मामी अब मैं आपकी गॅंड मारना चाहता हूँ.

तो मामी ने कहा की अंकित नही आज नही मुझे कल पेपर देने जाना है चला नही जायगा.

तो मैं भी मान गया और मामी ने मुझे कहा की कल पेपर शाम तक ख़तम होगा तो घर कह देंगे की हम परसों आएँगे और कल भी पूरा मज़ा करेंगे अंकित! और मैने फिर एक बार मामी की चुदाई की और सो गया.

Pages: 1 2