कॉलगर्ल की जगह चुद गई उसकी चाची

दोस्तो, मैं एक कॉल बॉय हूँ, अपनी किसी दोस्त और अपनी किसी भी ग्राहक के संपर्क सूत्र बता नहीं सकता, यह मेरे उसूल के खिलाफ है।

अभी तक मैंने कई लड़कियों और भाभियों की चुदाई की है और उनको भरपूर आनंद भी दिया पर उनकी बिना सहमति कहानी नहीं लिख सकता हूँ. अभी जो कहानी लिख रहा हूँ यह मेरे और मेरे दोस्त के साथ हुई एक सच्ची घटना है।

बात आज से 3 साल पहले की है मेरे पास मेरे दोस्त जय (काल्पनिक नाम) का फोन आया- भाई विराट, तेरी भाभी गर्भवती है और मुझे चुदाई किये बहुत दिन हो गए. यार मुझे चुदाई करनी है कोई जुगाड़ कर न!
मैंने कहा- रविवार को भोपाल आ जा, तेरे लिए कुछ करता हूँ।

फोन कट करने के बाद मैंने सोचा कि इसके लिए क्या करूँ? अपनी किसी ग्राहक से तो मिलवा नहीं सकता; अगर ऐसा किया तो अपनी बेइज्जती हो जाएगी और सामने वाले ग्राहक की प्राइवेसी को भी खतरा रहेगा।
फिर उसके लिए मैंने अपने एक दोस्त से बात करके एक कॉलगर्ल सेन्टर का नम्बर लिया और उस पर बात की तो एक औरत ने फोन उठाया उनसे बात करके उनसे लड़की की फ़ोटो ली।
लड़की का नाम था शालिनी, वो बहुत मस्त माल थी. उसकी फोटो मैंने जय को भेजी तो वो शालिनी का दीवाना हो गया। मैंने जय को उसका रेट बताया और बात पूरी पक्की कर ली।

2 दिन बाद रविवार था, जय ठीक समय पर मेरे पास आ गया. हम लोग बताई हुई जगह पर पहुँचे और उस महिला को फोन किया तो उसने बताया कि शालिनी अभी बाहर गई हुई है, थोड़ी देर बाद आएगी, तब मिल लेना; आप लोग इन्तज़ार करो।

हम लोग वहां रुकने की बजाये 1 किमी दूर रोड पर आकर एक रेस्टोरेन्ट पर बैठकर इन्तज़ार करने लगे. करीब आधे घंटे बाद हमने फोन किया तो पता चला वो शालिनी अभी तक नहीं आई थी।
ऐसे ही एक घंटा और निकल गया पर वो शालिनी नहीं आई।

More Sexy Stories  पति के दोस्त ने मेरी कामवासना जगायी

तो मैंने अपने दोस्त से बोला- यार जय, एक काम कर, उस आंटी की ही चुदाई कर ले! तुझे तो चूत मारने से मतलब है न?
जय बोला- नहीं यार, वो डांट फटकार कर भगा देगी तो अपनी बेइज्जती हो जाएगी।
मैंने उसको समझाया- तू चिंता मत कर, मैं सब बात कर लूंगा, तू सिर्फ चुदाई करना।

मेरी बात से वो तैयार तो हो गया पर फिर भी थोड़ा डर रहा था। मैं उसको फिर उसी घर पर ले गया जहां हम पहले गए थे।
हमने दरवाजा नॉक किया गेट एक आंटी (शबाना) ने खोला. शबाना आंटी लगभग 55 साल उम्र की शरीर से मोटी लेकिन मस्त गोरी चिट्टी!

गेट खुलने के बाद उनसे हमने पानी पिलाने को बोला तो उन्होंने कहा- अंदर आ जाओ।
हम दोनों अंदर गए.

अंदर एक आंटी और बैठी थी, उनकी उम्र लगभग 38 साल होगी ये आंटी (स्मिता) पहले वाली से बहुत मस्त लग रही थी, मस्त गोरी फिगर लगभग 38-36-40 का होगा.
दूसरी आंटी को देखकर मैंने अपने दोस्त से इशारे में पूछा- कैसी है?
तो उसने भी इशारे में जवाब दिया- मस्त माल है।

तब तक शबाना आंटी पानी लेकर आई. पानी पीकर हम लोग शबाना आंटी से शालिनी के बारे में बात करने लगे उन्होंने बताया- वो ग्राहक के पास गई है, अब तक तो आ जाना चाहिए था। पर अभी तक नहीं आई, पता नहीं कहाँ चूत फुड़वा रही होगी माँ की लोड़ी।

अब मैंने बड़े स्टाइल से अपनी बात रखी- आंटी, हम लोग 90 किमी दूर से आये हैं, समय भी ज्यादा हो गया और आपके यहां से बिना कुछ करे ही चले जायेंगे तो हमको बहुत बुरा लगेगा।
आंटी ने बोला- मैं क्या कर सकती हूं जब लड़की ही नहीं है तो?
मैं बोला- आप स्मिता आंटी से मिलवा दो, हमारा काम भी हो जाएगा और आपके ग्राहक भी फालतू भटकने से बच जाएंगे.

More Sexy Stories  मेरी पहली कॉल बॉय जॉब

शबाना आंटी को मेरी बात जम गई, उन्होंने स्मिता आंटी से बोला तो वो नखरे करने लगी, बोली- नहीं मैं नहीं करूँगी. मेरे घर वाले को पता चल गया तो मेरी हालत खराब कर देगा।
मैं समझ गया कि स्मिता आंटी चुदवा सकती है पर इसको थोड़ा मनाना पड़ेगा।
शबाना आंटी ने बताया कि ये स्मिता आंटी उसी लड़की शालिनी की चाची हैं.

मैंने शबाना आंटी से बोला- हम इनके घर वाले को नहीं जानते, हम तो बतायेंगे नहीं, आप जानती हो तो आप भी मत बताना प्लीज।
शबाना आंटी बोली- ऐसी बात बताई नहीं जाती।

शबाना आंटी ने स्मिता आंटी से कहा- मिल लो यार, बहुत दूर से आये हैं। कौन तुम्हें अंदर आकर देख रहा है।

आखिर थोड़ा ज़ोर देने पर स्मिता आंटी मान गई और मेरा दोस्त उनको अंदर लेकर चला गया.

लगभग 15 मिनट बाद दोनों बाहर निकल आये।
स्मिता आंटी ने हाथ मुंह धोये, फिर वो मेरे साथ अंदर गई, अंदर जाकर उन्होंने दरवाजा बंद करते ही कंडोम निकाला और पहनाने लगी।
मैंने उनसे बोला- इतनी जल्दी किस बात की है, थोड़ा मूड तो बनाने दो।

फिर वो मान गई और मेरी बांहों में आ गई. मैंने उसके गाल पे किस किया, फिर उसके गले और गर्दन पर किस करते हुए उसको बेड पर लेटा दिया।
तब मैंने आंटी की सिल्की नाइटी को तुरंत निकाल दिया और मेरे कपड़ों को भी निकाल फेंका।

आंटी का गोरा बदन देखकर मेरा 8 इंच का लौड़ा तुरंत खड़ा हो गया, मैंने उसको किस करना शुरु किया, फिर मैंने उसके बूब्स अपने हाथों में लिए. मस्त मुलायम बूब्स थे उसके एकदम गोरे।
मैं आंटी के बूब्स दबाते हुए उसके पेट पर किस करने लगा. अब वो पूरी तरह से गर्म होने लगी थी.

Pages: 1 2