गर्लफ्रेंड और उसकी सहेली की बुर चोद कर प्यास बुझाई

अन्तर्वासना के प्रिय पाठको.. मेरा नाम अमन है, मैं बिहार के खगड़िया का रहने वाला हूँ।

यह मेरी पहली और सच्ची सेक्स स्टोरी है।

बात आज से दो साल पहले की है, जब मैं 12वीं में था, मुझे एक लड़की से प्यार हो गया, उसका नाम प्रीति (बदला हुआ) था, वो मेरे घर के पास की ही रहने वाली थी।
वो दिखने में गजब की थी, उसका रंग एकदम साफ़ था और उसका फिगर 32-28-32 का रहा होगा। चेहरा एकदम गोल.. आँख भूरी सी और नशा जगा देने वाली थीं।

शुरू में तो मैं कुछ नहीं कर सका, बस उस लाइन मारता रहा.. पर वो मुझे कोई रिप्लाई नहीं देती थी।
एक दिन उसकी सहेली के माध्यम से मुझे पता चला कि वो भी मुझे प्यार करती है.. पर कह नहीं पा रही है और वो थोड़ा गुस्से वाले मिजाज की है।

खैर किसी तरह सैटिंग बिठाई तो उसकी सहेली ने ही हम दोनों को एक रेस्टोरेंट में मिलाया और हमने एक-दूसरे से अपने प्यार का इजहार किया।
हम दोनों ही क्लास के बाद पढ़ाई आदि के बहाने बात कर लेते रहे। धीरे धीरे हमारी फ़ोन पर भी बातें होने लगीं.. पर अभी तक हम लोगों में कुछ भी गलत बातें नहीं होती थीं।

एक दिन अचानक उसका दिन में फ़ोन आया कि उसके घर पर कोई नहीं है और वो अभी मुझसे मिलना चाहती है। मैंने हामी भर दी और उसके घर चला गया।

उसके घर पहुँच कर मैंने दरवाजे की घंटी बजाई तो उसने ही दरवाजा खोला। वो एक नाईट सूट में थी।
मैंने पूछा- क्यों बुलाया?
तो वो मुस्कुरा कर कहने लगी- कुछ काम है.. अन्दर आओ मेरे रूम में चलो।

वो मेरा हाथ पकड़कर अपने रूम में ले गई और वहाँ जाकर मुझे किस करने के लिए कहने लगी। पर मेरा कोई गलत इरादा नहीं था.. क्योंकि मैं उससे शादी करना चाहता था।

मेरे मना करने के बावजूद वो ही मुझे किस करने लगी और हम दोनों के ऊपर वासना का ज्वर हावी होने लगा। कब हम दोनों एक-दूसरे से गूँथ गए और नंगे हो गए.. पता ही ना चला।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

अब मैं भी उसका पूरा साथ दे रहा था। मैंने अन्तर्वासना पर बहुतों की कहानी पढ़ी हैं.. पर आज किसी लड़की को इतने पास से देख रहा था और उसके मम्मों को सहला रहा था। उसके मम्मे बहुत ही नर्म थे.. और उसके ऊपर निप्पल भी अभी ठीक से नहीं उठे थे।

More Sexy Stories  भाभी संग मेरी अन्तर्वासना-7

अब में उसके मम्मों को एक-एक करके चूस रहा था और वो मादक सिसकारियां निकाल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’
cफिर मैंने उसकी बुर पर हाथ लगाया तो वो गीली-गीली सी हो चुकी थी और उस पर रोंए जैसे भूरे बाल थे।

मैं नीचे बैठकर उसकी बुर को चाटने लगा.. क्योंकि मैंने पहले ही अन्तर्वासना की ढेरों कहानी पढ़ी थीं, जिसमें बुर चाटने का मजा के बारे में लिखा था।

पहले तो मुझे अच्छा नहीं लगा.. पर वो मेरे सर को अपनी बुर पर दबाने लगी.. तो मैं उसकी बुर को चूसता ही रहा। अब उसकी बुर को चूसने में मुझे भी मजा आने लगा और मैं बीच-बीच में उसकी बुर को हल्के से काट भी लेता.. जिससे वो अपनी दाँतों को भींच लेती। इस सबसे मुझे बहुत मजा आने लगा था।

अब वो मुझे चोदने के लिए बोलने लगी और मेरे लंड को पकड़ कर अपनी बुर पर सैट करने लगी। फिर उसने मुझे एक क्रीम की डिब्बी देकर बुर और लंड पर क्रीम लगाने के लिए कहा।

मैंने उसकी बुर पर और अपने लंड पर क्रीम को लगा लिया.. लेकिन क्रीम लगाने के बाद मुझे लगा कि मेरा लंड पहले से ही उसकी छोटी सी बुर के हिसाब से काफी लम्बा था.. और अब और तन कर लम्बा हो गया है।

मेरे भी सर पर वासना का भूत सवार हो चुका था। मैंने उसके दोनों पैर अपने कंधों पर रख लिए.. जैसा कि पोर्न मूवीज में दिखाया जाता है। अब मैंने अपने लंड को उसकी बुर पर सैट किया और उसकी बुर में पेलने लगा।

वो थोड़ा कसमसाई.. पर मेरा लंड धीरे-धीरे उसके अन्दर जाने लगा।
मेरी सोच से उल्टा वो पहले से चुदी थी और उसने मेरा पूरा लंड अन्दर ले लिया जबकि ये मेरे लिए पहली बार था।

अब वो मुझसे धक्के लगाने के लिए बोली.. तो मैंने भी ब्लू फिल्मों की तरह उसे चोदना शुरू कर दिया।
वो मेरे लम्बे लंड की चोटों से ‘आहें..’ भरने लगी।

More Sexy Stories  टीचर जी की बरसों की प्यास और चूत चुदाई-2

कुछ 5 मिनट चोदने के बाद मैंने उसे डॉगी स्टाइल में आने को कहा और पीछे से उसके ऊपर चढ़ गया।
वो लंड की चुदाई के मजे से बोले जा रही थी- आह्ह.. और जोर से.. और जोर से..

उसकी बुर ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था.. जो मुझे साफ़ महसूस हो रहा था। वो पानी छोड़ने के बाद हांफने लगी। पर मेरा अभी तक नहीं हुआ था तो मैंने धक्के जारी रखे।

कुछ ही देर में वो फिर से झड़ने लगी और पलंग पर निढाल होकर गेट की तरफ कुछ इशारा करने लगी। मैंने तुरंत पलट कर देखा तो दंग रह गया। उसकी सहेली पूजा जिसने हमें मिलवाया था.. पूरी तरह नंगी खड़ी थी और अपनी बुर में उंगली कर रही थी।

इतने में मेरा लावा छूट गया, मैं बाथरूम की तरफ अपने कपड़े लेकर भागा और अपने कपड़े पहन कर आ गया।

मेरी गर्लफ्रेंड अपनी सहेली पूजा को भी चोदने के लिए कहने लगी, वैसे पूजा भी गजब की माल थी, उसका बदन भी भरा हुआ था क़यामत बरसाने के लिए उसके तने हुए चूचे ही काफी थे।

मैंने पूजा को चोदने से मना कर दिया क्योंकि मैं उसे कभी भी ऐसे नज़रों से नहीं देखता था। मैं अपनी गर्लफ्रेंड को धोखा भी देना नहीं चाहता था.. पर वो मुझे मनाने लगी और उसकी बहुत जिद के बाद मैंने पूजा को भी दो बार चोदा.. वो भी अपनी गर्लफ्रेंड के सामने।

वो कहानी मैं आप सभी को अगली बार बताऊंगा। बाद में इन दोनों ने मिलकर और 3 लड़कियों को मुझसे चुदवाया।
ये सब मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगा।

पर मैंने अपनी गर्लफ्रेंड से उसकी पहली चुदाई के लिए पूछा तो उसने मुझे साफ़-साफ़ बता दिया कि उसके मामा ने सात महीने पहले उसकी सील तोड़ी थी और उसके अलावा वो किसी से नहीं चुदी है, वो मुझसे बहुत प्यार करती है।

मैं भी उससे बहुत प्यार करता हूँ। अब आप बताएं कि में क्या करूँ। मेरी इच्छा उससे शादी करने की है.. वो भी राज़ी है। कृपया मेरी मदद कीजिए और मुझे सुझाव दीजिए कि मैं क्या करूँ।

आप अपने जवाब मुझे मेरे ईमेल [email protected] पर भेज सकते हैं। आपके जवाब का मुझे इंतजार रहेगा।

What did you think of this story??