कॉलेज की देसी लड़की को उसके घर में चोदा

दोस्तो, मैं फेहमिना आप सबके सामने मेरे एक प्रशंसक राहुल की कहानी उसी की जुबानी पेश कर रही हूँ।

मेरा नाम राहुल है, 22 साल का हूँ, दिल्ली का रहने वाला हूँ। मैं दिखने में काफी अच्छा हूँ कद 5’6″ गोरा रंग फिट बॉडी और 7 इंच के लंड का मालिक हूँ।
वैसे तो स्कूल, कॉलेज में लड़कियों की तरफ से बहुत से ऑफर आये थे पर मैंने इन सब चीजों में कभी रूचि नहीं ली और कभी किसी लड़की को हाँ नहीं कहा, बस दोस्तों के साथ मस्ती में समय निकाल दिया।

एक साल पहले की बात है, मैं कॉलेज के दूसरे साल में था। हम दोस्त कॉलेज में ग्रुप बना कर घूम रहे थे और हमारी बात तीन लड़कियों से हुई, जिनमें एक लड़की मुझे बहुत पसंद आई, वो दूसरे सेक्शन की थी, उसका नाम था पल्लवी।

पहले दिन ही बात करते हुए पल्लवी मुझे देखे जा रही थी और वो इतनी सुंदर थी कि मैं भी उससे नजर ना हटा पाया। उसकी फिगर 34-27-34 की रही होगी, एकदम गोरी लंबे बाल और गुलाबी होंठ।
कुछ देर बात करके हमने एक दूसरे का नाम पूछ लिया था और फिर हम अपने अपने घर चले गए।

अगले दिन मैंने फेसबुक पर देखा तो पल्लवी की रिक्वेस्ट आई हुई थी, तब मुझे लगा कि लड़की को मुझमें दिलचस्पी है।

हमने उस दिन बहुत बातें की और कुछ दिनों में अच्छे दोस्त भी बन गए।
हम एक दूसरे से सारी बाते शेयर करते थे।

एक दिन कॉलेज में पल्लवी और मैं पार्क में बैठ कर बातें कर रहे थे, मेरी नजर उसके बूब्स पर पड़ी, उसके टॉप का गला बड़ा होने की वजह से मुझे उसके चूचों की लकीर दिख रही थी, यह देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया।

मैंने उसके फ़ोन में कुछ देखने के बहाने से फोन अपनी गोदी में ही रख लिया, जब उसने फ़ोन उठाया तो उसका हाथ मेरे लंड पर लग गया पर वो कुछ न बोली।

घर जाकर पल्लवी ने मुझे मैसेज किया और पूछा- वो इतना सख्त सा क्या था?
मैंने कहा- तुम्हारा था, वो जो भी था।
वो मुझसे कहने लगी कि उसे वो अभी देखना है।

मैंने फोटो भेजना सही नहीं समझा पर उसके ज़िद करने पर कुछ पोर्न वीडियो उसे भेज दी।
कुछ देर बार जब उसका कोई रिप्लाई नहीं आया तो मैंने उसे फ़ोन किया।

फोन उठाने के कुछ देर बाद आवाज़ आई- आह.. याहया.. राहुउल्लल आहाआ…
मैं समझ गया कि वो क्या कर रही है और मैंने वीडियो कालिंग चालू कर दी।

वो पूरी नंगी थी, उसकी शक्ल और चूचे दिख रहे थे, मैंने उसे चूत दिखाने को कहा और लंड निकाल कर मुठ मारने लगा।
अब हम दोनों एक दूसरे को अपने कामांग यानि लंड चूत दिखा कर मुठ मार रहे थे।

More Sexy Stories  अनजान लड़की से ट्रेन में दोस्ती और चुदाई-1

वो बहुत समय से कर रही थी तो जल्दी ही झड़ गई और उसने फ़ोन काट दिया।
मैं भी मुठ मार कर सो गया।

उसके बाद हमें जब भी कॉलेज में जगह मिलती हम चुम्मा चाटी करने लगे।

एक दिन उसने बताया कि आज रात वो घर पे अकेली है और मुझे घर पर बुला लिया।
मैं भी घर में कह कर चला गया कि दोस्त की शादी है रात में नहीं आऊँगा।

उसके घर पंहुचा तो देखा उसने अच्छे से मेकअप किया हुआ था, ढीली सी नाईट ड्रेस पहनी थी।
अंदर ब्रा नहीं पहने होने की वजह से निप्पल साफ़ दिख रहे थे।
मैंने अंदर घुसते ही उसे चूमना चाटना शुरू कर दिया।

जैसे वो तो तैयार ही बैठी थी, उसने मुझे बाहों में ले लिया और चूमा चाटी में बराबर साथ देने लगी।
किस करते हुए मैंने उसके 34″ के मम्मे दबाये और गोल गांड का भी स्पर्श कर लिया।
वो पेंट के ऊपर से ही मेरा लंड जोर से दबाने लगी।

ज्यादा देर न करते हुए मैंने उसके कपड़े उतार दिए और वो पूरी नंगी मेरे सामने थी।
मन तो किया जल्दी से इसकी चूत में लंड डाल दूँ। पर मेरे दोस्तों ने बताया था कि लड़की को पहले अच्छे से गर्म करने के बाद ही चोदना चाहिए।
इसलिए मैंने उसके पूरे शरीर को पहले चूमना शुरू किया।
बहुत ही नर्म मुलायम शरीर था उसका!

बेड पर लिटा कर कान, चूची, नाभि, चूत, पैर सब कुछ बारी बारी से चूसने के बाद वो उछलने लगी और कुछ देर में झड़ गई।
उसकी चूत का नमकीन पानी मैं चूस के पी गया।

अब मैंने उसके हाथ में लंड पकड़ा दिया। उस समय मेरा लंड इतना बड़ा हो गया था कि मैं खुद देख के हैरान हो रहा था, उसके दोनों हाथो में भी मेरा लंड नहीं आ रहा था।

उसने लंड मुँह में लिया और थोड़ा थोड़ा चूसने लगी। पहली बार किसी को लंड चुसवा रहा था, जन्नत का एहसास तो उसी दिन हुआ। मैंने दो-तीन झटके उसके मुंह में मारे और आधे से ज्यादा लंड मुंह में घुसा दिया और साथ में चूत में उंगली भी कर रहा था।

उसकी चूत से बहुत गर्मी निकल रही थी, मैंने देर न करते हुए उसको लिटाया और चोदने के लिए उसकी टांगों के बीच बैठ गया।
लंड और चूत दोनों एकदम गीले थे फिर भी लंड अंदर डालने में फिसल रहा था, शायद हम काँप रहे थे, इसलिए मुश्किल ज्यादा हुई।

More Sexy Stories  अंकल के लंड को मिली कुंवारी चुत-1

मैंने हाथ से चूत का छेद थोड़ा खोला और लंड का टोपा अंदर डाल दिया, उसे दर्द हुआ और उछल कर उसने लंड बाहर निकाल दिया।
मैंने दोबारा कोशिश की और इस बार लंड चूत पर सटा कर उसके ऊपर लेट गया ताकि वो उछल ना पाये।
और एक ही झटके में आधा लंड चूत में डाल दिया।

वो चीखी- आआईई ईईई… माँ… मार डाला। निकाल इसे राहुल… आःह्ह्ह ह्ह्ह मैं मर जाऊँगी राहुल, इसे निकाल ले प्लीज! उम्म्ह… अहह… हय… याह… !
वो बहुत जोर से चिल्ला पड़ी पर चिल्लाने का हमें कोई डर नहीं था क्योंकि हम घर पर अकेले थे।
लंड अंदर ही था पर मैं रुक गया और उसे चूमने लगा।

फिर मैंने धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करना शुरू किया, उसे दर्द कम हो रहा था पर पूरा लंड अंदर डालने पर वो आआईई उईईईई आआह्ह ह्ह् चिल्ला रही थी।

15-20 शॉट्स में ही मैं झड़ने लगा क्योंकि मेरा पहली बार था और चूत भी बहुत टाइट थी।
मैंने लंड बाहर निकाल कर उसके पेट पर अपना माल छोड़ दिया, हम दोनों झड़ गए।

उसकी चूत से थोड़ा खून निकला था जो मेरे लंड पर भी लगा था। मेरा लंड कड़क नहीं था पर अब भी बड़ा ही था।
शायद उसे चूत की खुशबू अभी भी आ रही थी।

कुछ देर चुम्मा चाटी करने के बाद हम फिर से तैयार हो गए इस बार मैंने कंडोम लगा कर तेज़ी से चुदाई की। कभी घोड़ी बना कर तो कभी खड़ी करके, तो कभी दोनों टाँगें हवा में उठा कर उसे चोदा मैंने!

20-25 मिनट की दूसरी चुदाई के बाद मैं झड़ गया और इस बीच वो 2-3 बार झड़ी। और फिर हम ऐसे ही सो गए।

सुबह 5 बजे मेरी आँख खुली तो वो मेरे ऊपर टांग रख कर सो रही थी। यह नजारा देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया और उसकी नींद में ही मैं लंड चूत पर लगा कर अंदर डालने लगा।

वो अचानक उठी और हमने सुबह की एक फ्रेश चुदाई भी की।

उसके बाद हमें जब मौका मिलता, हम चुदाई कर लेते!
2 बार तो मैंने उसकी गांड भी मारी।

अब उसका बॉयफ्रेंड है और हमारी अब बात नहीं होती।

तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी पहली चुदाई कथा? अपने विचार आप मुझे मेल [email protected] पर भेज सकते हैं। साथ ही आप सभी मुझसे facebook पर fehmina.iqbal.50 अथवा [email protected]का प्रयोग करके जुड़ सकते हैं।

What did you think of this story??