दोस्त की गर्लफ्रेंड के साथ मस्ती

new sex jodi free hindi sex story dost ki girlfriend ke saath masti हाय दोस्तों मेरा नाम राकेश है और मैं आपको अपनी ज़िंदगी की एक न्यू सेक्स जोड़ी फ्री हिन्दी सेक्स स्टोरी जो की पिछले साल गर्मिो मे हुई थी उसके बारे मे बताने जा रहा हू, लास्ट टाइम मैने अपनी कज़िन अंजलि को चोदा था, हम खूब चुदाई करते थे बट उसके बाद वो देल्ही चली गयी और मैं पटना मे शिफ्ट हो गया.

पटना मे मैं मेरे दो दोस्त रोहित और विकास के साथ शिफ्ट हो गया, हमारा फ्लॅट तीन रूम का था, वाहा उनके साथ विकास की दीदी प्रिया और रोहित की जीएफ़ शिवानी भी रहीती थी.

एक रूम मे दीदी सोती थी एक मे रोहित और शिवानी और एक मे मैं और विकास, प्रिया दी और शिवानी हम सब से काफ़ी फ्रॅंक थी, मैं एक अथलेटिक लड़का हू और काफ़ी फिट बॉडी है दिखने मे भी हॅंडसम हू मेरा लंड 6.5″ लंबा है और करीब 3″ मोटा, और ये काफ़ी है किसी लड़की को सॅटिस्फाइ करने के लिए

अब मैं आपको ज़्यादा बोर ना करते हुए कहानी पे आता हू, मैने जब पहली बार शिवानी को देखा तो उसे देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया उसका फिगर 32-28-32 का होगा उसकी उभरी हुई गॅंड गोरा बदन देख के किसी का भी लंड खड़ा हो जाए और प्रिया दीदी भी कम नही थी उनके भी बूब्स काफ़ी बड़े और गोरे थे, उनकी मसल जांघे और बड़ी गॅंड देख के मेरा मन उनकी गॅंड मे लंड डालने को करने लगा पर मैने बस मूठ मार के खुद को शांत कर लिया.

मैं अक्सर ही बातो बातो मे शिवानी को टच कर देता और वो बस मुस्करा देती इससे मेरी हिम्मत और बढ़ जाती, हम अक्सर साथ मे बैठ के मॉवीज देखा करते कई बार तो हॉट सीन्स भी हमारे बीच ये सब कॉमन हो गया था.

मुझे चुत चोदे हुए करीब सिक्स मंथ से ज़्यादा हो गये थे और मेरा लंड चुत मे जाने को मचल रहा था, मैं किसी भी तरह शिवानी को चोदना चाहता था पर मुझे नही पता था की मेरी ये मुराद जल्दी ही पूरी होने वाली है, दरसल रोहित को देल्ही जाना था अपने भाई को लाने के लिए और उसके बाद वो गाओ चला जाता.

वो करीब 10-12 दिन बाद वापिस आता, तो मैने प्लान बनाने लगा की इसको चोदा कैसे जाए, मेरे लिए सबसे अच्छा समय दो तीन बजे था क्यूकी उस वक़्त दीदी क्लास चली जाती थी, दीदी का क्लास 1पीयेम से 6पीयेम तक चलता था, वो रूम से निकलने के बाद सीधे 7.30 बजे आती थी, इस वक़्त हमे काफ़ी समय मिल जाता, बस प्राब्लम था तो विकास, जब रोहित चला गया तो शाम को शिवानी किचन मे थी.

हमारा किचन ज़्यादा बड़ा नही था वो खाना बना रही थी, मैं भी किचन मे चला गया कुछ चिप्स लेने के लिए, उस समय वो प्याज काट रही थी तभी उसके हाथ से चाकू नीचे गिर गया उसे उठाने के लिए वो झुकी और मुझे उसके बूब्स के दर्शन हो गये क्या बड़े बड़े बूब्स थे मेरा लंड खड़ा हो गया.

उस समय मैने हाफ पैंट पहना हुआ था नीचे तो एकदम टेंट बन चुका था, मैं बाहर जाने लगा की तभी वो पीछे हुई और मेरा लंड उसके गॅंड मे चुभ गया वो पीछे मूडी और मुस्करा दी, पहले मैं तो डर ही गया था बट फिर मुझे भी लगा की ये कुछ नही बोलेगी.

फिर मैं बाहर चला गया और पास वाले मेडिकल स्टोर पे जा के वायग्रा के टॅब्लेट्स ले आया, खाना बनाने के बाद शिवानी नहाने चली गयी तो उसने मुझे बोला की राकेश मैने दूध बोइल करने के लिए गॅस पे डाल दिया है जब उबल जाए तो बंद कर देना, वाहा दूध सिर्फ शिवानी ही पीती थी तो मैने उबाल जाने के बाद उसे ग्लास मे डाल दिया ठंडा होने के लिए फिर मैने उसमे वायग्रा की टॅबलेट तो टुक के करीब एक चौथाई मिला दी.

मैं जल्दबाज़ी नही करना चाहता था, मैं बस इतना चाहता था की उसे चुदने का मन भी करे पर इतना नही की वो अपने आप को फिंगर से शांत कर ले, फिर वो नहा के आई और दूध पी लिया.

मैं तो बस मौके की तलाश मे था, दिन मे हम अक्सर सत्तू घोल के पिया करते थे और अक्सर मैं ही घोला करता था, नेक्स्ट डे जब दीदी क्लास जाने को हुई तो उन्होने मुझे कहा की सत्तू घोल लो मैं पी के जाउन्गि, तो मैं किचन मे चला गया सत्तू घोलने के लिए.

More Sexy Stories  जिगोलो बनाने के बाद मेरी पहली क्लाइंट

इस बार मैने एक टॅबलेट का पाउडर बना के सबके ग्लास मे डाल दिया , उसके बाद दीदी क्लास चली गयी और मैं विकास और शिवानी मूवी देखने लगे, जब मूवी मे किस्सिंग सीन चल रहा था तो मैने नोटीस किया की शिवानी अपने होंठ काट रही थी वो गरम हो रही थी.

नेक्स्ट डे विकास अपने कुछ दोस्तो के साथ मूवी देखने चला गया और बोला की शाम को आएगा और दीदी भी क्लास चली गयी, मैने देखा की मौका अच्छा है मैने शिवानी से पूछा की सत्तू पिओगी तो उसने कहा की हा बना दो, इस बार मैने एक पूरा टॅबलेट मिला दिया उसके ग्लास मे, वो पूरा पी गई और फिर मूवी देखने लगी.

मैं अक्सर लॅपटॉप मे पॉर्न मूवीस रखता था बट हाइड कर के पर इस बार मैने उसे उसी फोल्डर मे कुछ और फोल्डर बनाके अंदर डाल दिया ताकि वो शिवानी को आसहनि से मिल जाए, शिवानी ने मुझसे कहा की वो कल वाली मूवी देखेगी उसमे करीब 30 मीं बचा हुआ है, मैने वो मूवी देखी हुई थी सो मैं दूसरे रूम मे जा के गेम खेलने लग गया.

मैं दूसरे रूम मे था बट मुझे इस रूम का सॉफ सॉफ सब कुछ दिख रहा था क्यू की दोनो रूम आमने सामने थे और उसने गेट बंद नही किया था, शिवानी मूवी देखते समय एक टाइट टीशर्ट पहेनी हुई थी और एक लोवर.

मैने कुछ समय बाद नोटीस किया की उसके निप्पल टाइट हो गये थे और टीशर्ट के बाहर की ओर पोक कर रहे थे और उसका हाथ बार बार उसके चुत की तरफ जा रहा था, मैं समझ गया की अब ये काफ़ी गर्म हो गयी है.

ये सब देख के ही मेरा लंड खड़ा हो गया और मेरे पैंट मे टेंट बन गया, मैं बिना अपने लंड को अड्जस्ट किए हुए उसके रूम मे चला गया, उसे जब मेरी आहट लगी तो वो मेरी तरफ घूमी बट उसकी नज़र मेरे लंड पर पहेले पड़ी और वही रुक गयी, उसकी नज़र मेरे लंड से नही हट रही थी, मैने देखा की वो उस समय बॉडी हीट मूवी देख रही थी और उसमे चुदाई का सीन चल रहा था.

जब मैने देखा की अब उसके चुत की आग बहुत भड़क चुकी है तो मैं उसकी तरफ झुका और उसके होंठ मे अपने होंठ लगा दिए, मैने जैसे ही होंठ लगाए की वो मुझे किस करना स्टार्ट कर दी, मुझे उसकी शरीर की गर्मी महसूस हो रही थी, किस करते करते मैं उसके टीशर्ट के उपर से ही उसके मस्त बूब्स को दबाने लगा, उसकी निप्पल को मसलने लगा.

फिर मैने अपनी जीभ उसके मूह मे डाल दी और काफ़ी देर तक हम दोनो की किस्सिंग चली, मैने अपना एक हात उसके लोवर मे डाल दिया और उसकी चुत को जैसे ही टच किया की वो मचल उठी, मैं उसकी चुत को उसकी पैंटी के उपर से ही सहलाने लगा, उसकी पूरी पैंटी गीली थी.

अब मैने उसकी टीशर्ट को निकाल दिया. उसने अंदर मे ब्रा नही पहनी थी उसके बूब्स देखते ही, मैने उन्हे चूसना शुरू कर दिया बीच बीच मे मैं उसके निप्पल्स को दाँत से काट देता वो एकदम से आहह करने लगती, फिर मैं उसकी नाभि को चूस्ते हुए उसकी लोवर उतार दिया और उसकी पैंटी को अपने मूह से खींच के उतार दिया, उसकी चुत पे एक भी बाल नही थी.

उसकी पिंक चुत देख के मैं तो एकदम सा पागल ही हो गया और मैने अपना मूह उसकी चुत पे लगा दिया, जैसे ही मैने अपने जीभ से उसकी चुत को छुआ वो एकदम से उछाल पड़ी और आह्ह्ह अह्ह्ह्ह की आवाज़ें निकालने लगी, उसने अपने हातो से मेरा सर अपने चुत पे दबाने लगी.

बट मैं चाहता था की उसे थोड़ा तड़पाया जाए तो मैने उसकी चुत मे जीभ डाल के उसे मूह से ही चोदने लगा और जब लगा की वो झड़ने वाली है तो मैं उसकी चुत छोड के उसके बूब्स चूसने लगता वो एकदम से मचल जाती और कहने लगी की जल्दी से मुझे चोद दो, पर मैं कहा मानने वाला था मैने करीब दो तीन बार ऐसे ही किया वो बिन पानी मछली के जैसे तड़पने लगी.

More Sexy Stories  गर्लफ्रेंड डिम्पल को कार में चोदा

फिर मैने जैसे ही मैने अपनी जिब उसकी चुत मे डाली की उसके चुत से एक फव्वारा निकला मानो की किसी ने पानी से भरे हुए गुब्बारे मे सुई चूबो दी हो, उसके पानी से मेरा पूरा मूह उसके चुत के पानी से भर गया, उसका पूरा शरीर अकड़ रहा था.

उसके झड़ जाने के बाद मैने अपने सारे कपड़े उतार दिए और अपने लंड को आज़ाद किया, मैने अपने लंड को उसके मूह के पास ले गया की वो मेरे बिना कहे ही मेरे लंड अपने मूह मे ले ली और चूसने लगी, मुझे लग रहा था की मैं जन्नत मे हू.

जिस लड़की को देख के मैं कुछ दिन पहेले तक मूठ मार रहा था आज उसके मूह मे मेरा लंड है और वो खुशी खुशी चूस रही थी, मैं भी अब उसका सर पकड़ के उसके मूह को चोदने लगा और वो भी मेरे लॅंड को अपने थ्रोट तक लेने लगी.मैं साथ मे ही उसके बूब्स को मसलने लगा मैं उसका मूह चोदते चोदते उसके थ्रोट मे झड़ गया और उसका सिर पकड़ा रहा वो सारा पानी पी गयी.

वैसे तो मैं झड़ चुका था पर मेरी आग अभी बुझी नही थी, मुझे तो अब चुत चोदना था, मेरा लंड तुरंत फिर से तैयार हो गया क्यूकी मेरे सामने ऐसी सेक्सी लड़की वो भी पूरी नंगी थी.

शी वाज़ लाइक अ सेक्स गोडएसस, मैने उसके बूब्स चूसने चालू कर दिया और लंड को उसकी चुत पे रगड़ने लगा, वो मचल उठी और कहने लगी की अब मत तड़पाओ मैं सह नही पाउन्गि.

फिर क्या था मैने उसकी गॅंड के नीचे एक तकिया रखा और चुत पे लंड सेट कर के पुश किया पर लंड फिसल गया फिर एक बार जोरदार झटका दिया और करीब आधा लंड उसके चुत मे घुस चुका था वो चिल्ला उठी, बाद मे पूछने पे उसने बताया की रोहित उसके साथ ज़्यादा सेक्स नही करता और उसका लंड मेरे से छोटा है.

उसने अपने नाख़ून मेरे पीठ मे चूबो रखे थे मैं थोड़ा रुक के फिर एक झटका दिया और पूरा लंड उसके चुत मे समा गया, उसने जैसे तैसे खुद को संभाला, फिर मैने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू कर दिए और वो भी मस्ती मे आह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह करने लगी.

उसकी मोनिंग को सुनके मैं और जोश मे आ गया और अपने लंड को उसकी चुत की गहराइयों मी उतारने लगा साथ ही उसके बूब्स को चूसने लगा, मैं बीच बीच मे उसके निप्पल्स को दाँत से काट देता, हमारी चुदाई करीब 30 मीं तक चली होगी इतने मे ही वो दो बार झड़ चुकी थी, मैं पहले एक बार झड़ चुका था इसलिए मुझे दुबारा झड़ने मई काफ़ी टाइम लगा.

फिर उसने कहा की वो अब फिर झड़ने वाली है तो मैने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और उससे पूछा की अपना माल कहा निकालु, तो उसने कहा की अंदर ही निकाल दो मुझे अच्छा लगेगा, फिर क्या था मैने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और हम दोनो साथ मे ही झड़ गये.

मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया कहानी को ‘लाइक’ ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये डोर देसीकाहानी पर आपके लिए यूँही चलता रहे.

मैने उससे कहा की अब मुझे उसकी गॅंड मारनी है तो उसने मुझे मना कर दिया और कहा की बहुत दर्द करेगा फिर कभी, दोस्तों उसकी गॅंड वर्जिन ही थी उसने पहेले कभी गॅंड नही मरवाई थी, मैं भी उसकी बात मान कर उसकी गॅंड नही मारी, मैं आपको अगली स्टोरी मे बताउन्गा की मैने उसकी गॅंड कैसे मारी.

वैसे स्टोरी अभी ख़तम नही हुई है कुछ आगे भी है.

फिर हम दोनो बेड पे लेट गये वो मेरी बाहों मे थी और मेरे सिने को सहला रही थी, की इतने मे दीदी रूम मे इंटर करती है और कहती है की तुम दोनो ये क्या कर रहे हो.

मेरी तो गॅंड ही फट गयी की अब क्या होगा, दरअसल मैं आपको बताना भूल गया की हमारा जो मेन गेट था उससे एकदम सटी हुई एक खिड़की थी और अक्सर हम उसी खिड़की मे हांत डाल के अंदर वाली कुण्डी खोल देते थे इसी वजह से दीदी अंदर आ गयी.

मैं आपको अपनी अगली स्टोरी मे बताउन्गा की मेरी गॅंड फटती है या दीदी और शिवानी की.

आपको मेरी ये न्यू सेक्स जोड़ी फ्री हिन्दी सेक्स स्टोरी कैसे लगी ये ज़रूर बतैयेग