इरोटिक बॉडी मसाज के बहाने मस्ती भरे पल-2

This story is part of a series:


  • keyboard_arrow_left

    इरोटिक बॉडी मसाज के बहाने मस्ती भरे पल-1


  • keyboard_arrow_right

    इरोटिक बॉडी मसाज के बहाने मस्ती भरे पल-3

  • View all stories in series

अभी तक आपने पढ़ा:
विनय और रीमा खजूराहो गये तो मसाज पार्लर देख उन्होंने मालिश कराने की सोची। एक मसाज बॉय को होटल रूम में बुलाया और पहले विनाय ने मालिश कराई, फ़िर रीमा ने!
अब आगे:

वीरेन कपड़े पहनने के लिए वाशरूम जाने को हुआ तो वो रीमा से बाय बोलने को आया।
रीमा ने उसे खींच कर उसके होंठ से अपने होंठ मिला दिए, उसका लंड पकड़ लिया और बोली- अंदर आ जाओ!

वीरेन ने विनय की ओर देखा, विनय ने अपना लंड रीमा के मुँह में दे दिया और वीरेन से बोला- चोद इसे और फाड़ दे इसकी चूत को!
मसाज बॉय वीरेन ने रीमा की टांगें चौड़ी की और अपने हाथों से उसके पैरों को पकड़ कर अपना मूसल जैसा लंड घुसेड़ दिया रीमा की चूत में!
रीमा चीखी पर उसे मजा बहुत आया।

अब वीरेन ने पहले धीरे, फिर तेजी से उसकी चुदाई शुरू की। रीमा ने विनय का लंड भी अपने मुँह से निकाल दिया और ऊपर उठ कर वीरेन का लंड अपनी चूत में जाता देखने लगी।

वीरेन ने चुदाई की स्पीड बहुत बढ़ा दी थी और रीमा अब गाली दे रही थी- फाड़ ही दोगे क्या आज? ऐसा माल आज तक तुझे मिला नहीं होगा वीरेन… ले ले पूरी मौज आज और मुझे भी पूरा मजा दे!

वीरेन ने एक झटके में सारा माल रीमा के मम्मों पर डाल दिया।

अब वीरेन वाशरूम में जाकर नहाया और कपड़े पहन कर विनय से रुपये लेकर चला गया।

वीरेन के जाते ही रीमा ने विनय को ऊपर खींच लिया और अपनी टांगें चौड़ी करके उसका लंड अंदर कर लिया। फिर कमरे में जो तूफ़ान आया, वो यह नहीं तय हो पा रहा था कि विनय रीमा को चोद रहा है या रीमा विनय का दैहिक शोषण कर रही है।

पांच मिनट की धक्कम मुक्का के बाद दोनों हांफ गए और निढाल होकर पड़ गए।
थोड़ी देर बाद दोनों उठ कर नहाने गए, नहा कर भूख लग आई थी तो देखा होटल का रेस्टोरेंट बंद होने वाला था, विनय ने फटाफट डिनर का आर्डर दिया और तब तक एक ड्रिंक बना ली।

डिनर करके दोनों थक गए थे इसलिए नंगे चिपट कर सो गए।

विनय की रात को 3 बजे आँख खुली, वो पेशाब करके आया तो उसका लंड तमतमा रहा था, उसने रीमा को सीधा किया और घुसेड़ दिया अपना लंड उसकी चूत में!
रीमा भी उछल उछल कर उसका साथ दे रही थी, सारा माल रीमा की चूत में निकाल कर विनय वहीं पसर गया।

रीमा ने हैण्ड टॉवल से अपनी चूत पौंछी और टॉवल पैरों के बीच दबा कर सो गई।

सुबह 9 बजे उनकी आँख खुली, फ्रेश होकर रेस्तराँ में जाकर दोनों ने ब्रेकफास्ट किया। कमरे में आकर विनय को फिर चुदाई का भूत चढ़ा तो उसने रीमा को नंगी किया और घोड़ी बना कर पीछे से चुदाई का एक सेशन पूरा किया।
कल की मालिश ने उनका होंसला बढ़ा दिया था।

रीमा से राय करके विनय ने हिना को फोन करके बॉडी टू बॉडी मसाज के लिए रात 9 बजे का टाइम लिया। हिना ने उन्हें कुछ फोटो वटस ऐप पर सेन्ड किये, उनमें से एक लड़की और एक लड़का उन दोनों ने रात के लिए पसंद कर लिया और हिना को बता दिया।
नहा कर दोनों खजुराहो के वेस्टर्न टेम्पल देखने गए, उनके बराबर के कमरे में भी एक उन्हीं की उम्र का जोड़ा दिल्ली से आकर रुका था, वो फलाइट से आये थे इसलिए मंदिर जाते समय वो भी उनके साथ ही चल दिए।

मंदिर घूमने में तो सेक्स की बातें ही विषय थी। दोपहर तक दोनों जोड़े काफी खुल गए थे, उनका नाम समीर और राखी था।
राखी भी बहुत सेक्सी अपील वाली औरत थी।

समीर और राखी विनय और रीमा को बहुत पसंद आये। रीमा ने बातों ही बातों में यह बात छेड़ दी कि खजुराहो में मस्त मालिश होती है।
समीर ने विनय से कहा- यार मालूम करो कहाँ होती है? और अगर सेफ हो तो चलो मस्ती करें।

विनय ने भोला बन कर के कहा- यार बॉडी टू बॉडी मालिश में कुछ गड़बड़ तो नहीं होगी?
इस पर समीर बोला- कुछ नहीं यार, बड़ा मजा आता है, मैं और राखी तो थाईलैंड में करा चुके हैं।
विनय ने कहा- मालूम करता हूँ, अगर हुआ तो आज रात की बुकिंग करता हूँ।

घूम फिर कर 4 बजे तक दोनों जोड़े होटल वापस आ गए।
शाम को खजुराहो महोत्सव और उसके बाद मसाज के लिए जाना था। कमरे में एक बार फिर चुदाई का सेशन हुआ और शाम को 6 बजे चारों होटल से निकले।
आज रीमा और राखी ने स्कर्ट टॉप पहना था और विनय और समीर जीन्स शर्ट में थे। चारों के मन में रात को होने वाली मसाज को लेकर संकोच और मस्ती का मिलाजुला भाव था।

कार में लड़कियाँ पीछे बैठीं।

पार्किंग में कार खड़ी करके चारों महोत्सव में गए। क्लासिकल डांस का अनूठा मंजर था, खाने पीने के भी स्टाल थे, 8.30 बजे तक चारों वहां से निकल लिए।
बाहर खूब सामान बिक रहा था। एक फेरी वाले से विनय ने रबर का बना लगभग 8-9 इंच का लंड लिया।चारों उसे देख कर खूब हंसे।

राखी हंस कर रीमा से बोली- आज तो तेरी खैर नहीं…
इसी बीच में समीर ने भी एक ऐसा ही रबर का खिलौना लिया जो लंड के आकार का था और उसमें दोनों ओर टोपा बना था… उसका साइज़ भी 12 इंच का था।

विनय ने पूछा- दोनों तरफ से क्या होगा?
तो समीर हंस कर बोला- एक ओर से रीमा और दूसरी ओर से राखी चोदेंगी एक दूसरे को!
सब हंस पड़े।

रीमा के कहने पर समीर और विनय ने एक एक बोतल मसाज आयल भी लिया।
ठीक 9 बजे चारों मसाज पार्लर पहुँच गए, वहाँ हिना ने उनका स्वागत किया और कॉफ़ी पिलाई, दोनों जोड़ों को अलग अलग कमरे में भेज दिया।

विनय और रीमा जिस कमरे में पहुंचे, वहां भीनी भीनी खुशबू फ़ैल रही थी, दो-तीन मद्धिम रोशनी वाले लैंप जल रहे थे, हल्का म्यूजिक चालू था।
कमरे में दो लम्बी मसाज टेबल थीं जिन पर गद्दी के ऊपर ही प्लास्टिक की चादर बिछी थी, दोनों टेबल्स पर दो दो टॉवल थे और उन दोनों टेबल्स के बीच में एक पर्दा था। हिना ने उन्हें बता दिया कि रूम में जाकर दोनों कपडे उतर कर टॉवल लपेट लें।

विनय और रीमा ने अपने अपने कपड़े उतारे और टॉवल लपेट लिया। अबकी बार रीमा ने पेंटी भी उतार दी।
तभी कमरे में डॉली और रिंकू नाम का लड़का, लड़की आये, ये वही थे जिनकी फोटो विनय ने पसंद की थी, दोनों ने विनय और रीमा से हाथ मिलाया।

डॉली और रिंकू दोनों ही थाईलैंड के थे, इसलिए गोरे चिट्टे और चिकने से थे।
रिंकू ने पूछा- बताइए कौन किसकी मालिश करें?

विनय ने हंसकर डॉली का हाथ पकड़ लिया तो रिंकू ने रीमा को आहिस्ता से दूसरे बेड की ओर जाने का इशारा किया।
डॉली ने विनय को बेड पर पेट के बल लेटने को कहा और बीच का पर्दा खींच दिया।
रीमा घबराई और कहा- पर्दा खुला रहने दो!
तो रिंकू ने उसे समझाया- परेशान मत होइए.. पर्दा होने से आप ज्यादा एन्जॉय करेंगी और सर यहीं तो हैं।

विनय बेड पर लेटा तो डॉली ने उसका टॉवल अलग कर दिया। फिर ढेर सारा तेल उसकी पीठ पर डाला और वहीं से तेल लेकर विनय की गर्दन और पीठ की मालिश शुरू की। उसके नर्म नर्म चिकने हाथ और ऑरेंज कलर के नेल पेंट से पुती उसकी उंगलियाँ विनय को मजा दे रहीं थी।

डॉली ने अपना गाउन उतार दिया और अब वो टू पीस स्विम सूट में थी।

डॉली अब विनय के पैरों की मालिश कर रही थी, उसने विनय के हिप्स की दरारों में हथेली डाल कर उसकी बॉल्स तक को मल दिया। विनय को बहुत आराम मिल रहा था, वो यह सोच कर बेचैन था कि उधर रीमा क्या कर रही होगी।

अब डॉली टेबल पर ऊपर बैठ गई और उसने अपने ऊपर भी ढेर सारा तेल डाल लिया और पीठ के बल लेते विनय के ऊपर लेट गई। उसने अपना अपर उतार दिया था और मम्मों से विनय की पीठ रगड़ने लगी।

अब तो विनय की हालत बिगड़ गई थी पर लंड दबा होने से बस बिलबिला कर रह जा रहा था। डॉली अपनी पीठ के बल विनय के ऊपर ही लेट कर आगे पीछे हो रही थी। थोड़ी देर बाद डॉली नीचे उतरी और विनय को सीधा होने को कहा और ढेर सारा तेल उसकी छाती पर डाल दिया।

वो दोबारा विनय के लंड के ऊपर बैठ गई और उसकी छाती की हाथों से मालिश करने लगी। विनय का लंड उसकी चूत के ऊपर टक्कर मार रहा था।
डॉली ने अब अपने मम्मों से उसकी छाती की मालिश शुरू की और कभी कभी अपने निप्पल उसके होठों से लगा दिए। अब विनय का लंड तो तम्बू बन चुका था।
उसके पैरों के पास बैठ कर डॉली ने दोनों हथेलियों से उसके लंड मालिश की। बीच बीच में वो छोड़ देती थी, कभी विनय का लंड माल निकाल दे।

अब डॉली ने अपने पंजों पर तेल लगाया और दोनों पंजों से विनय के लंड की मालिश शुरू की। अब विनय के मुख से उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकलनी शुरू हो गई थी।

उधर पर्दे के पीछे से भी रीमा की कामाग्नि की आवाजें आनी शुरु हो गई थीं। विनय से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था, उसने डॉली को अपने ऊपर खींच लिया और उसकी पेंटी उतार दी।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

डॉली ने पास रखे तेल से ढेर सारा तेल अपनी चूत में और मम्मों पर डाला और विनय के ऊपर लेट गई, अब उसके होंठ विनय के होठों से मिले थे और विनय की छाती पर उसके मम्मे धमाल मचा रहे थे।

विनय के लंड को डॉली ने अभी तक अपनी चूत में जाने नहीं दिया था और बार बार आगे पीछे हो रही थी। पर विनय ने एक बार उसको रोक कर उसकी चूत में लंड घुसेड़ ही दिया।
अब डॉली ऊपर बैठ कर उसकी चुदाई कर रही थी और नीचे से विनय धक्के मार रहा था।

पर्दे के दोनों ओर से ही ‘मजा आ गया… और जोर से..’ का शोर था।

विनय खाली हो चुका था, डॉली ने उसे पौंछने को हैण्ड टॉवल दिया और वाशरूम का गेट खोल दिया और बोली- अभी मैम भी आती होंगी।

उधर जब रीमा टेबल पर लेटी तो रिंकू ने उसका टॉवल ढीला करके उसके हिप्स पर डाल दिया और हाथों में हल्का तेल लेकर उसके कन्धों की मालिश शुरू की।

उसने बहुत सधे हाथों से रीमा की सर की भी मालिश की, रीमा को बहुत आराम मिल रहा था। अब रिंकू ने रीमा की नंगी कमर पर ढेर सारा तेल डाला और ऊपर से नीचे मालिश शुरू की।

मालिश करते करते उसने उसकी गोलाइयों को भी साइड से मला। अब वो तेल से उसकी बाँहों और उँगलियों की मसाज करने लगा। रीमा पूरा कोआपरेट कर रही थी।

हाथों की मालिश के बाद उसने दोनों हाथ उसके बगल में किये और पैरों की मालिश करने लगा। अब उसने रीमा का टॉवल पूरा हटा दिया।

रीमा एक बार तो कसमसाई, पर उसे मालूम था कि वो यहाँ आई तो इसीलिए है।
अब रिंकू ने उसके हिप्स की दरार से उसकी चूत तक की मालिश की और इसी बीच उसने अपनी टी शर्ट उतार दी वो अब केवल बरमूडा में था।

रिंकू ने उसकी टांगें चौड़ा दी और टेबल पर ऊपर उसकी टांगों के बीच में बैठ कर उसकी चूत मसलने लगा।
रीमा कसमसा रही थी।

अब रिंकू नीचे उतरा और रीमा को पलटने को कहा, रीमा आहिस्ता से पलटी, उसके मांसल मम्मे चमक रहे थे।
रिंकू ने ढेर सारा तेल उसके मम्मों पर डाला और सर की ओर खड़े होकर मम्मों की मालिश करने लगा।

रीमा अब बेचैन हो रही थी। रिंकूं ने तेल की बोतल उसकी चूत पर पलट दी और उँगलियों से उसकी चूत मसलने लगा।

अब वो रीमा के बगल में खड़ा होकर कभी मम्मे कभी चूत मसल रहा था, रीमा का हाथ उसके लंड को टटोल रहा था और अब रीमा ने उसका बरमूडा नीचे कर के उसका लंड पकड़ लिया।
रिंकू ने तेल की बोतल से ढेर सारा तेल अपने बदन पर डाला, टेबल पर बैठ गया और रीमा के मम्मों की मालिश करने लगा।

रीमा ने उसका लंड पकड़ लिया था और वो चाह रही थी कि रिंकू उसकी चूत में घुस जाए।
पर रिंकू इतनी जल्दी खेल ख़त्म नहीं करना चाह रहा था, वो रीमा के पैरों की ओर बैठ गया और रीमा के नाजुक पंजों को अपनी गोद में रख कर उनकी चूम चूम कर मालिश करने लगा।

रिंकू ने रीमा के पैर का अंगूठा मुह में ले लिया था और अपने पैर के अंगूठे पर तेल लगा कर उसे रीमा की चूत में कर दिया था।
रीमा अब कामाग्नि से जल उठी थी और आवाजें निकाल रही थी। अब वो तड़फ रही थी रिंकू के लंड के लिए!

रिंकू रीमा के ऊपर इस स्टाइल से लेटा कि उसके हर अंग से रीमा की मालिश हो और रीमा पर उसके शरीर का वजन भी न पड़े। रिंकू ने अपना शरीर अपने हाथों पर टिका कर ऊपर से नीचे रीमा के ऊपर रगड़ना शुरू किया, उसका मोटा लंड बार बार रीमा की चूत को रगड़ता ऊपर नीचे हो रहा था।

अब रिंकू 69 की पोजीशन में आ गया और रीमा ने उसका लंड अपने मुँह में ले लिया, रिंकू ने अपनी जीभ रीमा की चूत में कर दी। अब रीमा पागल हो रही थी और बड़बड़ा रही थी कि अब अंदर कर दो प्लीज… मेरी चूत से आग निकल रही है।

रिंकू पलटा और नीचे लेट गया और रीमा को अपने ऊपर बिठाकर उसकी चूत में लंड घुसेड़ दिया।

अब उसने रीमा को अपने पेट पर लिटाया और लंड को धक्के देने शुरू किये। रीमा को तो इस समय तेजी वाली चुदाई चाहिए थी, वो उठी, घूम कर रिंकू के लंड के ऊपर बैठ गई और अपने हाथ से उसका लंड अपनी चूत में करके तेजी से चुदाई करने लगी।
रिंकू नीचे से धक्के दे रहा था।

अब रिंकू ने रीमा को नीचे उतरा और खड़ा होकर रीमा को गोदी में उठा लिया और नीचे से लंड उसकी चूत में कर दिया।
ऐसी चुदाई रीमा की पहली बार हो रही थी, रीमा रिंकू की गर्दन में बाहें डाल कर लटक कर चुदवा रही थी।

अब फाइनल सेशन के लिए रिंकू ने रीमा को टेबल पर लिटाया और टांगें फैला कर घुसेड़ दिया अपना मूसल जैसा लंड और दिए धक्के पर धक्के!
रीमा तो अब ख़ुशी से चीख रही थी, उसे इस बात की बिल्कुल परवाह नहीं थी कि बगल में उसका पति क्या सोचेगा।

पांच मिनट की चुदाई में रिंकू ने सारा माल उसके पेट पर डाल दिया। रिंकू ने पास रखे टॉवल से अपने को पौंछा और रीमा की चूत साफ़ करी और उसे वाश रूम में भेज दिया जहाँ विनय पहले से उसका इंतज़ार कर रहा था।

विनय को देखते ही रीमा उससे चिपट गई और चूम कर बोली- मजा आ गया!
दोनों नहा कर कपड़े पहन कर बाहर आये। पांच मिनट बाद ही समीर और राखी भी आ गए, दोनों बहुत खुश थे।

पेमेंट करके चारों वापिस कार में आकर बैठ गए और हंसी मजाक में अपने अनुभव शेयर करते होटल तक आ गए।
कभी आपने भी एसी मसाज कराई है? मुझे मेल कीजियेगा! [email protected]

More Sexy Stories  गांडू की गांड मारी फिर उसकी बीवी की चुदाई