कॉलेज की मुंहबोली बहन के साथ मस्ती

मेरी उम्र 22 साल है और मैं बी.टेक का स्टूडेंट हूं. मैं नोएडा में रहता हूं. पिछले ही दिनों की बात है जब मैं थर्ड इयर में आया था.

उस साल हमारे कुछ जूनियर आये थे उनमें से एक लड़की बहुत ही प्यारी सी थी. उसका नाम प्रिया था. आते ही मेरे दोस्त ने उसको पटा लिया. फिर मेरे दोस्त ने उसकी बात मुझसे भी करवा दी.
लेकिन वो मेरी दोस्त नहीं बनी और मुझे भैया कह कर बुलाती थी. मैं बहुत ही शर्मीला किस्म का लड़का था इसलिए अगर वो मुझे भाई कहती थी तो मैं भी उसको बहन ही कहने लगा.

धीरे-धीरे हम लोग बहुत मस्ती करने लगे. हम सब लोगों के साथ में वो प्यारी सी लड़की जल्दी ही घुल-मिल गई थी. हम अक्सर साथ में होते थे तो मस्ती करते थे. हम कभी दिल्ली घूमने के लिए चले जाया करते थे तो कभी नोएडा में घूमने के लिए निकल जाया करते थे. इस तरह से टाइम का पता ही नहीं चल रहा था. हुक्का पीना तो रोज का ही काम था.

फिर धीरे-धीरे वो हमारे साथ रूम पर भी रुकने लगी थी. वो कई बार रात में हमारे साथ रूम पर रुक जाती थी. हमें भी उससे कोई प्रॉब्लम नहीं होती थी. सब बहुत मजे से चल रहा था.

वो हमारे साथ खूब मस्ती किया करती थी. रूम पर जब रुकती थी तो वो बिल्कुल भी नहीं शरमाती थी. हुक्का भी पी लेती थी. रात को जब रुकती थी तो हम साथ में ही ताश वगैरह खेलते थे. खूब खाना-पीना होता था और अंताक्षरी वैगरह खेलते रहते थे देर रात तक। वो हमारे साथ में ही सो भी जाती थी.

एक दिन क्या हुआ कि मेरा दोस्त अपने घर चला गया. मैं अपने रूम पर अकेले बोर हो रहा था. मैंने प्रिया को फोन किया और उससे कहा कि मैं यहां पर बोर हो रहा हूँ. मैंने उससे कहा कि मेरा हुक्का पीने का मन कर रहा है लेकिन मैं यहां पर अकेला हूँ तो यहां किसके साथ पिऊंगा, कुछ मजा नहीं आयेगा ऐसे अकेले में ही हुक्का पीने में.
वो कहने लगी- कोई बात नहीं तुम मेरे रूम पर आ जाओ, हम दोनों साथ में यहां पर हुक्का पी लेंगे.

More Sexy Stories  ट्यूशन पर पटाई और घर पर की चुदाई

मैं उसके पास चला गया. हम दोस्तों में एक आदत थी कि हम हुक्का पीने के बाद एक-दो घंटे के लिए सो जाते थे. उस दिन भी ऐसा ही हुआ. हुक्का पीने के बाद प्रिया को नींद आने लगी तो मैंने कहा कि ठीक है मैं अपने रूम पर चला जाता हूं. मैं वहां पर सो जाऊंगा और तुम यहां अपने रूम पर सो जाओ.

वो बोली- नहीं, मैं भी तुम्हारे साथ वहीं पर चल पड़ती हूं. मैं भी यहां अकेले बोर हो जाऊंगी.
इसलिए वो मेरे साथ ही आ गयी. वो मेरी बहन थी तो इस बात में कोई दिक्कत वाली बात भी नहीं थी.

रूम पर आकर वो कहने लगी- मेरा सिर तो अभी भी घूम रहा है, मैं सो रही हूं.
मैंने कहा- ठीक है, तुम आराम से सो जाओ.
वो मेरे रूम पर ही लेट गई.

फिर मेरा मन भी किया कि मैं भी थोड़ी देर सो कर आराम कर लेता हूँ. जब ये उठेगी तो मैं इसको इसके रूम पर छोड़ कर आ जाऊंगा. यह सोच कर मैं भी प्रिया के साथ ही अपने रूम पर लेट गया.
कुछ देर के बाद वो उठी. अभी मुझे लेटे हुए आधा घंटा ही हुआ था तो वो उठ कर बाथरूम में चली गई. फिर वो वापस आकर बैठ गई. उसने मुझे भी उठा दिया. मैं भी उठ कर बैठ गया.

अचानक से उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी गोद में रख लिया और बोली- भैया तुम बहुत अच्छे हो. तुम मुझे बहुत प्यार करते हो.
मुझे उसकी ये हरकत थोड़ी अजीब तो लगी लेकिन फिर सोचा कि शायद अभी इसको हुक्के का सुरूर है इसलिए वो ऐसी बात कर रही है.

उसने मेरे पास आते हुए मेरे सिर को पकड़ लिया और अपनी तरफ करते हुए मेरे माथे को चूम लिया. मैंने भी प्रिया को अपनी बांहों में भर लिया.
फिर पता नहीं उसको क्या हुआ कि उसने दोनों टांगें मेरे दोनों तरफ कर लीं और मेरी गोद में आकर बैठ गई. मैंने लोअर पहनी हुई थी और उसकी गांड ठीक मेरे लंड वाले हिस्से के ऊपर आकर टिक गई.

More Sexy Stories  देल्ही सेक्स चॅट इंडियन लड़की के साथ

प्रिया ने मुझे बांहों में भर लिया और मैंने उसे. उसकी गांड के टच होने के कारण मेरे लंड में तनाव सा आना शुरू हो गया था लेकिन मैंने सोचा कि मैं इसके बारे में ये सब नहीं सोच सकता.
ये तो मुझे भाई बुलाती है.

मैंने उसको छोटी बहन की तरह अपनी बांहों में रखा. वो मेरे गले से लिपटी रही. कुछ देर तक हम ऐसे ही बैठे रहे. सिर तो मेरा भी घूम रहा था लेकिन मैं कुछ नहीं कर रहा था. इतना होश तो मुझे भी था. मगर मेरे लंड में हलचल सी होने लगी थी. उसकी गांड ठीक मेरे लंड के ऊपर ही रखी हुई थी.

फिर वो अचानक से मेरे से अलग हो गई. जब वो उठने लगी तो मेरी नजर उसकी जीन्स पर गई. वहां पर गीला सा हो गया था. मैंने सोचा कि लड़कियों के साथ ये गीलेपन की दिक्कत तो होती ही है. मगर मेरे लंड में भी कुछ चिपचिपा सा गीलापन निकल आया था.
फिर मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया. मैं प्रिया को उसके रूम पर छोड़ कर आ गया.

उसके बाद लगभग एक महीने के बाद मेरा जन्मदिन था तो हम लोगों ने मेरे जन्म दिन की पार्टी रखने का प्लान किया.
मेरे बर्थडे वाले दिन हम लोग पार्टी कर रहे थे तो मेरे दोस्त बीयर ले आये थे. प्रिया भी हमारे साथ ही थी. उस दिन वो मेरे ही रूम पर रुकी हुई थी. केक काटने के बाद हमने खाना खाया और फिर बीयर पार्टी शुरू हो गई. लेकिन मैं प्रिया को पीने के लिए मना करने लगा.

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *