गदरायी जवान बीवी की चूत गांड चुदाई

हॉट वाइफ फ़क का मजा तब आता है जब आग दोनों तरफ पूरी लगी हो. और हम दोनों मियाँ बीवी हमेशा चुदाई के लिए तैयार रहते हैं. एक शाम मैं ऑफिस से घर आया तो …

दोस्तो, ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी गदरायी जवान बीवी की है. हम दोनों ही 29 साल के हैं और एक दूसरे को बहुत प्यार करते हैं.
हम दोनों को चुदाई बहुत पसन्द है. हम लगभग रोज चुदाई करते हैं और अब तक हज़ारों बार चुदाई कर चुके हैं.

इतनी अधिक चुदाई के बाद भी हम दोनों हमेशा इतनी बेताबी से चुदाई करते हैं मानो पहली बार कर रहे हों.

हमारे इसी जोश के कारण हमें हमेशा ही हॉट वाइफ फ़क का उतना मज़ा या उससे ज्यादा मज़ा आता है, जितना पहली बार आया था.
उसका कसा हुआ जिस्म मुझे बहुत पसंद है और मैं उसे कपड़ों में भी नंगी इमेजिन कर लेता हूँ.

एक दिन मैं ऑफिस में था, तब मेरा मन चुदाई के लिए हो गया था.
तो मैंने उसे सेक्सी फोटो भेजी, तो उसका भी वहां से वैसा ही रिप्लाई आया.

यह सिलसिला पूरे दिन चला और उसकी चूत और मेरा लंड पूरे दिन फड़कते रहे.

उस दिन घर जाने पर उसने टॉप और लोवर पहना था.
मेरी नज़र उसके टॉप पर पड़ी जो कि उसके मोटे मोटे चूचों की वजह से उभरा हुआ था.

मेरे मुँह में पानी आ गया और उसने मुझे देख लिया था कि मैं उसको कामुक नजरों से देख रहा हूँ.

वो जानबूझ कर पलट गई क्योंकि वो जानती है कि मुझे उसकी गद्देदार गांड कितनी पसंद है.

मेरी नज़र उसकी गांड पर और उसकी दरार पर पड़ी जो लोवर में लाइन बनाकर बड़ा ही कामुक सीन दिखा रही थी.

मेरा लंड बाहर आने को बेताब हो गया.
उसने भी मेरे 8 इंच लंबे लंड को हरकत करते देख लिया.

मेरा लंड मेरी बीवी की कमजोरी है.
वो झट से मेरे लौड़े से चिपक गई.

इससे अधिक वो कुछ नहीं कर पा रही थी क्योंकि मेरी मां भी वहीं थीं.

फिर खाना खाने के बाद जब हम दोनों बेड पर आए तो दोनों से ही रहा नहीं जा रहा था.
हम एक दूसरे को जोर जोर से चूमने लगे.
मैं उसकी जीभ चाटने लगा, उसके मुँह से रस पीने लगा.

फिर मैं उसके चेहरे को और होंठों को चूसने लगा.
हम दोनों को एक दूसरे की आंखों में नशा भर रहा था.

मैं उसकी गर्दन को चूमने लगा.
वो सिसकारने लगी.

उसके जिस्म की बेताबी उसकी आंखों से … और हावभाव से दिख रही थी.

उसने मेरी टांग अपनी टांगों के बीच में फंसाई और अपनी चूत को मेरी टांग से मसलने लगी.

मैंने भी अपना एक हाथ पीछे से उसके लोवर के अन्दर डाल दिया और गद्देदार गांड को दबाने लगा.
दूसरे हाथ से उसके बड़े बड़े चूचों को टॉप के ऊपर से दबाने लगा.

वो पागल होने लगी और मेरे होंठ काटने लगी. वो मेरे बालों में अपने हाथ फिरा रही थी और तड़प रही थी.

मैं उसके बड़े बड़े चूचों को धीरे धीरे दबा रहा था और सहला रहा था.
उसके मम्मों का तो मैं दीवाना हूँ.

फिर उसने धीरे से अपना टॉप ऊपर करके मुझे अपना पेट दिखाया.
उसका पेट चाटना मेरी कमजोरी है. मैं उसके पेट को मसलते हुए चाटने लगा.
वो और ज्यादा मचलने लगी.

फिर मैं लोवर के ऊपर से चूत को चाटने लगा.
मुझे लोवर के बाहर से ही अन्दर की उफान चढ़ती नदी का अंदेशा हो रहा था.

मैंने उसको पूरी नंगी कर दिया.

अब मेरे सामने उसका वो चिकना और हरा भरा जिस्म था जिसका मैं हमेशा दीवाना और भूखा रहता हूँ.

मैं उसके चूचों को कसके दबाने लगा और एक को दबाते हुए दूसरी चूची को चाटने लगा और उसका निप्पल मुँह में लेकर दूध पीने लगा.

दूध दबा दबा कर पीने में उस वक्त बड़ा मजा आता है, जब चूची चुसवाने वाली खुद से दूध पिला रही हो.

