कॉलेज की लड़की की चुदाई स्टोरी

हाय hindi chudai kahani, माइसेल्फ सन्नी कुमार, आई एम बॅक वित माय न्यू वन स्टोरी, अब मैं अपनी स्टोरी पर आता हूँ. आज मैं अपने एक रीडर की कहानी उसी की ज़ुबानी सब्मिट कर रहा हू. होप यू विल ऑल्सो लाइक इट. “मेरी चोदने की चाहत” प्यारे दोस्तो मेरा नाम तौसीफ़ है , मैने बहुत सी कहानिया पढ़ी है मैं भी अपनी कहानी भेज रहा हू, मेरी ये पहली कहानी है कोई ग़लती हो तो माफ़ करना , अब मैं कहानी पर आता हू बात कॉलेज की है आज से 3 ईयर्स पहले मेरी सीनियर जिसका नाम शहीन था उसका फिगर 28,30,34 था उससे मेरी आँख लड़ गयी, वो दिखने मे बहुत अट्रॅक्टिव थी.

हमारा जो कॉलेज था वो बस स्टॅंड से 3 किलोमेटेर दूर था, वो कॉलेज से पैदल ही बस स्टॅंड जाती थी, एक बार दोस्तों के साथ जा रहा था, शहीन रास्ते मे मिल गयी, मैं उसे लिफ्ट देने के लिए रुका , और मैने उसे अपने साथ बैठने के लिए बोला पर उसने मना कर दिया सभी दोस्त मेरे पर हसने लगे, बोले ले जाके बैठा दे. तभी मैने कहा तुम लोग शर्त लगा लो.. एक दिन ये तुम्हारी भाभी ज़रूर बनेंगी. अब मैने ठान लिया की शहीन अब तेरे को ही देखना है, मैने अब कॉलेज आते समय और जाते समय रोज़ उसे अपने साथ बैठने के लिए पूछता था. वो मना कर देती मैं अपनी बाइक आगे ले जाता था. ये सिलसिला 6 दीनो तक चला सातवे दिन देखा की वो मेरा इंतेज़ार कर रही थी … मैं समय से 10 मिनट लेट हो गया था.. वो इंतेज़ार कर रही थी .. मैं बाइक से जैसे ही उसके पास गया . तो उसने हाथ देकर बाइक रोकी और पूछी आज लिफ्ट के लिए नही पुछोन्गे ?

मैने कहा आप बैठती ही कहा हो. वो बोली लो आज मैं बैठ जाती हू, वो मेरी बाइक पर बैठ गयी, हुमलोग कॉलेज आ गये , कॉलेज की छुट्टी के बाद वो मेरे पास आई और बोली तौसीफ़ तुम नही चल रहे? मेरे सभी दोस्त आँखें फाड़ के देख रहे थे, अरे भाई देखने वाली बात जो थी, वो अपने आप मे कयामत थी, हर बंदा उसे पटाना चाहता था. पर किस्मत ने उसे मेरे पास भेज दिया, मैने उसे बैठाया और बस स्टॅंड छोड़ दिया, वो बोली तौसीफ़ मुझे तुमसे बात करनी है, तुम मुझे घर छोड़ दो, रास्ते मे बात करते चलेंगे, मैं तो यही चाहता था, मैने कहा क्यू नही,मैं आपको घर छोड़ देता हू, रास्ते मे उसने मुझसे कहा तौसीफ़ तुम मुझे धोका तो नही दोगे, मैं तुम्हे पसंद करती हू, मेरी तो मानो किस्मत ही चमक गयी, मैने कहा मैं भी आपको पसंद करता हू, मैने उसे उसके घर के पास उतार दिया.

More Sexy Stories  हब्बी ने नीशी को रंडी बनाया

वो बोली आओ ना चाय पी कर जाना. मैने मना किया फिर कभी. तो वो नाराज़ होने लगी तो मैने कहा नाराज़ मत हो मेरी जान. मैं आता हू तुम्हारे साथ .. उसके घर पहुच कर देखा उसके घर पर कोई नही था सिर्फ़ उसका 10 ईयर का छोटा भाई था. शहीन ने अपने भाई से पूछा मम्मी कहा है? तो वो बोला मम्मी डॉक्टर के पास गयी है श्याम अप्पी को दिखाने अब आप आ गयी हो तो मैं अपने दोस्तों के साथ खेलने जा रहा हू. वो इतना कह कर भाग कर चला गया, मेरी तो मानो सभी अरमान पूरे हो रहे थे, मैं मन ही मन खुश हो रहा था, शहीन किचन मे चाय बना रही थी ,,मैने उसे किचन मे ही पीछे से पकड़ लिया, वो एकदम से घबरा गयी और बोली ,, तौसीफ़ ये क्या कर रहे हो, भाई ने देख लिया तो जान के लाले पड़ जाएँगे, मैने कहा तुम्हारा भाई तो दोस्तों के साथ खेलने चला गया.

उसने मेरी बात का विश्वास नही किया उसने सभी कमरे मे देखा. उसका भाई उसे नही दिखा. अब मैने उसे फिर पकड़ लिया और अपने होतों को उसके होटो पर रख दिया. वो बहुत घबरा रही थी. लेकिन मैने उसे नही छोड़ा .. फिर कुछ ही पलों मे उसे भी मज़ा आने लगा. वो भी मेरा साथ देने लगी ..अब वो काफ़ी गरम हो गयी थी. लेकिन उसको मम्मी के आने का डर था. मैने कहा हम गेट पर नज़र रखेंगे मैने उसके कपड़े उतारने चाहे. तो उसने कहा सारे मत उतारो. बाद मे पहनने मे दिक्कत होगी. जॉब ही करना है ऐसे ही कर लो. मैने तुरंत ही उसको पकड़ लिया और उसके होटो को खूब चूसा. फिर उसकी सलवार का नारा खोलने लगा तो मना करने लगी की नही नही कोई आ जाएगा तो देख लेगा पर मैं नही माना धीरे धीरे मैं उसके नारा खोल खोल दिया उसने अंदर पैंटी पहनी थी धीरे से उसे भी उतार दिया, अब मैं उसकी चुत मे उंगली करने लगा वो काफ़ी गरम हो गयी और बोली जल्दी करो.

More Sexy Stories  पहला सेक्स अनुभव गर्लफ्रेंड के साथ

तो मैने अपनी पैंट उतारी और उसकी चुत पर रख कर जैसे ही एक झटका लगाया वो चिल्ला पड़ी उउऊयईी जल्दी बाहर निकालो बहुत दर्द हो रहा है जल्दी निकालो मैने अपना लंड बाहर निकाला उसे थोड़ा रिलॅक्स मिला, फिर मैं किस करने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा तो उस पर चुदने का नशा चढ़ने लगा बोलने लगी जान चोदोना मैने कहा तुम तो चिल्लाने लगती हो बाहर निकालो बाहर निकालो तो उसे कहा ठीक है इस बार डालो पर निकालना मत मैने कितना भी कहा निकालो पर निकालना मत चाहे मैं मर ही क्यू ना जाउ मैने फिर अपना लंड उसकी चुत पर रखा और दो शॉट मे अंदर चला गया जैसे ही अंदर गया वो चिल्लाई ऊओउऊ म्‍म्माआ मैं गयी वो झटपटाने लगी जैसे बिन पानी के मछली पर मैने लंड नही निकाला थोड़ी देर बाद वो मज़ा लेने लगी और बड़बड़ाती रही तौसीफ़ पेलो मुझे और ज़ोर ज़ोर से पेलो बहुत मज़ा आ रहा है आआहहा जान इतने दीनो से मैं चुदना चाहती थी आअहह क्क्य्या पेलते हो आआहह और मैने धक्के पे धक्के चुदाई चालू रखी और उसके मम्मे को कस कस कर मसलने लगा.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *