जनवरी की सर्दी में तन की गर्मी शांत की

हॉट इंडियन भाभी Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस में एक विधवा भाभी रहती थी. मैंने उनके बेटे को पढ़ाने जाता था. उन गर्म भाभी की प्यासी चूत का मजा मैंने कैसे लिया.

नमस्कार मित्रो, मैं मोटे लंड वाला ऋषि देवगन अन्तर्वासना की इस कहानी में आपका स्वागत करता हूं।
मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं।

यह मेरी प्रथम चुदाई की कहानी है, इसके बाद मैं किसी भी चूत को चोदने का मौका नहीं छोड़ता हूं।
यह हॉट इंडियन भाभी Xxx कहानी 3 जनवरी 2021 की है।

मैं 21 वर्षीय BSC द्वितीय वर्ष का विद्यार्थी हूँ. कोरोना के कारण अभी कॉलेज नहीं खुले हैं तो मैं अभी अपने शहर उन्नाव (उत्तर प्रदेश) में ही हूं।

शुरू में जब मैं घर वापस आया था तो समय नहीं कटता था.
लेकिन चूत का इंतजाम हो जाने से अब कॉलेज खुलने के बाद भी वापस कानपुर जाने का मन नहीं करता है।

मेरे पड़ोस में एक भाभी रहती हैं जिनका नाम मन्नत है. वे उन्नाव में एक बैंक में कर्मचारी हैं।

अब आप मन्नत भाभी को चूत की प्यासी भाभी भी कह सकते हैं क्योंकि उनके शौहर का नवंबर 2019 में कार एक्सीडेंट में देहांत हो गया था।
लेकिन बैंक में होने के कारण उनको पैसे की दिक्कत नहीं थी.
दिक्कत थी तो बस मोटे लंड की जो उनके चूत की खुजली मिटा सकें।

उनका 3 साल का लड़का भी है जिसका नाम नवाज़ है।
नवाज़ का स्कूल बंद हो जाने के कारण उन्होंने मेरी भाभी प्रीति से नवाज़ को घर पर पढ़ाने के लिए कहा.
शुरू में मना करने के बाद मैंने नवाज़ को अक्टूबर में पढ़ाने के लिए हाँ कह दिया क्योंकि मेरा भी घर पर समय नहीं कटता था।

मेरी भाभी की चुदाई की कहानी और मन्नत और प्रीति भाभी की एक साथ चुदाई की कहानी आपको मैं आने वाले अंकों में विस्तार में सुनाऊंगा।

3 महीने सामान्य तरीके से मैं शाम 5 से 6 बजे तक पढ़ाता रहा।

मन्नत भाभी मुझे रोज चाय दिया करती थी।

मैं आपको भाभी के बारे में बताना ही भूल गया.
उनकी उम्र 34 साल और फिगर साइज 36 – 24 – 36 का है जो चोदने के समय सही से पता चला।

वो एक खूबसूरत भरे बदन की महिला हैं जो किसी भी बुड्ढे का लंड भी खड़ा कर दे।
जब वो काली पोशाक पहनती हैं तो कयामत ढा देती हैं।

एक दिन जब भाभी चाय लेकर आई तो मैं नवाज़ को मैथ्स पढ़ा रहा था.

चाय रखते समय उनका दुपट्टा गिर गया अचानक से मेरी नज़र उनके बूब्स पर पड़ी उनके बूब्स को देखने के बाद मेरे लंड ने सलामी देनी शुरू कर दी।

अब उनको देखने का मेरा नज़रिया ही बदल गया. मैं दिन रात उनको चोदने का सपना देखने लगा, उनकी नाम की मुट्ठ मारने लगा.
लेकिन तमाम कोशिश के बावजूद भी उनको चोदने की तमन्ना पूरी नहीं पा रही थी।

अब मैंने एक प्लान बनाया, सोचा कि अगर काम कर गया तो ठीक नहीं तो सॉरी बोल के आगे बढ़ जाऊंगा।

मैंने मन्नत भाभी से कहा- भाभी, हो सकता है कि मैं कल गांव जाऊं … तो पढ़ाने नही आ पाऊंगा। अगर नहीं गया तो आपको फ़ोन कर दूंगा आप अपना नंबर दे दीजिए।

मेरी तरफ उन्होंने पहले तो घूरा फिर लेकिन नंबर दे दिया।

नंबर को सेव करने के बाद मैं 28 दिसंबर को वापस आ गया।

रात को मैंने भाभी को व्हाट्सएप पर मैसेज किया- हाय!
10 मिनट बाद भाभी- हाँ कौन?
मैं- ऋषि.
भाभी- अच्छा ऋषि तुम हो.
मैं- हाँ भाभी मैं ऋषि.

भाभी- तो गांव जा रहे हो?
मैं- नहीं भाभी, पहले सोचा था कि गांव जाऊंगा और दोस्तों के साथ नया साल मनाऊंगा. लेकिन भैया और भाभी भी गांव जा रहे हैं तो घर पर मैं रुकूँगा।
भाभी- अच्छा तो आओगे पढ़ाने?
मैं- जी भाभी.
भाभी- अच्छा.

More Sexy Stories  चार से बेहतर ग्रुप सेक्स- 2

फिर आधे घंटे तक मैंने कुछ भी मैसेज नहीं किया.

रात 11:35 पर जानबूझकर मैसेज किया- आपकी याद आ रही है.
मैंने सोचा अगर कुछ बवाल करेंगी तो कह दूंगा कि किसी और को भेज रहा था गलती से आपके पास चला गया।

भाभी ने पढ़ने के बाद कोई रिप्लाई नहीं किया.
मेरी गाड़ फट रही थी कि कहीं कल मेरे भैया को न दिखा दें.
मुझे नींद ही नहीं आयी रात भर!

भैया और भाभी सुबह 8 बजे गांव के लिए निकल गए, तब जान में जान आयी. सोचा कि साला 4 दिन तो कुछ नहीं होगा अब … क्योंकि भैया और भाभी 4 दिन बाद ही गांव से वापस आने वाले थे।

मैंने भाभी को फिर मैसेज किया. मैंने सोचा कि 4 दिन तो कुछ होना नहीं है, एक बार ट्राई और कर लिया जाए.
तो मैंने भाभी को मैसेज किया- सॉरी भाभी, गलती से आपके पास मैसेज आ गया. मैं किसी और को भेजना चाह रहा था।
भाभी को सॉरी बोला पर उन्होंने कुछ नहीं कहा, कोई रिप्लाई नहीं किया।

थोड़ी देर बाद मैंने भाभी को मैसेज किया और कहा- भाभी, घर पर कोई खाना बनाने वाला नहीं है खाना खाने के लिए आ जाऊं?
तो भाभी ने कहा- ठीक है, आ जाओ।

जब मैं उनके घर पहुंचा तो मैंने भाभी से कहा- भाभी सॉरी … मैं किसी और को मैसेज भेजना चाह रहा था लेकिन गलती से आपके पास आ गया!
भाभी ने कहा- कोई बात नहीं, कभी-कभी गलती से चला जाता है।

खाना खाने के बाद भाभी ने पूछा- तुम वैसे किसको मैसेज भेजना चाह रहे थे?
मैंने कहा- मैं गर्लफ्रेंड से बात कर रहा था तो गलती से आपके पास आ गया।

भाभी मुस्कुराने लगी और पूछा- काम कैसे चलता होगा तुम्हारा? अब तो लॉकडाउन में तुम घर पर ही हो!
मैंने कहा- हाथ से!
वो शर्मा गयी और मैं वापस अपने घर आ गया।

शाम को को जब मैं पढ़ाने के लिए गया तो देखा कि भाभी काली जीन्स पहने हुए हैं.
भाभी के उभरे हुए चूतड़ … अहा देख कर मजा आ गया. मन कर रहा था कि भाभी की भी एक अभी चुदाई की क्लास ले लूँ.
लेकिन जैसे तैसे खुद को काबू किया.

नवाज़ को पढ़ाने के बाद मैंने भाभी से पूछा- भाभी, शाम को खाना खाने ले लिए आ जाऊं?
तो भाभी बोली- ठीक है. लेकिन अभी मैगी बना रही हूं खा के जाना!
मैंने कहा- ठीक है।

फिर मैंने कहा- भाभी, मैं छत पर हूं.
तो भाभी ने कहा- ठीक है, मैं मैगी बनाकर वहीं ले आती हूं।
मैंने कहा- ठीक है.

मैं छत पर पहुंचा तो मैंने अपना दिमाग लगाया. मैं अंतर्वासना की वेबसाइट खोल कर एक सेक्सी भाभी की चुदाई की कहानी पढ़ने लगा.

उसके बाद जब भाभी आई तो मैंने जानबूझकर ऐसा दिखाया कि ऐसे लगे कि मैंने उनको देखा ही नहीं।
वे चुपचाप पीछे खड़ी हो गई और मैं कहानी पढ़ता रहा.

थोड़ी देर बाद मैंने जब देखा कि लोहा गर्म हो गया तो मैंने अब हथौड़ा मारा और कहा- भाभी आप कब आई?
तो उन्होंने कहा- जब तुम चुदाई की कहानी पढ़ने में व्यस्त थे, तभी मैं आ गई थी.
मैंने कहा- अरे भाभी … वो बस ऐसे ही!

भाभी बोली- लगता है कि गर्लफ्रेंड की याद बहुत आ रही है?
मैंने कहा- भाभी याद तो आ रही है।
तो भाभी बोली- तो जाकर मिल आओ।
मैंने कहा- अभी वो घर पर है.

तो भाभी बोली- फिर तो हाथ से ही काम चलाना पड़ेगा?
मैं और भाभी दोनों हँसने लगे.

थोड़ी देर बाद अपने लंड को दबाते हुए बोला- आप हो न भाभी …
तो वो बोली- मैं तो हूँ … लेकिन आपका छोटा लगता है, मुझे झेल नहीं पाओगे.
मैंने कहा- भाभी, आप पकड़ के खुद देखो, तब पता चलेगा कि एक बार अंदर गया तो घर में नवाज़ का भाई आ जायेगा.

More Sexy Stories  बस स्टॉप पर एक भाभी से दोस्ती और प्यार- 5

मौका देखते हुए मैंने लोअर से लंड निकाला तो मन्नत भाभी की आँखें खुशी से भर गई.
मेरा लंड इतना मोटा भी हो सकता है उन्होंने सोचा नहीं था.

मैंने कहा- अब क्या ख्याल है भाभी?
भाभी कुछ कह पाती … उससे पहले ही मैंने उनके होंठों पर होंठ रख दिये और चुम्मा चाटी शुरू कर दी.

थोड़ी देर बाद भाभी भी साथ देने लगी.
मैंने उनकी एक चूची दबाई तो वो हल्की मादक आवाज निकालने लगी.

तभी दरवाजे पर घंटी की आवाज सुनाई दी … सारा मौसम बिगड़ गया।

दरवाजे पर दूध वाली आँटी दूध देने आयी थी.

मैं बिना मैगी खाये अपने घर चला गया और भाभी को थोड़ी देर बाद मैसेज किया और कहा- भाभी, शाम को खाना मेरे घर ही लेकर आना!
भाभी समझ गयी और सीधा बोली- कंडोम है या नहीं?
मैं बोला- है … भैया की अलमारी से निकाल लूंगा.
तो वो बोली- ठीक है.

रात 10 बजे घर की घंटी बजी और गेट पर चुदाई के लिए तैयार होकर आयी भाभी खड़ी थी.
वो अंदर आकर सोफे पर बैठ गयी.

खाना खाने के बाद मैंने उनसे कहा- भाभी, आप बेडरूम में चलो … मैं अभी आता हूँ.

जब मैं कमरे में पहुंचा तो भाभी सारे कपड़े उतार कर कम्बल में पूरी नंगी बैठी थी.
मेरे आते ही भाभी ने पल भर के लिए कम्बल हटा कर मुझे अपने नंगे जिस्म की झलक दिखाई.
मुझे लगा मैं कोई सपना देख रहा हूँ।

भाभी ने मेरे सारे कपड़े उतार दिये और मैं भी नंगा हो गया. फिर भाभी ने मेरा लण्ड अपने मुख में लेकर चूसना शुरू किया.
इससे पहले किसी औरत ने मेरा लंड नहीं चूसा था।

मैंने आह भरी- आआ आहा भाभी … माआज़ा आआ रहा है।

फिर उन्होंने मुझे चोदने के लिए कहा और मेरे नीचे आ गई।

मैंने उसकी चूत पर लण्ड रख कर और धक्का मारा।
भाभी की चूत बहुत ज्यादा चौड़ी थी, लण्ड एक बार में पूरा चला गया.

उन्होंने कहा- आआ … मज़ा आ गया … ज़ोर से चोदो।

मैं अपना बड़ा लण्ड पूरा बाहर निकालता, फिर जोर से घुसेड़ देता।
वो भी नीचे से धक्के मार रही थी और कह रही थी- ऋषि ज़ोर से चोदो … आआहा … आआह मज़ाअ आआ रहा है।

फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों झड़ गये.
भाभी ने मुझे कमर से पकड़ लिया और कहा- मेरे ऊपर लेटे रहो।

फिर काफी देर तक हम मस्ती करते रहे.
फिर भाभी ने मेरा लण्ड अपने मुख में लिया और चूसने लगी.

मैं उनकी चूत में उंगली डाल कर मज़ा दे रहा था।

थोड़ी देर में मैं फिर तैयार हो गया।

अब की बार मन्नत भाभी ने मुझे कहा- मुझे पीछे से चोदो।

मैंने उन्हें कुत्ते की तरह से चोदा।
इस बार वो जल्दी झड़ गयी।

मेरा लण्ड अभी भी मस्त तन्ना रहा था। मैं उन्हें अभी भी चोद रहा था, मेरा पानी नहीं निकल रहा था।
वो कह रही थी- बस ऋषि … अब बस करो, मेरी टांगें दुखने लगी हैं.
मैंने कहा- थोड़ी देर बस!

मैं धक्के मार रहा था, वो चिल्ला रही थी- आह … मेरी टांग गई।
पर मैं भाभी की चूत चोदता रहा, उनका पानी निकल गया था इसलिए फ़च फ़च की आवाज़ आ रही थी।

मैं मन्नत भाभी को चोद रहा था।
वो कह रही थी- बाआस बस्स्स आआ आहा … मैं मर जांऊगी.

फिर मेरा पानी भाभी की चूत में निकल गया।
तब हम दोनों लेट गये।

इस तरह मैंने भाभी की चुदाई का मजा ले लिया था.

दोस्तो, आपको मेरी हॉट इंडियन भाभी Xxx कहानी अच्छी लगी होगी.
तो मुझे मेरी ईमेल आईडी पर कमेंट कर अगली सेक्स कहानी लिखने को प्रेरित जरूर करें.
[email protected]