मेरी बीवी एक हाथ से अपना दूध पकड़ कर मेरे मुँह में निप्पल ठूँसे जा रही थी और दूसरे हाथ से मेरे सर को अपने दूध पर दबाती हुई सहला रही थी.

More Sexy Stories  मेरी बीबी का हनीमून

सच में जब मेरी बीवी पूरी शिद्दत से चूची पिलाती है, उस वक्त उसके मम्मों की चुसाई का स्वाद बढ़ जाता है.
मेरी बीवी के दूध बड़े ही रसीले हैं.

उस दिन मन में चुदास पहले से ही चढ़ी थी तो मुझे उसके दूध छोड़ने का मन ही नहीं कर रहा था.

पर वो कहते है ना जब पूरी थाली ही राजसी पकवान से भरी हुई हो, तो एक ही सब्जी खाने का क्या फायदा.
फिर ये थाली तो मेरी अपनी है.

मैं अपनी नंगी बीवी का पूरा जिस्म ऐसे चाटने लगा जैसे कुल्फी चाटते हैं.

मैंने उसे उल्टा लिटा दिया और नंगा होकर पीछे से उसके ऊपर चढ़ गया.

अब मैं पीछे से उसके पूरे जिस्म को चाटने लगा और अपना लंड उसके गद्देदार गांड के बीच में फंसा कर चूतड़ मसलने लगा.
वो भी हिलने लगी और तड़पने लगी.

धीरे धीरे मैं गांड के छेद की तरफ बढ़ा और उसकी टांगों पर बैठ कर पीछे से उसकी गांड को दबाने लगा.
आह … क्या मज़ा आ रहा था, बता नहीं सकता.
वो भी मादक आवाज़ें निकालने लगी.

फिर मैंने उसकी गांड को हाथों से खोला बाहर की तरफ और अपना मुँह उसकी गांड की दरार में घुसा दिया.
मुँह घुसा कर मैं गांड की खाई को जोर जोर से मसलने लगा.

फिर मेरी नज़र उसके गांड के छोटे से छेद पर पड़ी और मेरा लंड एकदम से तेज तेज फड़कने लगा.
मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उस छेद को चाटना चालू कर दिया.

मेरी बीवी की सिसकारियां बढ़ती चली गईं और मेरे चाटने की रफ्तार भी बढ़ती चली गई.
ऐसा मन हो रहा था, जैसे आज खा ही जाऊं उसे!

फिर मैंने उसको सीधा लेटाया और उसकी टांगें खोलकर उनके बीच में अपना सर लगा दिया.
अब मैं अपनी बीवी की चूत को चाटने लगा.

वो अपनी गांड को हिलाने लगी और मैं जोर जोर से चूत चूसता रहा.
ऐसा लग रहा था, जैसे नदी का बांध टूट गया हो.
इतना रस निकल रहा था उसमें से … और मैं उसे पीता चला गया.

जल्द ही मैं अपने चेहरे पर उसकी चूत के रस का फेस पैक लगाने लगा, जीभ अन्दर डालकर उसका रस पीने लगा.

ऐसा काफी देर तक तक चला.
फिर मैं लेट गया और वो मेरी गर्दन पर चाटने लगी.

वो मेरी छाती को चाशनी की तरह चाट रही थी.
मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था.

वो भी मेरे निप्पल वैसे ही चूसने लगी जैसे मैं उसके चूस रहा था.

इसके बाद वो मेरे पेट को चाटने लगी, मुझे गुदगुदी होने लगी और मज़ा भी आ रहा था.

कुछ देर बाद उसने भी मुझको उल्टा लिटाया और मेरे पूरे जिस्म को अच्छे से चाटा.
अब वो मेरी गांड दबाने लगी और मेरी गांड के छेद को चाटने लगी.

मुझे अपनी गांड चटवाने में बहुत मज़ा आ रहा था.

फिर उसने मुझे सीधा लिया और लंड चूसने लगी.

वो मेरा लंड पूरा अन्दर तक ले रही थी और लालीपॉप की तरह चूस रही थी, साथ ही लंड हिला रही थी और गोटियां मसल रही थी.

मेरा मन तो किया कि लंड का सारा माल उसके मुँह में ही निकाल दूँ … पर अभी तो पिक्चर बाकी थी.

मैंने उसका सर पकड़ कर झटके मारने चालू किए.
मुझे अपनी बीवी का मुँह चोदते समय ऐसा लग रहा था जैसे मैं उसकी चूत चोद रहा हूँ और ऐसा करने से मेरे लंड की खुजली मिट रही थी.

काफी देर तक मेरा लंड चूसने के बाद फिर वो मेरे लंड पर बैठ गई और उसने एक ही झटके में मेरा लम्बा मोटा पूरा लंड अपनी चूत के अन्दर ले लिया.
एक मीठी सी आह के बाद वो जोर जोर से लंड पर उछलने लगी.

मैं कस कसके उसके चूचे दबा रहा था.

दस बारह झटकों के बाद ही वो चिल्लाने लगी- आह चोदो और अन्दर तक चोदो मुझे!

कुछ मिनट बाद मैंने उसको जमीन पर खड़ा कर दिया और पीछे से उसके दूध दबाते हुए उसकी चूत में अपना पूरा लंड एक झटके में ही घुसा दिया.
मैंने उसको ऐसे ही कुतिया बना कर बहुत देर तक हॉट वाइफ फ़क किया.

More Sexy Stories  गांव में फुफेरे भाई के साथ रंगरलियां- 1

फिर उसको कुतिया बनाए हुए ही चूत से लंड खींच कर गांड दबाते हुए बार बार लंड पेलने और निकालने लगा.

कुछ देर बाद उसने आसन बदलने का कहा, तो मैं उसे उल्टा लिटाकर चोदने लगा.
उसकी गद्देदार गांड पर उछलते हुए मैं लंड अन्दर तक पेल रहा था.

वो अपनी गांड हिला हिला कर मज़े ले रही थी और चुदवा रही थी.

कुछ देर बाद मैंने उसको सीधा लेटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया. उसके भरे हुए जिस्म पर मैं अपने जिस्म को रगड़ने लगा और लंड चूत में पेल कर घपाघप पिलाई करने लगा.

मैंने उसकी बहुत देर तक चुदाई की.
उसके बाद मैंने अपना सारा माल उसकी चिकनी चूत के अन्दर निकाल दिया और मेरे साथ ही उसका रस भी झड़ गया.

कुछ देर तक हम दोनों ऐसे ही पड़े रहे.

फिर मैंने बीवी के दूध दबाए तो वो बोली- आज मजा आ गया.
मैंने कहा- हां आज एक बार और लेने का मन है.

वो बोली- हां मेरा भी मन है.
मैंने कहा- चल, अब पीछे की लेते हैं.

वो हंस दी और बोली- यार … सच में तुमने मेरे दिल की बात कह दी.
मैंने कहा- कुछ ताकत दिलाओ.

वो बोली- अभी लो मेरे सैंयां मैं आपको एनर्जी ड्रिंक पिलाती हूँ.
मैंने कहा- हां लाओ, आज उस एनर्जी ड्रिंक को तुम्हारी चूत में भर कर पियूंगा.

दस मिनट बाद मेरी बीवी एक गिलास में ताकत देने वाला द्रव्य बना लाई.

मैंने बीवी को जमीन पर सीधा लिटाया और उसकी चूत में ड्रिंक डाल कर चूत चूसने लगा.

उसे भी अपनी चूत में ठंडी ठंडी ड्रिंक डलवा कर और चुसवा कर मजा आ रहा था.
उसने अपनी गांड उठा दी और चूत कुछ ऊपर को उठ गई.

मैंने धीरे धीरे करके पूरा गिलास उसकी चूत में खाली कर दिया और चूत चाट कर साफ़ कर दी.
इतनी देर में मेरे लंड में भी सुगबुगाहट शुरू हो गई थी.

चूत चटवा कर मेरी बीवी फिर से चुदासी हो गई थी.
उसने एक गिलास ड्रिंक और बनाया और मेरे लंड पर टपका कर लंड चूसना शुरू कर दिया.

कुछ ही देर में लंड लोहा हो गया था.
अब बारी उसकी गांड फाड़ने की थी.

मैंने उसे बिस्तर के किनारे घोड़ी जैसा बनाया और उसकी गांड पर थूक लगा कर उसे चिकना किया. गांड में उंगली पेल कर उसे ढीला किया और अपने लंड का मोटा सुपारा गांड के फूल जैसे छेद पर लगा दिया.
उसने लंड का सुपारा गांड में महसूस किया और अपनी टांगें खोल कर लंड को अन्दर जाने का रास्ता दे दिया.

मैंने अपनी बीवी की कमर पकड़ कर लंड को दबा दिया.
पक्क की आवाज के साथ मेरा सुपारा गांड के पहले छल्ले को फैलाता हुआ अन्दर घुस गया.

मेरी बीवी की एक मादक आह निकली और उसने लंड का सुपारा अपनी गांड में जज्ब कर लिया.
फिर मैंने एक बार और थूका और बस पेल दिया.

लंड अन्दर घुसता चला गया और मैंने अगले ही पल अपने हाथ उसके दोनों मम्मों पर जमा दिए.
अब गांड मारना चालू हो गया था.

मेरी बीवी की मादक आवाजें मेरे जोश को बढ़ा रही थीं.

मैंने अपने एक हाथ से उसकी चूत के दाने को मसलना चालू कर दिया.
कुछ देर बाद मैंने आसन बदला और अब मेरी बीवी मेरे लौड़े को अपनी गांड में लेकर मेरे ऊपर आ गई थी.

करीब बीस मिनट की मस्त गांड चुदाई के बाद मैंने अपना रस अपनी बीवी की गांड में छोड़ दिया और झड़ने के बाद उसकी चूत चूस कर उसे भी झड़ा दिया.
दोस्तो, अगर ऐसी बीवी हो तो बाहर मुँह मारने की जरूरत ही नहीं है. मेरी बीवी ही मेरी रंडी है, जिसे मैं बहुत प्यार करता हूँ.

आपको मेरी हॉट वाइफ फ़क कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें.
[email protected]

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *