हॉट इंडियन आंटी की ठुकाई

Aunty Sex Story : सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार।  के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी। हेलो दोस्तो, मेरा नाम रोशन, आइ आम फ्रॉम कोलकाता, मई अभी जॉब करता हू इन आन इट कंपनी. अब टाइम ना वेस्ट करते हुए सीधे स्टोरी पे आता हू.

ये स्टोरी करीब 2 यियर्ज़ पहले की है. हम लोग(माइ फॅमिली) लिविंग इन ए रेंटेड फ्लॅट. और वहाँ हमारे और मकान मालिक(अनूप) जो की एक गवर्नमेंट. एंप्लायी थे, के फॅमिली के अलावा और कोई नही रहता था. और उनके(लॅंड लॉर्ड) फॅमिली में उनकी मम्मी, वाइफ(कल्पना), एक डॉटर(मिस्थी), रहते थे.

तो ये स्टोरी मेरी और कल्पना आंटी की है. अब मैं कल्पना आंटी क बारे मे बता दू. वो एक गोरी थोड़ी हेल्ती लेडी थी. उनका फिगर 36-28-34 का है. अब आप लोग समझ ही सकते है लोगो का देख कर ही लंड मे खुजली होने लगेगी.

तो पहले मेरा उनके प्रति नज़र खराब नही था. ये बात करीब सिक्स मंत बाद की है. हम लोग एक दूसरे से काफ़ी घुल मिल गये थे. हमारा एक दूसरे क घर आना जाना होता था.

एक दिन जब मैं जॉब से वापस आया तो मम्मी ने बोला की कलपाना आंटी का कोई काम है तेरे को बुला रही थी. मैं आराम से फ्रेश होकर उनके घर गया. उस टाइम शाम के 4 बजे होंगे. मैं दरवाज़ा नॉक किया तो अंदर से आवाज़ आई की रुक जाओ आ रही हू.

और वो आकर दरवाज़ा खोली तो मैं उन्हे देखता ही रह गया. वो एक रेड कलर की ट्रॅन्स्परेंट नाइटी में मेरे सामने खड़ी थी. यारों क्या ग़ज़ब लग रही थी. मैं उनको देखता ही रह गया. फिर मेरी नज़र उनकी बूब्स पे पड़ी.उन्होने ब्रा नही डाली थी. तो उनका 36 का बूब्स मेरे को हल्का हल्का दिख रहा था.

More Sexy Stories  बाथरूम मे दीदी की चुदाई - 2

उनके बूब्स देख के मेरा 7 इंच का लंड खड़ा हो गया. इतने मे आंटी बोली आराव क्या हुआ. मैं झट से बोला कुछ नही आंटी, आपने मुझे बुलाया था. तो उन्होने कहा हा. (जैसे की मैने बोला की मैं एक इट कंपनी मे जॉब करता हू).

आंटी – मेरा कंप्यूटर खराब हो गया है तुम थोड़ी देख लोगे.

मे – जी हन.

और आंटी मुझे अपने बेडरूम मे ले गयी. क्यूकी उनका कंप्यूटर बेडरूम मे था. और मैं कंप्यूटर का पवर ऑन करके चेक करने लगा और सच में कंप्यूटर ऑन नही हो रहा था.

तो मैने उसको चेक करके देखा तो डिसप्ले नही आ रहा था तो मैने उसको ठीक कर दिया. तो मैने आंटी को बोला की आपका कंप्यूटर ऑन हो गया है आप चेक कर लीजिए.

तो उन्होने देखा की कंप्यूटर चल रहा है. तो उन्होने पूछा की क्या प्राब्लम था.

मे – कुछ नही आंटी बस आपका राम मे कार्बन जम गया था.

आंटी – ठीक है तुम बैठो मैं तुम्हारे लिए कुछ लाती हू.

और आंटी वाहा से चली गयी. बट मेरे आखों के सामने उनका बूब्स आ रहा था वो बड़े बड़े गोल गोल कोई भी देखे तो पागल हो जाय. और मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. (और मैं आप लोगों को बता दू की मैं घर में अंडरवेर नही पहनता हू) उस टाइम मैने शॉर्ट्स डाले हुए थे. और मैं आपने लंड को अड्जस्ट ही कर रहा था की तब तक आंटी आ गयी उनकी हाथ मे स्वीट्स थे.

उन्होने मेरा खड़ा लंड देख लिया और मुस्कुराने लगी और बोली ये लो स्वीट खा लो. आप लोग समझ सकते है की बिना अंडरवेर क लंड खड़ा होगा तो पता तो चल ही जाता है.

More Sexy Stories  मैं और मेरी प्यारी पूजा मौसी

फिर मैं थोड़ा पीछे की तरफ अपना कमर किया तो मेरा लंड थोड़ा पीछे की तरफ गया, फिर भी समझ आ रहा था. इतने मैं आंटी बोली..

आंटी – क्या हुआ, क्यू शर्मा रहे हो, इस्स उमर मे ये आम बात है.

मैं ये सुनकर काफ़ी कुश हुआ, और मैं समझ गया उनका इरादा.

मैं – कुछ नही बोला.

आंटी – तुम वैसे क्यू खड़े हो.

मैं – बस थोड़ी कमर मे पेन हो रही है इसीलिए.

आंटी – आओ मैं तुम्हारी थोड़ी मालिश कर देती हू.

मैं – नही आंटी नही करनी पड़ेगी, कुछ देर मे अपने आप ठीक हो जाएगा.

तो फिर आंटी ने बोला की नही तुमने मेरी हेल्प करी है तो मेरा भी कुछ फ़र्ज़ बनता है. और उन्होने मुझे जबारजस्ति बेड पे लेटने के लिए बोला.मुझे भी ये सब अछा लग रहा था और मैं लेट गया. और वो ओइल लाने चली गयी, कुछ देर मे वो ओइल लेकर आई. मैने टी-शर्ट डाल रखी थी.

उन्होने टी-शर्ट उतारने को कहा, तो मैने अपनी टी-शर्ट निकाल ली और बेड पे लेट गया. और वो मेरे कमर से मेरी पॅंट नीचे की और करके ओइल लगाने लगी. वाह क्या बतौन यारो उनके कोमल हाथो की स्पर्श से मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और इस्स बार मेरा लंड मेरे पैरो की बीच से निकल रहा था तो मैं थोड़ा हिला अपने लंड को अड्जस्ट करने क लिए.

तो आंटी ने बोला की क्या हुआ तो मैने बोला. कुछ नही आंटी थोड़ा और नीचे, मुझे तो बड़ा मज़ा आ रहा था. इतने मैं आंटी बोली की तुम अपना शॉर्ट्स उतार दो मैं मालिश कर देती हू. पर मैं माना करने लगा क्यूकी मैं अंदर कुछ नही पहना था.

Pages: 1 2 3

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *