एक रात की मज़ा, बन गयी सज़ा

एरपोर्ट से मैं अपने फ्लॅट पे आ गया. अपना डोर खोलने ही वाला था की जाने क्या मन मे आया वो अंकल के फ्लॅट पे चला गया. वो अंदर ही थे. उन्होने मुझे अंदर बुलाया और एक पेग बनाया. शाम के 7 बज रहे थे. वो बोले की बेटा तुम नाराज़ तो नही हो. मैने कहा की नही ऐसा तो है नही की रेप किया है. मम्मी भी आपको पसंद करती है. दोनो से थोड़ी मस्ती की बस उसमे मैं क्या कर सकता हूँ. वो बोले बेटा तुम तो बहुत समझदार हो गये हो और अपनी जेब से 100-100 के पाच नोट निकाल के मुझे दे दिए. मैने कहा अर्रे अंकल ये 500 डॉलर किस बात के. बोले ये राज़ राज़ ही रखना किसी को मत बताना.

मुझे तो डॉलर लेते समय ऐसा लगा जैसे मैं दलाल हूँ और मम्मी को इस आदमी से चुदवा के उसकी कीमत ले रहा हूँ. मैने वापस कर दिए तो वे बोले की बुरा मत मानो. ऐसा नही है की ये पहली बार हुआ है. उन्होने थोड़ी पी रखी थी तो मैने सोचा की ज़ुबान फिसल गयी होगी पर फिर भी मैने पूछा की पहली बार नही तो क्या आप मेरी मम्मी के साथ रेग्युलर्ली चुदाई करते हो. वो बोले नही नही ऐसे ही निकल गया मूह से. मैने कहा सच सच बताओ वरना मैं आपकी बीवी को वीडियो ईमेल कर दूँगा. वो बोले की बेटा ऐसा मत करना. अगर जानना चाहते हो तो सुनो.

बात तब की है जब तुम्हारी मम्मी की नयी नयी शादी हुई थी. असल मे तुम्हारी मम्मी की मेरे साथ शादी अरेंज हुई थी पर रिचा और मैं अंजाने मे सेक्स कर चुके थे इसलिए मेरी शादी रिचा से हो गयी. एक रात हम दोनो तुम्हारे पंजाब वाले घर मे आए थे. गर्मी का मौसम था तो सब छत पे ही सोते थे. मैं तुम्हारे डॅडी और कुछ दोस्त पत्ते खेल रहे थे और रिचा दीप्ति छत पे जा के सो गयी थी. मैं गेम मे हार रहा था तो मैं सोने के बहाने छत पे आ गया. वहाँ बहुत सारी औरते सो रही थी और बदल थे आसमान मे जिस वजह से समझ नही आ रहा था की रिचा कहाँ है. मैने उसे बोला था की कोने मे अपने और मेरा बिस्तरा डाल देना. कोने मे एक औरत सो रही थी और बाजू मे खाली बिस्तर था. मैने सोचा ये रिचा होगी और वहाँ जाके लेट गया.

More Sexy Stories  अंकल और मेरी मिली भगत

उस पर मैं अपना हाथ फेरने लगा. पत्ते खेलते खेलते हम लोगो ने थोड़ी पी रखी थी तो एकदम समझ नही आया की ये कौन है. मैने उसके बूब्स दबाने शुरू कर दिए. उसे भी मज़ा आ रहा था. फिर मैने उसके पायजामे का नाडा खोल दिया और उसे घुटने तक निकाल दिया. पैंटी को साइड कर के मैं उसकी चुत मसलने लगा. उसकी चुत एकदम गीली हो चुकी थी. मैं उस पर चढ़ गया और एक झटके मे अपना लंड गाड़ दिया. उसकी चीख निकल गयी. किस्मत से कोई उठा नही. मैने ध्यान से देखा तो वो तुम्हारी मम्मी दीप्ति थी. वो भी मुझे अपना पति समझ के बैठी थी. अपने हाथो से मुझे धक्का देने लगी. मेरा लंड तो घुस ही चुका था और मैं नशे मे था. मैने चोदना शुरू कर दिया. वो मेरी छाती पे हाथ रख के मुझे हटाने की कोशिश कर रही थी. बोलने लगी की ये ग़लत है रुक जाओ पर मैं कहाँ मानने वाला था.

थोड़ी देर मे वो थक गयी और तब तक चुदाइ का भूत उसे भी काबू कर चुका था. उसने आखे बंद कर ली और अपने पैर मेरे उपर लपेट लिए. मेरे लंड और कड़क हो गया और मैने उसके मूह पे अपना हाथ रखा और तेज़ी से उसकी चुदाई शुरू कर दी. उसके चेहरे को देख के ये समझ आ रहा था की उसने इतना बड़ा लंड पहले कभी नही लिया है. उसकी चुत भी एकदम टाइट थी. नीचे से बाकी लोगो के पत्ते खेलने की आवाज़े आ रही थी तो मुझे भरोसा था की कोई उपर नही आ रहा.

तुम्हारे डॅडी बोल रहे थे की कैसे उसने मेरे सारे पैसे जीत लिए और खुश थे. मैं भी खुश था की मैं उसकी बीवी को चोद के अपने पैसे की कीमत वसूल रहा हूँ. थोड़ी देर मे आवाज़े बंद हो गयी तो मैने झट से अपना लंड निकाल लिया और दीप्ति के मूह मे डाल दिया. वही मैने अपना लंड निगल लिया और उसे बोला की गटक जा वरना कोई देखेगा तो गड़बड़ हो जाएगी. वो मेरा पूरा लंड पी गयी. मैने उसके नमकीन हॉट चूमे और फिर अपनी पत्नी के पास जा के सो गया. वो बेचारी तो खर्राटे मार के सो रही थी.

More Sexy Stories  सर्दी की हसीन राते

किस्मत की बात है की तुम्हारे डॅडी ने उपर आने के बाद दीप्ति को चोदना चाहा तो उसने मना कर दिया. वो पिए हुए थे और पैसे जीत चुके थे तो मूड मे भी थे पर दीप्ति को पता था की अगर उन्होने इसी समय लंड गाड़ दिया तो गीलेपन से शक हो सकता है. और वही हुआ. उस छत पे मैं अकेला मर्द था तो उस दिन से वो मुझे पसंद नही करते क्यूकी उन्हे लगता है की पैसे हारने की वजह से बदला लेने के लिए मैने उनकी बीवी को चोद दिया. पर सच तो ये है की वो एक ग़लतफहमी थी.

सारी बात सुन कर मेरे होश उड़ गये. अंकल ने बोला की वो अगले हफ्ते पंजाब जा रहे है एक हफ्ते के लिए रिचा आंटी के साथ. कुछ दिन बाद मम्मी ने भी फोन पे मुझे बताया की वो पंजाब अपने घर वालो को मिलने जाने वाली है अकेले. मुझे शक हो गया की कही अंकल ने उनको चोदने के लिए तो नही बुलाया पर फिर सोचा की रिचा आंटी भी जा रही हैं तो टेन्षन की क्या बात. टेन्षन तो तब हुआ जब पता पड़ा की पेट खराब होने की वजह से आंटी नही जा रही. तो अंकल और मम्मी पंजाब जा रहे थे. मुझे पक्का यकीन हो गया की वहाँ भी कुछ होगा. मैने रिचा आंटी को फोन कर के बोला की अगर आपको अकेले बोर हो रहा है तो आप यहाँ आ जाओ. जब अंकल आएँगे तब चली जाना. मेरे रूम मेट्स भी 2 हफ्ते देर से आने वाले थे. वो राज़ी हो गयी. मैं भी खुश हो गया की पंजाब मे अंकल मम्मी की चुदाई करेंगे और मैं यहाँ रिचा आंटी की. इस से अछा बदला और हो भी क्या सकता था. टू बी कंटिन्यूड. कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके – डीके

Pages: 1 2

Comments 0

  • कोई बहन दीदी भाबीजी भांजी या लड़की मेरे साथ खुल कर मस्ती बाते और मजा करना चाहती हो वो मुझसे कॉल पर कर सकती है सीक्रेट 8800290278

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *