जानू कितना चोदोनगे आज !!!

मेरी शुरूवात से ही ज़ोर ज़ोर से झटके मारने शुरू कर दिए, आंटी अहह !!! अहह !!! ओह !!! आववव !! आवववव !!! की आवाज़ें कर रही थी, गॅंड गीली होने की वजह से पूरा बाथरूम में मेरे थाइस और आंटी की गॅंड के टकराने की चाआआप्प्प चहाआप्प्प्प !!! की आवाज़ गूँज रही थी.

मैने 10-15 मिनिट तक आंटी को इस पोज़ में चोदा और फिर उनके फेस को अपनी तरफ करके उन्हे गोदी में उठा लिया और लंड उनकी चूत में डाल के उनकी पीठ दीवार के साथ लगा दी, इस तरहा उनके दोनो पैर हवा में थे, इस पोज़ में लंड उनकी चूत के डीप इनसाइड जा रहा था और आंटी और भी ज़्यादा एग्ज़ाइट हो रही थी.

मदहोशी की हालत में आंटी मेरे गाल और कान दातो से नोच रही थी और अपने नाखुनो से मेरी पीठ भी नोच रही थी, मैने भी स्पीड कम नही की, मैं भी लंड उनकी चूत के अंदर तक पहुचाने लगा.

मेरे बॉडी पार्ट्स को नोचने का बदला मैं उनकी चूत को ज़ोर ज़ोर से झटके मार के ले रहा था, फिर आंटी बोली रॉबिन मेरी जान निकल रही है बेबी…मुझे बेडरूम में ले जाओ जाना, मैने आंटी को ऐसे ही उठा के बेडरूम में ले गया, आंटी को लेटा के मैं आंटी के उपर आ गया.

अब मैने आंटी को इस पोज़ में चोदना शुरू किया, उहह !!! ऊऊऊऊओ !!! अहह !! अहह !! करके आंटी अब पानी की जगह पसीने से गीली थी लेकिन मैं रुकने का नाम नही ले रहा था, आंटी चुद चुद के 2 बार झड़ चुकी थी पर मैं चोद चोद के ईक बार भी नही झडा था.

More Sexy Stories  सॅलरी के बदले चोदि मेरी चूत

आंटी भी बोल उठी जानू कितना चोदोन्गे आज तुम्हारे सिर पे तो आज भूत सवार है, मैने आंटी की नाज़ुक हालत देखी और थोड़ा स्लो हो गया, फिर मैने आंटी को पूछा की आप कहो तो गॅंड में डाल लेता हू ?

आंटी बोली रहने दो थोड़ी देर धीरे धीरे चूत में ही करो फिर मैं चुस्स चुस्स के तुम्हारा झाड़वा दूँगी, मेरे दिमाग़ में एक और आइडिया आया, उनकी चेस्ट के उपर आ के मैने लंड उनकी बूब्स के बीच दबा लिया और बूब फक करने लगा.

तब तक आंटी भी ईज़ी फील करने लगी. मैने कुछ देर स्लोवेली स्लोवेली उन्हे ऐसे ही बूब्स में चोदा और फिर खुद बेड पे लेट गया, आंटी ने रब्बर बॅंड से अपने बाल बाँधे और लंड हाथो में ले के ज़ोर ज़ोर से हिलाने लग गई.

थोड़ी ही देर में मेरा लंड पूरा अकड़ने लगा, आंटी समझ गई की मैं झड़ने वाला हू, उन्होने मूह मेरे लंड के उपर रख लिया और हिलाना वैसे ही ज़ारी रखा, 1-2 मिनिट में ही मैं झड़ गया और पिचकारी उनके मूह में मार दी.

आंटी ने सारे मूह पर पिचकारी मार ली और बचा खुचा चूस चूस के सफाचट कर दिया, आंटी मेरे उपर आके हग करके लेट गयी और हम कुछ देर के लिए सो गये, उठने के बाद हमने लंच किया और मैं अपने घर चला गया.

उस रात मैने आंटी को फिर से कैसे चोदा बताउन्गा आपको अगले पार्ट में, ये देसी सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी मुझे लिख के भेजें, मेरी मैल आईडी है

More Sexy Stories  ऑटो से भाभी की चूत तक

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *