दोस्त की मम्मी को ब्लॅकमेल कर के पेला

Dost ki mummy ki chudai kahani सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। मम्मी की चुदाई कहानी के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी।

हेलो, दोस्तो मेरा नाम वैभव है. मैं आज आप सब लोगो के सामने अपनी जीवन की एक कहानी ले कर आया हू. ये मेरी दूसरी इंडियन आंटी सेक्स स्टोरीस देसी चुदाई कहानी है. ये कहानी उन दीनो की है जब मैं कोचिंग मे पढ़ता था और एक मैने अपनी एक फ्रेंड से कॉपी ली थी और उसको देने उसके घर पर गया था. उसका नाम प्रहर्ष था.

मैने प्रहर्ष का गेट खोला और अंदर गया. प्रहर्ष कंप्यूटर पर गेम खेल रहा था. उसके घर मे उसकी मम्मी और वो ही थे. उस के पापा जॉब पर गये थे और उसकी बेहन अपने मौसी के घर गयी थी. मैने उसकी मम्मी को देखा और देखता ही रह गया इतने मस्त बूब्स और क्या मोटी गॅंड थी.

मैने उसे नमस्ते किया और प्रहर्ष के पास जा कर बैठ गया और मैं भी गेम खेलने लगा तभी उसका फोन बजा और उसने उठा कर अपनी मम्मी को देने के लिए बोला मुझसे. मैने फोन लिया और उसके रूम मे गया तो मैने देखा की उसकी मम्मी अपनी पैंटी मे हाथ डाल कर फिंगरिंग कर रही थी और सेक्सी आवाज़े निकाल रही थी तो. मैने वो सब अपने फोन के वीडियो मे रेकॉर्ड कर लिया था.

मैने डोर नॉक किया और वो जल्दी से नॉर्मल हो कर बोली की ओपन है आ जाओ. मैने तो देख ही लिया था तो मैं हस्ते हुए अंदर गया और उनको फोन दिया और बोला की प्रहर्ष ने दिया है. फिर मैं बाहर आ गया और थोड़ी देर के बाद उसकी मम्मी आई और बोली की प्रहर्ष वो वाले अंकल के घर चले जाओ उनको कुछ काम है.

More Sexy Stories  देसी मम्मी की देसी चुदाई

तो वो मना कर दिया पर आंटी के गुस्सा करने पर वो गया और अब मैं और आंटी ही थे घर पर. मैने सोचा की अछा टाइम हैं आंटी को चोदने का और मैने बोला ठीक है आंटी मैं भी चलता हू आप को बहुत काम होगा. फिर मैं हस्ता हुआ गेट की तरफ चलता गया तो आंटी ने मुझे रोका और बोला की अभी बैठो थोड़ी देर के बाद जाना तो मैने कहा की ठीक है और मैं चाहता भी यही था.

फिर आंटी ने बोला की कुछ खाओगे तो मैने नही बोल दिया. फिर आंटी ने डरते हुए बोला की वैभव जो तुम ने देखा है वो किसी को बताना. तो मैने बोला की क्यो बताने पर मुझे मज़ा आएगा और नही बताने पर क्या मिलेगा तो आंटी ने बोला जो तुम चाहो. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

तो मैने बोला ठीक है. फिर मैने उसकी आँखो को बंद किया और बोला की मैं एक मिनट मे एक टेस्टी चीज़ ले कर आया और बोला की पर आप ये पट्टी न हटाना तो उन्होने बोला की ठीक है. और मैने पैंट निकाल कर अपना लंड हिलाया.

फिर मैने बोला की आंटी अपना मूह खोले तो आंटी ने मूह खोला और मैने अपना लंड उस के मूह मे डाल दिया और पूछा की कैसा है तो वो अपने मूह से मेरा लंड निकाल के बोली की बहुत अछा है क्या है ये और वो बोली की अब तो मेरी आँख खोलदे. तो मैने उनकी आँख खोल दी. वो मेरा लंड देख कर चौक गई और मुझे डराने लगी और बोली की पोलीस मे बतादूँगी जैल भेज दूँगी मेरा भाई पोलीस मे है.

तो मैने वो वीडियो प्ले कर दिया और उस को दिखाया और बोला की करो पोलीस को फोन. तो वो चुप हो गई. फिर मैने अपना लंड हिलाया और मूह मे लेने को इशारा किया.

More Sexy Stories  मेरी फ़ेसबुक फ्रेंड नेहा

वो बोली की ये ग़लत है और वो बैठ गई और मैने बोला की कुछ ग़लत नही है जो हो रहा है वो ही सही है और अपना लंड उनके मूह के सामने रख दिया और बोला की लो. वो लंड को हाथ मे ले कर हिलाने लगी तो मैने उस का सिर पकड़ा और बोला की मूह खोलो तो उसने नही का इशारा किया.

फिर मैने पीछे से उस का बाल खिछा और बोला मूह मे लो. तो उस ने मूह खोला और मैं हाथ से उसका सिर आगे पीछे कर रहा था. मुझे बहुत अछा लग रहा था. मैं उसी के मूह मे झड़ गया और वो बोली की ये क्या है. तो मैने पूछा की लंड मूह मे नही लिया है क्या कभी तो वो बोली की नही. उन के 2 बच्चे थे.

फिर मैने उनके कपड़े उतार दिए और उसके बूब्स को दबाने लगा और अब उन को भी मज़ा आने लगा था. वो भी सिसकिया ले रही थी. फिर मैने उनकी चुत मे अपनी उंगली डाल दी और आगे पीछे करनेलगा. उनकी चुत बहोत गीली हो गई थी और उसका बदन भी हिट मार रहा था.

मैं समझ गया की अब ये झेल नही पा रही है पर मैं उनके मूह से निकलवाना चाहता था की मुझे चोदो. तो मैने अपनी टंग को उन की चुत पर रख दिया और वो हाथ पैर से रोमांचित होने लगी फिर मैने अपने टंग को उनकी चुत मे डाल दिया और चाटने लगा.

उनकी चुत बहुत गीली हो गई थी.वो बोली की अब अपना लंड डाल भी दो. तो मैने मना कर दिया और अपने कपड़े पहनने लगा तो वो बोली की क्यो. मैने बोला की इसके पैसे लगेगे अगर दे सकती हो तो दो नही तो मैं चला.

Pages: 1 2

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *