देल्ही सेक्स चॅट इंडियन लड़की के साथ

delhi sex chat indian ladki सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। नॉनवेज स्टोरी के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी। हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम अमन और आज मैं आप सभी के सामने मेरी जिंदगी मे हुआ एक किस्सा रखने जा रहा हूँ. मैं उम्मीद करता हूँ आपको ये पसंद आएगा.

जैसे की आप कहानी के नाम से ही समझ गये होंगे की ये कहानी लाइव सेक्स कॅम्स पर हुई एक घटना के बारे मे है. ये एक तरह का वर्चुयल सेक्स एक्सपीरियेन्स था.

मैं किसी लड़की को पटाने के चक्कर मे फिरता रहता था. मेरे मन मे किसी लड़की को चोदने की बहोत ही इच्छा पैदा होने लगी थी. पर मैं इसमे कामयाब नही हो पा रहा था. पॉर्न देख देख कर मेरा मन इतना बेचैन हो चुका था की मैं किसी भी हालत मे बस किसी चुत को चोदना चाहता था.

पर ये मुमकिन नही हो पा रहा था. मैं किसी लड़की को पटाना चाहता तो मैं ये सोचने लगता की अगर कोई पंगा हो गया तो. जैसे की सभी आम तौर पर सोचते है मैं भी वैसेही ही डर मे था. पर अंदर ही अंदर एक आग भी जल रही थी.

मैने अपनी जिंदगी मे लड़कियों से कम ही बात की है तो मैं नही जानता था की उनसे कैसे बात की जाए. इसी बात को सोच सोच कर एक दिन मैने फ़ैसला किया की अगर लड़की नही पट रही तो मैं किसी रंडी को ही चोद देता हूँ कम से कम कोई तो एक्सपीरियेन्स आएगा.

तो मैने इंटरनेट पर सर्च करना शुरू कर दिया और मुझे वाहा कई नंबर भी मिले. पर जब भी मैं उनपे कॉंटॅक्ट करता तो कोई रिप्लाइ ना आता. मैं इस बात से भी अब बहोत परेशान हो गया की यार अब पैसे देकर किसी रंडी की भी चुत नही मार सकते है.

More Sexy Stories  बाय्फ्रेंड के बड़े भाई ने चोदा

मैं काफ़ी समय तक कोशिश करता रहा पर मुझे कोई सही कॉंटॅक्ट नंबर नही मिला जहा मैं किसी दल्ले से बात कर सकु और अपने तड़प्ते लंड के लिए किसी चुत का इन्तेजाम कर सकु.

तभी एक दिन जब मैं देसी कहानी पर एक कहानी पढ़ रहा था तो मुझे सेक्स कॅम्स का ऑप्षन दिखा. मैने सोचा चलो देखा जाए ये क्या है.

मैने जैसे ही वाहा क्लिक किया तो एक नयी साइट खुली जिसका नाम था देल्ही सेक्स चॅट, उस साइट पर जाते ही उस पेज पर कई लड़किया डिस्पॅली हो रही जिनका चेहरा नही दिख रहा था.

मैने सोचा ये तो बकवास है और मैं उस पेज को बंद करने ही वाला था की मुझे साइड मे एक प्ले का बटन दिखा. जैसे ही मैं उस पर क्लिक किया तो एक सेक्सी सी आवाज़ ने जैसे मेरे कानो को ही मोह लिया.

मैने पहली बार किसी लड़की को इतनी सेक्सी आवाज़ मे बात करते सुना था. वो सिर्फ़ एक मेसेज था की आप मुझसे बात कीजिए. तो ऐसे ही मैने वन बाइ वन सभी लड़कियों का प्रोफाइल पेज चेक किया और सभी लड़कियों के वॉइस मेसेज वाहा मौजूद थे और वो सभी एक से बढ़ कर एक थे.

वो सब सुन कर सच मे मेरा मॅन बहोत खुश हुआ, और मैने उस साइट पर ज़ोइन कर लिया, पर अब उन लड़कियों से बात करने के किए मुझे पे भी करना था. ये देख कर मैं निराश हो गया क्योकि मैने पहले भी ऐसे साइट पर ज़ोइन करने की सोची है पर इन साइट्स पर सिर्फ़ क्रेडिट कार्ड वाले ही पे कर सकते है.

More Sexy Stories  Boss Ke Saath Mast Chudai

पर मैं ठहरा डेबिट कार्ड वाला बंदा. मेरा मूड ऑफ हो गया की तभी मैने वाहा एक ऑप्षन देखा और वाहा से मुझे पता चला की इस साइट पर तो डेबिट कार्ड से भी पे किया जा सकता है. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

मैं खुश हो गया वाहा पे करने के लिए मुझे विजा डेबिट कार्ड (इंटरनॅशनल/ग्लोबल डेबिट कार्ड वित एमाइ चिप) चाहिए था और किस्मत से मेरे पास वही था, मैने होसला सा किया और अपने कार्ड की डीटेल्स वाहा फिल कर दी. मैं बस ये चाहता था की बस ये कार्ड यहा चल जाए और जैसे ही मैने वाहा क्लिक किया तो वो पेज सीधा मेरा बॅंक की साइट पर रिडआइरेक्ट हो गया.

मैं खुश हो गया और जैसे मेरे वाहा ओटीपी डाला अगले ही सेकन्द मेरे अकाउंट मे क्रेडिट शो हो गये और मैं तो मानो झूम ही उठा, मेरे रोम रोम मे एक करंट सा दौड़ उठा मैं ऐसा कब से करना चाहता था ओर आज वो हो गया था.

तभी मैने वाहा लड़कियों को देखना चालू किया की किस लड़की से बात की जाए और देखते ही देखते मुझे एक लड़की देखी जिसका नाम नेहा था.

वो उस समय ऑनलाइन थी मैने फॉरन उससे बात करने के लिए अपनी इच्छा जताई.

उसने भी अगले ही पल रिप्लाइ दिया और वो प्रीमियम लाइव सेक्स शो के लिए एक दम तैयार थी.

जीतने क्रेडिट मैने लिए थे उसमे मैं फिलहाल के लिए उसके साथ 15 मिनट ही बात कर सकता था.

तो मैने एक पल भी ना गवाते हुए उसे 15 मिनट के लिए हाइयर कर लिया.

मेरे क्लिक करते ही वो मेरे सामने थी, वो एक पिंक कलर की एक सेक्सी ब्रा मे थी जिसमे से उसकी आधी चुचियाँ बाहर झाँक रही थी.

Pages: 1 2

Comments 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *