आपा की कुंवारी बुर में भाई का लंड घुसा

बड़ी बहन चुदाई कहानी हिंदी में पढ़ें कि मैं अपनी आपा को पसंद करता था, उनकी बुर चोद कर मजा लेना चाहता था. मैंने कैसे आपा को गर्म करके उनकी चूत की सील तोड़ी.

दोस्तो,
मेरा नाम आसिफ अंसारी है. मेरी उम्र 19 साल है और कद 5 फुट 6 इंच का है.

अब मैं अपनी फैमिली के बारे में बता देता हूँ.
मेरे घर में 4 लोग हैं. अम्मी अब्बू और मेरी आपा और मैं.

मेरी आपा का नाम सबीना अंसारी है और वो 20 साल की है. मेरे अब्बू काम के सिलसिले में बाहर रहते हैं और अम्मी सरकारी टीचर हैं.

यह बड़ी बहन चुदाई कहानी हिंदी तब की है, जब अम्मी एक दिन किसी रिश्तेदार के घर शादी में गयी थीं. उन्हें एक हफ्ते तक वहीं रहना था.

मैं और आपा घर पर ही थे क्योंकि हमारा शादी में जाने का मन नहीं था.
ये बात आज से 3 महीने पहले की है.

वो 15 जून 2021 का दिन था.

मैं अपनी आपा को पहले से ही चोदना चाहता था.
उस दिन अम्मी चली गयी थीं, उन्हें वापस नहीं आना था इसलिए रात का खाना आपा ने बनाया.

हम दोनों ने खाना खाया और सोने के लिए कमरे में जाने लगे.

तभी आपा ने कहा- चलो मेरे कमरे में सो जाओ.
मेरी तो बल्ले बल्ले हो गई.

हम दोनों सोने लगे.
मुझे तो नींद नहीं आ रही थी और आपा सो गई थी.

मैंने आपा को धीरे से हिला कर देखा तो वो गहरी नींद में सो रही थी.
फिर मैंने अपना एक हाथ आपा के बूब्स पर रख दिया.

कुछ देर बाद बूब्स को हल्का हल्का दबाने लगा.
मुझे बड़ा मजा आ रहा था.

फिर अपनी एक उंगली को आपा के होंठों पर रख कर उंगली को उनके मुँह में डाल दिया.
वो गहरी नींद में सो रही थीं, उन्होंने कुछ भी रिएक्ट नहीं किया.

फिर मैं एक हाथ आपा के लहंगे के ऊपर ले गया और कपड़ों के ऊपर से ही आपा की चूत को सहलाने लगा था.
ऐसा करने से मेरा लंबा खीरे सा मोटा लंड खड़ा हो गया.

तभी आपा ने करवट बदल ली और मैंने अपने दोनों हाथ हटा लिए.
मैंने सोचा कि आपा उठ गई हैं, पर आपा गहरी नींद में थी.

अब आपा ने अपनी गांड मेरी तरफ कर दी थी और वो सो गई थी.
मैंने अपने खड़े लंड को आपा की गांड में दबाने लगा.

काफी देर तक मैं ऐसा करता रहा.
जब मुझे लगा मेरे लंड से माल निकलने वाला है तो मैं तुरंत बाथरूम में जाकर मुठ मार कर ठंडा हो गया.
उस रात इससे ज्यादा कुछ नहीं हुआ.

सुबह 8 बजे मैं उठा, फ्रेश हुआ और नाश्ता किया.
फिर मैंने आपा से कहा- मैं बाहर जा रहा हूँ. दो घंटे आ जाऊंगा.

फिर 2 घंटे बाद मैं घर आ गया और आपा के साथ मैंने दोपहर का लंच किया.

लंच करते करते आपा ने मुझसे पूछा- तेरी कोई गर्लफ़्रेंड है?
मैं उसके इस सवाल से एकदम से चौंक गया कि आपा ये क्या पूछ रही हैं.

मैंने कहा- नहीं.
आपा ने कुछ नहीं कहा.

फिर मैंने भी आपा से पूछा- आपा आपका कोई बॉयफ्रेंड है?
तो आपा ने भी नहीं कहा.

फिर आपा ने कहा- चलो रूम में मूवी देखते हैं.
मैंने कहा- ओके.

मैंने एक हिंदी मूवी लगा दी.
थोड़ी देर बाद आपा बोली- कोई हॉलीवुड मूवी लगाओ, जिसमें रोमांस हो.

तो मैंने एक हॉलीवुड मूवी लगा दी. उस मूवी में सेक्स भी था.

उस दिन आपा ने एक ब्लैक कलर की शर्ट और एक वाइट कलर का स्कर्ट पहनी हुई थी.

कुछ देर बाद मूवी में सेक्स वाला सीन आ गया.
आपा देखने लगी और उसने धीरे से अपना एक दूध दबा दिया.

मैंने उसकी तरफ देखा.
तो वो बोली- आसिफ मूवी बंद कर दो, मुझे नींद आ रही है.
मैंने कहा- ओके.

मूवी बंद करके कुछ देर तक हम दोनों में कुछ बात हुई.

बात करते करते मैंने आपा से कहा- आपा आपसे एक बात बोलूं, आप गुस्सा तो नहीं होगी ना!
आपा ने कहा- बोलो क्या बात है?

मैं बहुत हिम्मत करके आपा से बोला- आपा आप बहुत खूबसूरत हो, मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ आई लव यू!
आपा बोली- पागल हो क्या, मैं तुम्हारी बहन हूँ. अपनी बहन के बारे में ऐसा सोचते हो तुम?

मैं बोला- आपा प्लीज आप मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ न प्लीज़. मैं आपको बहुत खुश रखूंगा.
इस पर आपा वहां से चली गई.

फिर उस रात मैं अपने कमरे में सो गया.
सुबह जल्दी उठ कर बाहर सिगरेट पीने चला गया.

फिर दोपहर एक बजे घर आया तो आपा ने पूछा- कहां गया था?
मैं कुछ नहीं बोला, अपने कमरे में चला गया.

आपा भी मेरे कमरे में आ गयी और बोली- आसिफ तुम मेरे भाई हो, मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड कैसे बन सकती हूं. बाहर वाले क्या सोचेंगे?

तो मैंने कहा- बाहर कैसे पता चलेगा, मैं तो किसी से नहीं बोलूंगा … क्या आप किसी से कहोगी?
तो आपा ने कहा- मैं पागल हूँ क्या, जो बोलूंगी.

मैंने बोला- तो बन जाओ न!
आपा बोली- नहीं आसिफ तुम मेरे भाई हो, मुझसे ये सब मत कहो.

फिर मैं गुस्सा होकर दूसरी तरफ मुँह करके बैठ गया.
कुछ देर बाद आपा बोली- आसिफ मेरी तरफ देखो.

मैं पलट गया तो आपा बोली- ठीक है, मैं तेरी गर्लफ्रेंड बनने के लिए तैयार हूं, पर कभी भी ये बात किसी को भी पता नहीं चलना चाहिए कि मैं तेरी गर्लफ्रेंड हूँ.
मैंने कहा- कसम से आपा, किसी को पता नहीं चलेगा.

More Sexy Stories  बॉयफ्रेंड के दोस्तों का लंड लिया

आपा बोली- ठीक है, आखिर तुम मेरे भाई हो. तुम मेरा हर काम करते हो तो मैं भी इतना कर ही सकती हूं कि अपने भाई का लंड चूस लूं.
उसने जब लंड चूसने की बात कही, तो मैं समझ गया कि ये भी अपने भाई से चुदने के लिए मचल रही है.

अब हम दोनों हंस दिए.

बस अब भाई बहन चुदाई शुरू होने को थी.

मैंने आपा से कहा- आपा आप अभी मेरी जान हो जाएं.
आपा बोली- रात होने तक का सब्र करो मेरे भाई जान, अब तो समझो मैं तुम्हारी जान हो ही गयी हूँ, जरा सब्र करो.

मैंने कहा- आपा सब्र नहीं होता.
आपा- सब्र करो मेरे भाई, सब्र का फल मीठा होता है.

मैं- ठीक है आपा जब आप इतना बोल रही हो कि सब्र का फल मीठा होता है, तो रात तक रुक जाता हूं.
आपा- वैसे आसिफ तुमने मुझमें ऐसा क्या देखा, जो तुम मुझे इतना प्यार करने लगे हो और मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बनाने का सोचा?

मैं- आपा, आपकी मदमस्त फिगर मुझे आपका दीवाना बनाती है. आपके 34 इंच के बूब्स और 36 की इंच गांड को देख कर मैं आपसे प्यार करने लगा हूँ.
आपा- पागल बूब्स मत बोल, चूची बोल … बूब्स में वो फीलिंग्स नहीं है, जो चूची कहने में है.

मैं- ओके. आपा आपकी चूचियां बड़ी मस्त माल हैं. आपा अब मैं भी एक बात पूछूं?
आपा- हां पूछो.

‘क्या आपने चुदाई का मजा ले लिया है?’
‘नहीं मैं अभी कुंवारी हूँ. मीरी चूत सीलपैक है.’

मैं- तो फिर क्या मैं आपको कंडोम लगा कर चोदूं या बिना कंडोम के?
आपा- बिना कंडोम के … क्योंकि मैंने नेट पर पढ़ा था कि बिना कंडोम के ज्यादा मजा आता है.

मैं- ओके मेरी आपा डार्लिंग.
आपा- चलो अब बाद में बात होगी शाम हो गई है, अभी मुझे खाना बनाना है फिर नहाना भी है. तब तक तुम अब साफ़ सफाई करके नहा लो, समझ गए मेरी जान.

मैंने कहा- हां आपा, आप भी साफ़ सफाई कर लेना.
हम दोनों समझ गए कि लंड चूत के पास उगा जंगल साफ़ करने की बात चल रही है.

फिर रात हो गयी.
हम दोनों खाना खाने बैठ गए थे.

उस वक्त आपा नहाकर एक वाइट कलर की शर्ट और पिंक कलर का शॉर्ट स्कर्ट पहनी हुई थी.
आपा वैसे भी घर में ऐसे ही कपड़े पहनती थी मगर आज तो वो और भी ज्यादा हॉट लग रही थी.

हम दोनों डिनर करके एक साथ आपा के रूम में चले गए.
फिर आपा ने रूम का दरवाजा लॉक कर दिया. वैसे तो घर पर कोई था नहीं, पर फिर भी लॉक कर दिया.

आपा बेड पर बैठ गई थी.

आपा- आओ मेरी जान, अब मुहब्बत का खेल शुरू करते है।
मैं- हां आपा जान.

आपा- आपा मत बोलो, अब तो मैं तुम्हारी हो गयी हूँ. तुम सबीना बोलो, सबीना डार्लिंग बोलो. अब तो आपा सिर्फ दुनिया के लिए और सिर्फ नाम की हूँ. मैं सिर्फ तुम्हारी ही हूँ और किसी की नहीं. मैं निकाह भी तुमसे ही करूँगी. तुम मेरे खाविन्द हो.

फिर मैं आपा के पास आ गया. उसको लिप किस करने लगा और आपा भी पूरा साथ दे रही थी.

बहुत देर तक किस करने के बाद मैंने आपा की एक चूची के दाने को मसलना शुरू कर दिया.
फिर धीरे धीरे सबीना आपा की शर्ट के बटन खोल कर उसकी शर्ट को निकाल दिया.

सबीना आपा ने अन्दर काली ब्रा पहनी थी.
क्या गजब की रंडी लग रही थी. साली की बड़ी बड़ी चूचियां ब्रा में कैद थीं.

आपा बोली- आसिफ जान, मेरी चूचियों को इस ब्रा से आजाद कर दो और इन्हें खूब चूसो. आह आज पहली बार किसी लड़के ने मुझे इस तरह देखा है और वो भी मेरे सगे छोटे भाई ने … आआहह भाई चूसो अपनी बहन की चूची को … आआह आआह हह हहह.

मैं अपनी सगी बहन की एक चूची को चूसने लगा, फिर दूसरी को चूसा.
वो भी मस्ती से अपने भाई को अपने दूध चुसवाती रही.

कोई बीस मिनट तक बहन के दोनों दूध चूसने के बाद मैं सबीना के पेट को चूमने लगा. फिर उसकी नाभि को, फिर धीरे धीरे चूत के पास आ गया.

बहन की चूत को मैं उसकी लहंगे के ऊपर से ही सहला रहा था.
वो बोली- इसे भी हटा दो.

मैंने सबीना आपा का लहंगा निकाल दिया. उसने अन्दर लाल रंग की पैंटी पहनी थी.

मैंने जोश में उसे फाड़ दिया.
इस पर सबीना हंस कर बोली- मेरी पैंटी क्यों फाड़ दी जान?

मैंने कहा- अभी सिर्फ पैंटी फाड़ी है, कुछ देर बाद तुम्हारी चूत भी फाड़ूंगा.
इस पर सबीना बोली- अच्छा भाई, तेरा जो मन करे फाड़ लेना. अब तो मैं तुम्हारी ही हूँ.

फिर मैंने आपा की चूत को देखा, एकदम साफ चिकनी!
मैंने आपा से पूछा- सबीना डार्लिंग, ये कब किया?

आपा बोली- मेरी जान शाम को जब नहाने गयी थी, तब मैंने सोचा कि मैं अपने भाई को सब कुछ फ्रेश दूंगी. सब कुछ साफ. मैंने तुमसे भी झांटें साफ़ करने का कहा था, की या नहीं?
मैंने कहा- ओह आई लव यू सबीना डार्लिंग. मैंने भी लंड साफ़ कर लिया है.

आपा भी बोली- आई लव यू टू मेरे भाई.
मैं उसकी चूत में उंगली फेरने लगा.

आपा बोली- अब चूत को चाटोगे भी या ऐसे ही गर्म करते रहोगे?
मैंने बहन की चूत को चाटना शुरू कर दिया. आपा के मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं.

‘आ आहह हहह आ आहह आसिफ भाई चाटो और चाटो और तेज …’
कुछ मिनट चूत चाटने के बाद आपा झड़ गयी और ठंडी हो गयी.

More Sexy Stories  लॉकडाउन में फंसकर मस्त चूत चोदने को मिली

फिर आपा बोली- आसिफ, अपना लंड अपनी सबीना आपा से नहीं चटवाओगे क्या? जो अब तेरी बीवी बन जाएगी.
मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और अपनी बहन के सामने नंगा हो गया.

अब हम दोनों भाई बहन पूरे नंगे हो गए थे.
आपा ने मेरे लंड को देख कर कहा- वाह मेरे भाई क्या मस्त लंड है तुम्हारा. मैं हमेशा सोचती थी कि मुझे बड़े लंड वाला शौहर ही मिले और वो सपना आज सच हो गया.

फिर मैंने आपा के मुँह में अपना लंड लगा दिया.
आपा ने काफी देर तक लंड चाटा.

मैं आपा के मुँह में ही झड़ गया और आपा सारा रस पी गयी.

हम दोनों निढाल होकर लेट गए.
मैं अपनी आपा से चिपक कर लेट गया.

कुछ देर बाद हम दोनों में फिर से चूमाचाटी शुरू हो गई. हम दोनों ही गर्म हो गए.

आपा बोली- आसिफ डार्लिंग मेरी जान, चलो 69 की पोजीशन में आ जाते हैं.

हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए. कुछ मिनट तक फिर चुसाई का खेल चला.

अब आपा बोली- आसिफ डार्लिंग मेरी जान, मेरे शौहर, अब अपनी बहन को बीवी बना कर चोद दो. अपना लंड अपनी बहन की सीलपैक चूत में पेल डालो. अब नहीं रहा जा रहा है, जल्दी से मेरी बुर में लंड पेलो.

मैंने आपा को बेड पर सीधा लेटा दिया और आपा ने अपने दोनों पैर खोल दिए.

मैंने अपना लंड आपा की बुर पर रखा और लंड के सुपारे को आपा की बुर में रगड़ना शुरू किया.

आपा के मुँह से हल्की सी आहह हहह निकलना शुरू हो गयी.

फिर धीरे धीरे मैंने लंड पेलना शुरू किया.
मेरा आधा लंड आपा की बुर में चला गया.

आपा की हालत खराब होने लगी थी, उसकी आंखों में आंसू आ गए थे.
मगर वो बड़ी ही दिलेर थी. मेरे खीरे जैसे लौड़े को अपनी छोटी सी सीलपैक चूत में लिए जा रही थी.

फिर मैंने एक जोरदार झटका मारा और आपा की चूत में मेरा पूरा लंड घुस गया.
आपा की चूत से खून निकलने लगा और आपा बहुत तेज चिल्ला दी- हाय भाई मर गई, निकालो भाई प्लीज़.

पर मैं नहीं रुका; मैंने और एक झटका दे मारा.
आपा फिर से चिल्लाई.

मैं डर गया कि क्या हुआ.
मेरी जान सूख गई.
मैं रुक गया.

तभी आपा कराहती हुई बोली- भाई मेरी फट गई … आह जान अपनी बहन के ऊपर रहम मत करो. पेलते रहो … मेरा दर्द कम हो जाएगा. तुम पूरी ताकत से अपनी बहन को चोदो आहह लंड अन्दर तक पेलो.
मैंने फिर से अपनी रफ्तार बढ़ा दी और धक्का पेल शुरू हो गया.

फिर धीरे धीरे आपा को भी मजा आने लगा और वो बड़बड़ाने लगी- आह हहह उम्मह हह आह हहह … भाई चोदो … चोदो और तेज चोदो … अपनी बहन को! फक मी … फक मी हार्ड भाई … और तेज चोदो अपनी बहन को फाड़ दो मेरी चूत फाड़ दो और बना लो अपनी रखैल रंडी फाड़ दो आहहल्ला कसम सही बोल रही हूँ भाई बहुत मजा आ रहा है.

काफी देर तक चुदने के बाद आपा झड़ गई मगर मैं अभी भी आपा को चोद रहा था.

बहन की चूत चोदते हुए मैं बोल रहा था- लो आपा लो अपने भाई का लंड.

मैं बहुत तेज धक्का मार रहा था. मेरा लंड आपा की बच्चेदानी को ठोकर मार रहा था.

आपा कामुक सिसकारियां लिए जा रही थी- आहह भाई … और तेज चोदो आहह बहुत मजा आ रहा है अपने भाई से चुदा कर … अम्मी कसम भाई.

मैंने बीस मिनट से ज्यादा आपा को चोदा और कहा- आह सबीना डार्लिंग, मैं झड़ने वाला हूँ, जल्दी बोल … लौड़े का रस कहां निकालूं?
आपा ने कहा- अब मैं तुम्हारी बहन बाद में हूँ … बीवी पहले हूँ. शौहर अपनी बीवी की चूत में ही झड़ते हैं. तुम मेरी चूत में अपना सारा रस निकाल दो.

मैंने कहा- ओके मेरी जान.
फिर मैंने 10-12 धक्के देते हुए आपा की चूत में अपनी सारी मनी गिरा दी.
और तभी आपा ने एक बार फिर से अपनी चूत से पानी छोड़ दिया.

हम दोनों निढाल होकर एक दूसरे से चिपक कर लेट गए और किस करने लगे.

कुछ देर बाद आपा बोली- आसिफ मेरी जान, मेरे शौहर … तुमसे अपनी चूत चुदवा कर मुझे सच में बहुत मजा आया. अम्मी कसम, आसिफ तुमने मुझे खुश कर दिया. तुमने बोला था कि तुम मुझे खुश रखोगे … और सही में तुमने मुझे खुश कर दिया. आसिफ डार्लिंग जब तक अम्मी नहीं आतीं, तब तक हम घर में नंगे ही रहेंगे.
मैंने ओके कहा.

फिर आपा ने बातों ही बातों में कब मेरा लंड फिर से खड़ा कर दिया, कुछ पता ही नहीं चला.
मैंने आपा से पूछा- फिर से चुदवाने का इरादा है क्या?

तो आपा बोली- हां और सिर्फ आज ही नहीं, पूरी जिंदगी भर तुमसे चुदूँगी, वो भी तुमसे निकाह करके तुम्हारी बीवी बन कर तुम्हारे लंड से चुदाई का मजा लूंगी.
मैंने आपा को एक बार फिर से चोदना चालू कर दिया और बहन चुदाई का मजा लिया.

उस रात मैंने आपा को कई बार चोदा, फिर हम दोनों थक कर नंगे ही सो गए.

दोस्तो, कैसी लगी बड़ी बहन चुदाई कहानी हिंदी में?
मुझे ईमेल करके जरूर बताना.
बहुत जल्द फिर से एक नई सेक्स कहानी के साथ मिलूंगा!
[email protected]