दोस्त की गर्लफ्रेंड के साथ मस्ती

फिर उसने कहा की वो अब फिर झड़ने वाली है तो मैने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और उससे पूछा की अपना माल कहा निकालु, तो उसने कहा की अंदर ही निकाल दो मुझे अच्छा लगेगा, फिर क्या था मैने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और हम दोनो साथ मे ही झड़ गये.

मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया कहानी को ‘लाइक’ ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये डोर देसीकाहानी पर आपके लिए यूँही चलता रहे.

मैने उससे कहा की अब मुझे उसकी गॅंड मारनी है तो उसने मुझे मना कर दिया और कहा की बहुत दर्द करेगा फिर कभी, दोस्तों उसकी गॅंड वर्जिन ही थी उसने पहेले कभी गॅंड नही मरवाई थी, मैं भी उसकी बात मान कर उसकी गॅंड नही मारी, मैं आपको अगली स्टोरी मे बताउन्गा की मैने उसकी गॅंड कैसे मारी.

वैसे स्टोरी अभी ख़तम नही हुई है कुछ आगे भी है.

फिर हम दोनो बेड पे लेट गये वो मेरी बाहों मे थी और मेरे सिने को सहला रही थी, की इतने मे दीदी रूम मे इंटर करती है और कहती है की तुम दोनो ये क्या कर रहे हो.

मेरी तो गॅंड ही फट गयी की अब क्या होगा, दरअसल मैं आपको बताना भूल गया की हमारा जो मेन गेट था उससे एकदम सटी हुई एक खिड़की थी और अक्सर हम उसी खिड़की मे हांत डाल के अंदर वाली कुण्डी खोल देते थे इसी वजह से दीदी अंदर आ गयी.

मैं आपको अपनी अगली स्टोरी मे बताउन्गा की मेरी गॅंड फटती है या दीदी और शिवानी की.

More Sexy Stories  सहेली ने दिलाया अपने भाई का तगड़ा जवान लंड

आपको मेरी ये न्यू सेक्स जोड़ी फ्री हिन्दी सेक्स स्टोरी कैसे लगी ये ज़रूर बतैयेग

Pages: 1 2 3