भरपूर प्यार से देल्ही भाभी की चुदाई की

पर वो रुके हुए थी थोड़ी देर बाद मैने अंदर बाहर किया तो पानी का झरना फुट पड़ा और स्मूद्ली इन आउट होने लगे उसको भी मज़ा आ गया मैं शुरू से स्लो करता हू धीरे धीरे अपनी रफ़्तार तेज़ करता हू काफ़ी देर बाद मुझे लगा वो झड़ने वाली है तो मैने रफ़्तार बढ़ा दी और एक साथ मे ही हम दोनो ने अपनी पहली चुदाई एंजाय की एक साथ सातवे आसमान पे थे.

थोड़ी देर ऐसेही रहने के बाद मैने लंड बाहर निकाला और उसको अपने पास खीच के बहोत प्यार और दुलार दिया. थोड़ी देर ऐसेही लेटे रहने के बाद हम दोनो के बीच काफ़ी बात चीत हुई. और फिर हम फिर से एग्ज़ाइटेड हो गये और एक दूसरे को चूमने लगे यासमीन तो मेरा लंड छोड़ ही नही रही थी.

उसने मेरे लंड को चुस्स चुस्स के लाल कर्दिया और बोल रही थी काश ये मुझे रोज़ मिले तो मज़ा आजाए मैने कहा ये तेरा ही है वो बोली राज तुमने मुझे जीवन का सच्चा सुख दिया है. फिर मैने उसकी चुत को आछे से सक किया अपनी जीभ को काफ़ी अंदर तक डाल के उसको खुशियो के आसमान तक पहुचाया.

वो पागलो की तरह कर्राह रही थी फिर वो मेरे उपर चढ़ गई और लंड हाथ मे लेके अपनी चुत पे रखके उसपे बैठ गई और धीरे धीरे उपर नीचे होने लगी. वो काफ़ी चूद्दास हो गई थी. दोनो बूब्स को उछाल उछाल कर मुझे चोद रही थी. अब शरम जैसी कोई चीज़ ही नही बची थी हमारे बीच मेरे होटो पे किस कर रही थी

More Sexy Stories  भाभी को अपनी पर्सनल रंडी बनाया

और मैं उसके दोनो बूब्स को हल्के से दबा रहा था और कमर उठा के उसके धक्के को सही और करारा जवाब दे रहा था अब लंड पूरा का पूरा अंदर जा चुका था. चूत का कसाव इतना मस्त था की मानो ऐसा मन करता था की लंड को बाहर ही ना निकालु मैं.

फिर वो थकने लगी तो मैने उसको लेटा दिया और उसकी टाँग को मेरे कंधे पे रखके अपना लंड उसकी चुत पे लगाया और वापस अंदर डाल दिया और अब मैं उसको घनघोर तरीके से चोद रहा था मेरे हर झटके को वो खुशी से झूमकर एंजॉय कर रही थी.

उसकी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था पर मैं अपना पूरा ज़ोर लगा के काफ़ी तेज़ी से उसको चोद रहा था. मेरा लंड स्टील का रोड हो चुका था वो अब ठहरने वाला नही था. हम दोनो एसी के होते हुए भी पसीने से नहा रहे थे पर दोनो बस एक दूसरे को लूट रहे थे नौच रहे थे. खा रहे थे.

मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया कहानी को ‘लाइक’ ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये दौर देसी कहानी पर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

फिर एक दम से हम दोनो के जिस्म अकड़ गये और हम झड़ने लगे एक बार फिर हम एक साथ झडे थे सो मज़ा आगया था. वो और मैं अब निढाल हो चुके थे.फिर हम खड़े होके बाथरूम मे गये एक दूसरे को सॉफ किया और मस्त शोवर लेके बाहर आ गये फिर एक दूसरे को कपड़े अपने हाथो से पहनाए और काफ़ी देर तक हग किया और निकल गये.

More Sexy Stories  जालंधर मे देल्ही की भाभी को चोदा

आज 8 साल के बाद भी हमे जबभी मौका मिलता है मिलते है और मस्त चुदाई करते है. हम एक दूसरे को काफ़ी चाहते है पर मेरी ज़िंदगी मे उसके बाद कई सेक्स पार्ट्नर आई है. मैं सभी को अब भी चोद रहा हू.

Pages: 1 2

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *