डॉक्टरनी के साथ पंचतारा होटल में मस्ती

उसके बाद हम दोनों फ्रेश हुए और मैंने फिर उनके यौन अंगों को चूमा।

सात बजे हम दोनों होटल से खरीदारी के लिए निकले तो वो बोली- टैक्सी ले लेती हूँ, सही रहेगा।
मैं बोला- जरूरत नहीं है, कार लेकर आया हूँ।

प्रियंका इस समय काफी सुंदर दिख रही थी, उन्होंने मेरे लाये हुए लहंगे को पहन रखा था.

तब तक ड्राइवर गाड़ी लेकर आ गया। हम दोनों कनॉट प्लेस की तरफ निकल पड़े, जरूरी खरीदारी की, डिजाइनर के यहाँ से उनकी शादी का जोड़ा लिया।
करीब 10 बजे रात तक हम दोनों होटल पहुँचे, कमरे में ही खाना मँगाकर खाया।

थोड़ी देर टेरिस पर टहलने के बाद कमरे मे हम दोनों आये और उन्हें अपनी बाहों में लेकर सोफे पर बैठ गया, फिर अपनी गोद में उनका सर लेकर आँखों में आंखें डालकर बातें करने लगा।
ऐसा लग रहा था कि जन्मों जन्मों की प्यास आज बुझ रही हो।

एकाएक प्रियंका बोल उठी- अब मेरा बुर नहीं फाड़ोगे? चोदो ना… मुझे तुमसे तुम्हारी यादगार के लिए एक बच्चा चाहिए। आज और कल की रात तक का समय तुम्हारे पास है, जितना मर्जी हो, बुरी तरह मुझे रौंद दो। पत्नी नहीं, एक रंडी की तरह चोदो कि एक माह तक मेरी चुदने की इच्छा ना हो। मेरी गांड और बुर को इतना चोदो की खून निकल आये।

मैं बोला- आइसक्रीम खाने की इच्छा हो रही है जान।
तो मैंने वेनिला और चोको क्रीम आइसक्रीम का ऑर्डर दिया, आइसक्रीम आने के बाद प्रियंका उठी और मेरे शरीर के सारे कपड़े हटाकर मुझे जन्मजात नंगा कर दिया और खुद भी हो गई।
इतने अधिकार से कभी मेरी पत्नी ने भी मेरे साथ कुछ नहीं किया होगा।

उन्होंने आधी आइसक्रीम मेरे लिंग पर डाल दी और जीभ से चाटने, खाने लगी। मैं भी अपनी वैनिला उनके स्तन पर डालकर चाटने चूसने लगा.

बड़ा ही सुखद अहसास… सेक्स का आनन्द हम दोनों उठा रहे थे.

उसके बाद हम दोनों 69 की अवस्था में आ गये, मैंने पूरी आईसक्रीम उनकी चूत पर डाल दी, जीभ चूत के अंदर डाल कर चूत के साथ आइसक्रीम को खाने लगा, बीच बीच में चूत के दाने को भी लेकर अपने ओष्ठ से दबा डालता था, पकड़ लेता था तो उनकी आहें निकल जाती थी।

More Sexy Stories  दोस्त की गर्लफ्रेंड नहीं चुदी तो चाची को चोदा

मैंने दो बार उनकी चूत का रस को पीया और अब मेरा भी होने वाला था। प्रियंका इस बार खुद अपने मुँह की गहराई तक मेरे लिंग को ले रही थी। मेरा पानी की धार जब छूटी तो वो इसके लिए तैयार नहीं थी, लिंग उनके गले में फंस गया, सारा पानी सीधे उनके गले में चल गया और वो उसे गटकने में कामयाब भी रही.

फिर वो उठी, मैं सोफे पर बैठा हुआ था तो मेरे निढाल लिंग को ही अपनी चूत की दोनों फांकों के बीच में लेकर बैठ गई और ऊपर नीचे होने लगी।
मैंने उनके बाल को सहलाते हुए पूछा- क्या हुआ है तुझे आज? मेरा सारा आज तुम निचोड़ लोगी क्या?
तो वो मेरे सीने पर अपना सर रखकर रोने लगी, बोली- मैं तुम्हारे बगैर मैं जी नहीं पाऊँगी। अब भी समय है, तुम्हारी पत्नी के साथ ही मैं तुझे स्वीकार करती हूँ, मैं तुम्हारी रखैल बनकर रहने को तैयार हूँ, लेकिन मैं तुम्हारे साथ रहूँगी। मैं तुझे अपना पति मान चुकी हूँ, तुम्हारे नाम का सिन्दूर माथे पर बिंदी के रूप में लगाती हूँ।

“जान, मैं सब जानता और समझता हूँ लेकिन मैं अपनी पत्नी जो कम पढ़ी लिखी है, उसे छोड़ नहीं सकता। उसे लगेगा कि मैंने उसे इसलिए छोड़ दिया क्योंकि वो मेरे लायक नहीं थी। मैं अपने घर… समाज को क्या जबाब दूँगा।”

बहुत समझाने के बाद मानी कि जब मेरी इच्छा होगी मैं तुम्हारे साथ आकर रह सकती हूँ।
मैं बोला- ठीक है।

फिर क्या… मैराथन चुदाई का नया दौर शुरू हो गया, वो उछल उछल कर मेरा लिंग चूत में ले रही थी।

More Sexy Stories  मेरी क्यूट सी छोटी बहन चुद गयी

करीब चार बजे भोर में जाकर सोई लेकिन मैंने एक बार भी नहीं पानी छोड़ा, मैं रूक रूक कर एनर्जी ड्रिंक लेता रहा। चार बजे उसे हचक के चोदा और सारा पानी उनकी चूत में डाल दिया, वैसे ही चूत में लिंग डाले सो गया।

सुबह करीब ग्यारह बजे नींद खुली तो देखा कि प्रियंका अभी भी गहरी नींद में सोई हुई हैं, उनका चेहरा एकदम से निश्छल और चहरे पर एक तेज चमक रहा था, उनके ओष्ठ में आइसक्रीम और मेरे बीज के सूखे कण लगे हुए थे। स्तन पर दांत और हाथों के अंगुलियों के निशान पड़े थे।

मैंने उनके ओष्ठ, स्तन और चूत को बारी बारी से चूमे, फिर बाथरूम को चला गया, फिर कॉफी बनाकर पी।

मैं सोफे पर अखबार के पन्ने उलट रहा था तो वो उठकर आई, मुझे चूमकर ‘आई लव यू…’ बोली फिर फ्रेश होने चली गई।

फ्रेश होकर आई तो मैंने पूछा- कैसा महसूस हो रहा है?
तो बोली- मैं अपने आपको तरोताजा महसूस कर रही हूँ।
फिर बोली- जान, रात तो मजा ही आ गया। तूने तो मेरी बुर और गांड के साथ साथ स्तन का भी भुरता बना दिया। मुझे यह चुदाई तो जीवन भर याद रहेगी लेकिन अफसोस कि ये वाइल्ड सेक्स आज भर ही तुम्हारे साथ कर पाऊँगी।

मैंने उसे कॉफी बनाकर दी और बोला- तौलिया हटाकर कपड़े डाल लो तन पर… दीवारों की भी आंखें होती हैं।
“तो क्या होगा? ज्यादा से ज्यादा शादी टूट जायेगी। तो तुम्हारे साथ जीवन बिताने का और मौका मिल जाएगा।”

मैंने उन्हें बोला- तुम इस दुनिया में अकेली लड़की होगी जो शादी से पहले शादीशुदा बॉयफ्रेंड से इस तरह बिना डर के चुद रही हो।

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *