गर्लफ्रेंड की गॅंड दोस्त ने मारी

हाय आई एम महेश ये सेक्स स्टोरी मेरी जीएफ़ की है जिसके गॅंड मेरे दोस्त अमर ने अपने लंबे लंड से मारी मेरी जीएफ़ का नाम सोनल है देखने मे सावली है 32 के बूब्स 34 की कमर 36 की गॅंड है.

मैने मेरी जीएफ़ के साथ 2 ईयर सेक्स नही किया क्यूकी हम एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे पर 2 साल बाद हमने सेक्स करना स्टार्ट किया जब मैने पहली बार उसकी चुत मे लंड डाला था.

तो उसकी चुत टाइट नही थी मैं शुरू से बता देता हू हम गार्डेन मे किस कर रहे थे उस वक़्त हम आउट ऑफ सिटी थे हमारा मूड ज़्यादा होगया मैने उसे सेक्स के लिया पूछा वो मान गयी.

हम एक होटेल मे गये वाहा रूम रेंट पे लिया फिर अंदर जाते ही मैने अपने कपड़े उतार दिए उसे कहा तो वो शर्माने लगी बोली तू खुद उतार दे मैने धीरे धीरे किस करते करते उसके सारे कपड़े उतार दिए उसको बेड पे लिटा दिया उसके उपर चढ़ कर उसको किस करने लगा उसकी नेक को चूमने लगा.

वो मेरे लंड को दबा रही थी हा और एक बात बता दु मेरे लंड की लंबाई ज़्यादा नही पर मोटाई बहुत है ब्लूएफील्म के आदमियो जैसे मैने अपना लंड उसकी चुत पे रगड़ना स्टार्ट कर दिया और उसके बूब्स चूसे जा रहा था और अपने लंड का टोपा से उसकी चुत नीचे से उपर तक रगड़ रहा था.

फिर जब टोपा चुत के छेद पे आया तो उसके लेग्स से मेरे कमर को पकड़ लिया और अपनी कमर उपर उठा ली और बिना कोई तकलीफ़ मेरे मोटा लंड उसकी चुत मे आसानी से चला गया मैं सोचते ही रहा की इतनी आसानी से लंड चुत मे कैसे गया, मैने उसे पूछा तेरी चुत इतनी खुली हुई कैसे है उसने कहा बाद मे अब बस मुझे चोदो मज़ा आ रहा है.

मैने पूरी ताक़त से उसकी चूत मारनी शुरू कर दी वो मेरे पीट पे नाख़ून गाड़ने लगी और बोलने लगी और अंदर डालो मेरे 6 का लंड वही ख़तम हो गया और अंदर तक कैसे डालता उसे बोला लंड यही तक जाएगा.

फिर डॉग स्टाइल मे चोदते वक़्त फिर से बोली और अंदर तक डालो पूरी चुत मे खुली है मिटा दो जितनी ज़ोर से मैं उसकी चुत पीछे से मार रहा था उसे ज़्यादा ज़ोर से वो अपनी गॅंड आगे पीछे कर के मेरे लंड पे मार रही थी.

More Sexy Stories  चची की तेल लगा के चुदाई की

फिर उसने अपने एक हाथ से मेरे हाथ पकड़ा और अपने राइट बूब्स पे रखा और मेरे हाथ के उपर से अपना बूब्स दबाने लगी फिर मैने बूब्स को मसलना शुरू कर दिया.

फिर उसको अपने लंड पे बैठा दिया और नीचे से चुत मारने लगा उसने अपना सिर मेरे कंधो पर रख दिया और सिसकिया मारते हुए कहा और अंदर तक डालो ना और मुझे टाइट पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से कमर को आगे पीछे करने लगी और सारा पानी मेरे लंड पे गिरा दी.

फिर लंड से उतर के लंड को हात से पकड़ कर ज़ुबान से चाटने लगी और पूरा लंड सॉफ कर दिया फिर मैने उसका सिर पकड़ कर उसका मूह चोदने लगा और पानी मूह मे निकाल दिया.

ऐसे ही 2बार और चुदाई की मैने उसके बाद हर वीक हम सेक्स करने लगे मैने उसको काई बार पूछा उसकी चुत इतनी खुली हुई कैसे है वो मना कर देती बताने से आख़िर एक दिन मैने ज़ोर ज़बरदस्ती से पूछा.

तो उसने बताया की उसके कॉलेज का लड़का था जब वो 12थ मे थी उसकी और उसकी फ्रेंड्स की चुदाई करता था तो मैने पूछा अब कहा है वो तो बोली ऑस्ट्रेलीयीया गया है तभी से यहा आया ही नही.

उस दिन फिर से मैने उसकी चुदाई की मैने सोचा आज इसकी गॅंड भी मार लू मैने कॉंडम और तेल साथ ले गया वो भी राज़ी हो गई गॅंड मरवाने को वो बेड के कोने मे थी मैं नीचे खड़ा था.

उसने अपने हाथो से गॅंड को फैला रही थी मैने बहुत कोशिश की लेकिन उसका छेद बहुत छोटा था और मेरा लंड मोटा उसने कहा कोई पतली चीज़ से गॅंड का होल थोड़ा बड़ा कर दो पर वाहा हमे कुछ नही मिला आख़िर मैने उसकी चुत मारी और निकल गये जब हम ट्रेन से आ रहे थे तब भीड़ ज़्यादा थी.

और सोनल के पीछे मेरा दोस्त अमर आ गया उसका लंड सोनल की गॅंड मे रगड़ रहा था सोनल ने उसके लंड को महसूस किया जब हम बाहर आए तो उसने बताया तेरे दोस्त का लंड खड़ा हो गया मेरे को रगड़ रहा था लंबाई आछी है उसके लंड की उसकी जीएफ़ तो नसीब वाली होगी जो अंदर तक उसका लंड जाता होगा और एकदम से सोनल को होश आया और सॉरी बोली.

More Sexy Stories  चाचियों की साथ ग्रूप सेक्स

मैने पूछा सच मे तुझे अमर से चुदना है तो बोली अगर हा बोलू तो मैने कहा ठीक हैं चुदवा ले बुझा ले अपनी प्यास को एक दिन अमर मिल गया सोनल ने उसे अपना नंबर दिया और बोला महेश को मत बताना की मैने तुम्हे नंबर दिया इस इशारे को अमर समझ गया.

वो 2 दिन बाद फाइनली सोनल उसे वही होटेल ले गयी जहा मैं उसे चोदता था अमर का लंड लंबा तो ज़रूर था पर पतला बहुत था उसने मेरी जीएफ़ की बहुत चुदाई की यहा तक की गॅंड भी मारी उसका पतला लंड होने से गॅंड मे जाने को आसानी हो गई.

इस दौरान 2 मंथ हो गये सोनल ने खूप गॅंड मरवाई थी अमर को भी सोनल के बिना रहा नही जाता था और सोनल ने मुझसे ब्रेक अप कर लिया पर ब्रेकअप होने के बाद भी मैने सोनल को 3 बार चोदा था.

अमर उसे मना करने लगा उसने अमर की बात मान ली अब सोनल मेरे से सेक्स नही करती तब से मुझे सोनल से बदला लेना था इस 31स्ट को पार्टी मे सोनल भी थी लेकिन अमर नही था इसी बात का फ़ायदा उठा लिया.

मैं सोनल को पार्किंग मे ले गया वाहा कोई नही था मैने मेरी कार मे उसे बैठा दिया पिछली सीट पर और बाहर लाउड म्यूज़िक था.

मैने भी कार मे लाउड म्यूज़िक लगा दिया और सोनल को किस करने लगा सोनल मना करने लगी पर मैं रुका नही कार मे ही उसे कुतिया बना दिया और थूक लगा कर उसकी गॅंड मे घुसा दिया वो तपड़ने लगी.

मैं रुका नही और गॅंड मारना शुरू रखा सोनल आदमरी जैसे हो गई थी मैने पानी उसके गॅंड मे ही छोड़ दिया.

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि देसीकाहानी पर कहानियों का ये दौर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

अब सोनल मुझसे बात नही करती और उसने अमर को सब बता दिया था हमारे बीच झगड़ा भी होगया था और ऐसे मेरी जीएफ़ को लंबे लंड ने अपना गुलाम बना दिया सेक्स स्टोरी मेरी मैल आईडी है