मालकिन के साथ नौकरानी के मजे

मैं विक्की एक बार फिर से अपनी कहानियों को लेकर आपके सामने हाजिर हूं. आपने पिछली की कहानियों में पढ़ा कि कैसे ट्रेन में मेरी मुलाक़ात एक खूबसूरत हसीन औरत रेशमा से हुई और मैंने उसकी मस्त चुदाई की उसके ही घर रांची जाकर!
आपने यह भी पढ़ा होगा कि वहीं पर उसकी नौकरानी भी मुझसे अपनी चूत चुदवाने के लिए आतुर थी.
उसकी नौकरानी भी उसी के पास रहती है उसी मकान में एक छोटा सा रूम उसे दिया हुआ था.

रेशमा की जोरदार चुदाई करने के बाद मैं सो गया. दिन में करीब 10:00 बजे के आसपास नौकरानी ने दरवाजा खटखटाया. मैंने दरवाजा खोला तो देखा कि वह दो गिलास में केसर और बादाम का दूध लेकर आयी थी और दरवाजा खुलते ही प्यार से मुस्कुरा कर उसने मेरा अभिवादन किया और बोली- यह दूध पी लीजिए … अभी बहुत काम आपको करना है!

मैंने पीछे मुड़ कर रूम में देखा तो रेशमा गहरी निद्रा में सो रही थी, मैंने रूम का दरवाजा बाहर से लगा दिया और उसके हाथ में पकड़े दोनों की ग्लास को प्यार से लेकर डाइनिंग टेबल पर रख दिया और उसे अपनी ओर खींच कर एक लंबा सा किस किया.
वह मुझे धकेलते हुए बोली- पहले दूध पी लीजिए! और उसके बाद मुझे अभी लंच के लिए तैयारियां करनी हैं. नहीं तो मैडम गुस्सा करेंगी.
और वो मुझसे छुड़ाकर जाने लगी. मैंने उसका हाथ पकड़ा और फिर से अपनी ओर खींचा और उसकी चूची बहुत जोर से दबा दी. वह दबे से स्वर में आ आह करती हुई रह गई और बोली- अब मुझे जाने दीजिए!

मैं भी उसे छोड़ दिया और जाने दिया.
वो जाते हुए मुझे तिरछी नजर से देखती हुई रसोई में चली गई.

मैंने दोनों ग्लास का केसर और बादाम वाला दूध पी लिया. फिर मैं रेशमा के रूम में आया, देखा कि रेशमा सोई हुई थी, मैं उसके बगल में लेट गया और उसके जिस्म को देखने लगा.
क्या खूबसूरत उसका बदन था … सब कुछ बहुत अच्छा था … उसके बदन का साइज 34 30 34 था, मुझे इस साइज की औरतें बहुत पसंद आती हैं इसलिए मैं उसे गौर से निहार रहा था.
फिर मैं उसके बालों पर हाथ फिराने लगा. पता नहीं क्यूं … लगता था कि वह मेरे आने का इंतजार ही कर रही थी, उसके बालों में हाथ फिराते ही वह मेरे करीब आकर मुझसे बिल्कुल लिपट गई और बोली- विक्की मैं तुम्हारी हो गई हूं. तुमने मुझे पूर्णरूपेण संतुष्ट कर दिया है. आज मैं बहुत खुश हूं.

More Sexy Stories  जाटणी के यार से अपनी चूत की प्यास बुझवाई

फिर मैंने दिन में 2 बार और उसकी जमकर चुदाई की. शाम को हम मार्केट गए तो वहां से वियाग्रा की एक गोली ले ली थी. रात में डिनर के बाद उसने मुझे बादाम का गाढ़ा दूध पिलाया.
मैंने उसको छेड़ते हुए कहा- असल में तो मुझे तुम्हारी चूची का दूध पीना है मसल मसल कर!
“हाँ मेरे राजा … इनका दूध भी पी लेना!”

मैं उसे पास खींच कर उसके होठों पर किस करने लगा क्योंकि मैंने खाने से डेढ़ घंटे पहले वियाग्रा खा लिया था तो मैं पूरा जोश में था और फिर उस टाइम भी मैंने रेशमा की जमकर चुदाई की. उसके बाद उसके शरीर में ताकत नहीं बची थी कि फिर से वह मुझसे कहे कि फिर से चुदाई करें!
परंतु मेरा मन कहां भरने वाला था.

रेशमा तो सो गई थी, तब मुझे नौकरानी की ख्याल आ गया, मैं रेशमा को सोती हुई छोड़कर रूम के बाहर आ गया और नौकरानी को खोजने लगा.
वो वहीं हाल में ही सोफे पर बैठी टीवी देख रही थी.

मैं आपको नौकरानी का नाम बता देता हूं उसका नाम सबीना था. सबीना एक मस्त लड़की थी, उसकी अभी तक शादी नहीं हुई थी लेकिन चुदाई का स्वाद बहुत बार ले चुकी थी. वह कहते हैं ना कि बड़े घर की औरतें भी बड़ी हसीन होती हैं और उनकी नौकरानी भी मदमस्त होती हैं. ऐसे ही सबीना भी बिल्कुल मस्त थी, उसने भी अपनी फिगर को मेंटेन की हुई थी. उसकी उम्र लगभग 23 साल थी. पूछने पर उसने बताया था कि वो कम उम्र में ही चुदाई कर चुकी थी, अब तक जब मौका मिलता है तब कर लेती है.

More Sexy Stories  आंटी ने अपनी दुकान में गांड मरवाई

फिर उस बात को छोड़िए खैर उस बात को छोड़िये … सबीना ने मुझे देखा तो मुस्कुरा कर बोली- मैडम को परेशान कर लिया?
मैं भी मुस्कुरा कर बोला- हां सबीना, तुम्हारी मैडम तो सो गई!
और मैं अपने लंड की तरफ इशारा करते हुए बोला- तुम्हारी मैडम का यह बाबू अभी तक जाग ही रहा है और मैडम आप कुछ करने को राजी नहीं है.
तो सबीना ने कहा- मैडम के शरारती बाबू को मैं शांत कर दूंगी!

और वो सोफे से उठकर मेरे पास आई, मेरा हाथ पकड़ कर अपने रूम की ओर ले जाने लगी. मैं तो पहले से जोश में था, मैंने उसे पकड़ कर अपनी ओर खींचा, उसे गोद में उठा लिया और उसको उसके रूम की ओर ले जाने लगा.
रूम में ले जाकर उसे उसके बेड पर पटक दिया. उसने स्कर्ट और शर्ट पहनी हुई थी.

मैंने फटाफट उसकी स्कर्ट को हटा दिया और शर्ट को भी हटा दिया और उसकी चूची जोर जोर से दबाने लगा, साथ साथ किस भी करने लगा.
वह मेरा पूरा साथ दे रही थी और मेरे हर चुंबन का बड़ी ही बेदर्दी तरीके से जवाब दे रही थी.

मैं भी उस पल को पूरा एंजॉय कर रहा था. इसी तरह कुछ देर उसे चूसने के बाद वह मेरे लंड को सहलाने लगी और बोली- बहुत तड़पाया है इसने सुबह से ही … रेशमा मैडम ने तो तीन चार बार ले लिया है पर मुझे एक बार भी नहीं मिला है. अब यह रात मेरी है!
मैंने कहा- जैसा कहो मेरी जान!
मैंने उसे कहा- मेरा लंड चूस लोगी?
तभी उसने पलट कर जवाब दिया- नेकी और पूछ पूछ!

Pages: 1 2