भाभी की सुहागरात की चुदाई लाइव देखी

भैया तभी हटे जब वो झड़ गये, फिर भैया ने भाभी की पैंटी से अपने लंड और भाभी की चूत को साफ़ किया और भाभी को अपनी बांहों में भर कर चूमने लगे. कुछ देर बाद मेरे भैया मेरी नंगी भाभी के साथ नंगे ही चिपक कर सो गए।

इतना सब देखने के बाद मेरा लंड लोहे की तरह सख्त हो गया था और मैंने वहीं सीढ़ी पर ही बैठे बैठे मुठ मारकर अपना वीर्य निकाल दिया।
फिर मैंने अपना मोबाइल निकाल कर टाइम देखा तो रात के 1:30 बज रहे थे, मैं अपने कमरे में आकर लेट गया।

दोस्तो, उसके बाद भैया ने सुबह के समय दो बार फिर से चुदाई की थी. यहय मुझे अगले दिन पता चला जब भाभी अपनी बड़ी ननद यानी मेरी दीदी से बातें कर रहीं थीं और कह रहीं थीं कि उनकी चूत सूज गयी है।

इसके बाद तो भैया रोज ही चुदाई करते थे लेकिन लाइट बन्द कर देते थे और किसी ने उस सीढ़ी को भी वहां से हटा दिया था जिस कारण मुझे दुबारा देखने का मौका नहीं मिला.
लेकिन भैया भाभी की सिसकारियों की आवाज़ खिड़की से सुनाई देती थी।

तो यह थी मेरे भाई भाभी की सुहागरात की चुदाई की कहानी, आपको कैसी लगी, मुझे ई-मेल करके जरूर बताएं.
दोस्तो, अगर आपके मेल आते हैं तो जल्दी ही मैं दूसरी कहानी लिखूंगा और लड़कियाँ, भाभियाँ मुझे बेहिचक मेल कर सकतीं हैं।
मेरी ईमेल आईडी है

Pages: 1 2 3

More Sexy Stories  स्वेता भाभी के साथ मस्ती ओर चुदाई