डोली भाभी ने चुदाई का खूब मजा दिया

हेल्लो दोस्तों  के ऊपर मैं काफी समय से स्टोरी पढ़ रहा हूँ. और बहुत सारे लोगो की स्टोरी पढ़ के मैंने सोचा की मैं खुद भी अपनी एक स्टोरी लिख के इस साईट को भेजू. आज की ये कहानी मेरी और डोली भाभी की है. इस कहानी में आप पढेंगे की कैसे मैंने डोली भाभी का ब्लाउज खोला और उसकी चुदाई की. पहली बार ही लिखने का प्रयास किया है और आशा है की अगर कोई गलती हुई होगी तो आप लोग माफ़ कर देंगे!

वैसे मेरा नाम श्याम है और मैं आगरा का रहनेवाला हूँ. घर एक मिडल क्लास के जैसा ही है. मैं 6 फिट लम्बा हुआ और बॉडी उम्र के हिसाब से एकदम फिट कह सकते है आप. दोस्तों ये बात दिसम्बर 2016 की है जब मेरी विंटर वेकेशन थी. मेरे मम्मी पापा हफ्ते भर के लिए दिल्ली जाना था किसी रिश्तेदार के वहां. लेकिन मैं उनके साथ नहीं जाना चाहता था क्यूंकि मेरे को ये सब में अपने विंटर वेकेशन को खराब नहीं करना था. माँ बड़ी जिद्द कर रही थी. और उनका कहना था की अगर मैं उनके साथ नहीं गया तो खाऊंगा कहा पर. मैंने उन्हें कहा की मैं बहार खा लूँगा तो वो बोली और फिर बीमार होगा तो! तो मेरी माँ ने फिर मेरे एक रिश्तेदार भैया और भाभी को बोला की तुम लोग इसके पास रहना प्लीज़. भैया ने कहा अरे मैं भी आउट ऑफ़ आगरा ही जा रहा हूँ और डोली अकेली ही है. तो माँ ने कहा फिर डोली बिटिया को हमारे घर ही रहने को बोल दो. और इस तरह से डोली भाभी अकेली ही हमारे घर पर रुकने के लिए आ गई.

चलिए अब मैं आप का इंट्रो मेरी कहानी की ऐक्ट्रेस डोली भाभी से करवा दूँ. नाम तो बता दिया मैंने. डोली भाभी की उम्र 28 साल के आस्पा की है और वो एकदम साफ़ रंग की यानी की गोरी है. और भाभी का फिगर 36 30 38 का है. डोली भाभी बड़ी ही हॉट लगती है और मोस्ट ऑफ़ तो वो बेकलेस साडी पहनती है. और बेकलेस कपड़ो में उसके बदन का नजारा और भी सेक्सी हो जाता है. भाभी साड़ी को बेली बटन के निचे बांधती है और उसका बेली बटन एकदम डीप और मोहक है. डोली भाभी को भैया मेरे घर छोड़ के गए. और भाभी ने मेरे को मेरे माँ डेड के बारे में पूछा तो मैंने कहा की आप से मोबाइल पर बात कर के मम्मी और पापा तो निकल गए उनकी मोर्निंग की ही ट्रे थी. फिर मैं और डोली भाभी बातें करने लगे. भाभी बोर हो रही थी तो हम दोनों ने फिल्म देखने का प्लान बनाया.

More Sexy Stories  वियाग्रा खाकर दोनों कामवाली चेतना और सपना को एक साथ चोदा

मैं डोली भाभी को ले के घर के सब से नजदीक के मल्टीप्लेक्स पर चला गया. और मूवी के बाद हम लोग निकले तो ऑलमोस्ट रात ही हो चुकी थी. हम लोगो ने बहार ही एक चाइनीज़ रेस्टोरेंट में डिनर किया और घर वापस आ गए. घर पर हम दोनों ने फिल्म के बारे में बातें चालू की.. और मैंने बोला की भाभी मैं अपने में सो जाऊँगा और आप दुसरे बेडरूम में सो जाना. तो डोली भाभी बोली अरे भाई दुसरे बेडरूम में क्यूँ? तुम मेरे साथ ही सो जाना, किसी को बताना मत लेकिन मेरे को रात को अकेले सोने में आज भी डर लगता है.

और ये सुनने के बाद मैं बहोत खुश हो गया और ये सोच लिया की आज रात को डोली भाभी के साथ कुछ हो सकता है. थोड़ी देर बाद भाभी बाथरूम में चली गई नहाने के लिए और बाथरूम से नाहा के जब वो बहार आई तो मैं उसे देखता ही रह गया. उसके मादक बदन के ऊपर सिर्फ एक तोवेल था और वो तोवेल पहन के ही बेडरूम में कपडे बदलने के लिए चली गई! बाप रे तोवेल में उनकी गांड कितनी भारी और मस्त लग रही थी, वाऊ!

डोली भाभी चेंज करने के बाद बहार आ गई. और वो क्या मस्त माल लग रही थी. उसने उस वक्त एक बेकलेस साडी पहन रखी थी जो रेड कलर की थी. और उसने लाल रंग की ही लिपस्टिक भी लगा ली थी. उन्होंने मेरे को बोला की उसे साडी पहनना बहुत पसंद है और वो रात में भी साडी ही पहनती है. और फिर वो मेरे को बोली चलो हम सो जाते है.

More Sexy Stories  Pados Ki Ek Anjaan Pari

मैंने कहा, ओके भाभी चलो.

कमरे के अंदर जाने के बाद मैंने सब लाईट ऑफ़ कर दी और बेड के ऊपर लेट गया. तभी डोली भाभी ने मेरे को बोला की मेरी पीठ में दर्द हो रहा है. और उसने कहा की लाईट ओन कर के प्लीज मेरी पीठ दबा दो ना. तो मैंने लाईट चालू कर दी और देखा तो वो बेड के ऊपर अपने पेट के बल लेटी हुई थी. मैंने अपने हाथ को भाभी की पीठ के ऊपर रख के उसे मसाज देना चालू कर दिया. और मन ही मन में मैं सोच रहा था की क्या किया जाए! मैं भाभी की पूरी पीठ के ऊपर हाथ को घुमा रहा था और वो बोली अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह! उसके मुहं से कराहने की ये आवाजें सुनके मेरे बदन में करंट दौड़ रहा था और मेरे को ठरक चढ़ रही थी!

भाभी ने बोला, श्याम एक काम करो मेरा ब्लाउज खोल दो ताकि तुम्हे पीठ की मालिश करने में मुश्किल ना हो.

मैंने कहा ठीक है भाभी.

जब मैं ब्लाउज को खोलने लगा तो मैंने देखा की उसके फीते एकदम टाईट बांधे गए थे. मैंने भाभी को बताया की फीते बहुत टाईट थे और मेरे से खुल नहीं रहे थे. तो भाभी ने बोला एक बार और ट्राय करो.

Pages: 1 2 3

Comments 1

Leave a Reply to prashant shah Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *