बॅंक क्लर्क को पटा कर चोदा

मैने एक धक्का और मारा और मेरा 8 इंच का मोटा लॅंड दीपिका की बुर की गहराई नापने लगा, उसको बहुत दर्द हो रहा था, मैं रुक गया और उसके मूह पर अपना मूह रख दिया, कुछ मिनट बाद मैने उसको पेलना शुरू किया, उसको दर्द होता रहा, पर मैं धीरे धीरे उसको पेलता रहा, आधे घंटे बाद उसका दर्द कुछ कम हुआ तो ज़ोर से दीपिका को चोदने लगा, कुछ देर बाद उसकी बुर का रास्ता खुल गया, उसकी चूत रवाँ हो गयी, अब मैं कमर मटका मटका के दीपिका की चूत मारने लगा.

दोस्तों, 20 25 मिनट तक मैने उसको चोदा और उसकी बुर में ही झड़ गया, दोनों ने करीब 1 घंटे तक आराम किया, मैने उसको सिने से लगा लिया. ‘रौनित !! आज तुमने चोद चोद के मुझको औरत बना दिया! दीपिका बोली, संडे को मैं फिर से दीपिका के घर पर था.

मैने कहा ‘ए दीपिका!! चूत दे ना! वो हँसने लगी, मैं उसे पकड़ लिया और दबोच लिया, फिर धीरे धीरे मैं उसका सलवार कमीज़ निकाल दिया, सनडे वाले दिन दीपिका घर में रहती थी और सलवार सूट पहनती थी.

मैने एक एक करके उसका सलवार सूट निकाल दिया, उसे नंगा कर लिया, दोस्तों, मैं तो मैं उसके मम्मे पिता रहा, फिर उनकी फुददी पर आ गया, लंबी सी चूत की फाँक मुझको दिखाई दी, मैने होंठ लगाकर दीपिका की चूत पीने लगा, अपनी खुदरी जीभ से दीपिका की नर्म चूत मैं पीने लगा, ये बहुत मजेदार था, दीपिका की फुददी [चूत] बहुत ही खूबसूरत थी, मैने जेब से फ़ोन निकाला और दीपिका की चूत की कई तस्वीर ले ली, बहुत सुंदर गुलाबी चूत थी दोस्तों.

More Sexy Stories  कॉलेज के टीचर की चुदाई कहानी

मैं मज़े से उसकी चूत पी रहा था, हल्का अदरक जैसा कसैला स्वाद था दीपिका के भोसड़े का. जिस चूत को मैं मारने के लिए कबसे बेचैन था, आज दूसरी बार वो चूत मेरे सामने थी.

मैं दीपिका के चूत के दाने को आछे से पी रहा था, उसके मूतने वाले छेद पर भी लगान से मैं जीभ घुमा घुमाके पी रहा था, जिससे उसे ज़्यादा से ज़्यादा यौन उतेज्जाना हो और वो कस के उछाल उछाल के चुदवाये, कुछ देर में दीपिका को बड़ी ज़ोर की चुदास लगी, उसका मुँह अपने आप खुल गया.

वो गर्म गर्म सिसकारी लेने लगी, मुँह से गर्म गर्म हवा छोड़ने लगी, मैं समझ गया की यही सही समय है इसको चोदने का, मैं तुरंत अपना बड़ा सा लॉडा दीपिका के लाल लाल भोसड़े में डाल दिया और उसको कूटने लगा, दीपिका मज़े लेने लगी, मैं भी मज़े मार मार कर उसे चोदने लगा.

दोस्तों, दीपिका की चूत बहुत गर्म थी, लग रहा था मैं किसी आग के कटोरे में लॉडा दे दिया हो, मैं ज़ोर ज़ोर से हचक हचक के उसे चोदने लगा, मेरे मोटे लॅंड की रगड़ से दीपका की चूत की दीवारें सफेद छिपचिपा मक्खन छोड़ने लगी जो मेरे लॅंड पर लगने लगा, इससे मेरा लॅंड आराम से उसकी चूत में फिसलने लगा, अब मैं सात सात करके उसे चोद रहा था.

मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया कहानी को ‘लाइक’ ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये दौर देसीकाहानी पर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

मैं नीचे देखा तो मेरा लॅंड उसकी चूत को आछे से मज़ा दे रहा था, मैने बड़ी देर तक दीपिका को नंगा करके चोदा, पर फिर भी नही छोड़ा, मैने लॅंड दीपिका की चूत से निकाल लिया और उसकी चूत में ऊँगली करने लगा, मेरे ज़ोर ज़ोर से चूत फेटने से दीपिका की मा चुद गयी, उसकी चूत में आग लग गयी, जैसे उसकी चूत में भूचाल आ गया, बवंडर उठ गया, दीपिका बड़ी उचाई तक अपनी कमर उठाने लगी.

More Sexy Stories  कंप्यूटर डिज़ाइनर के साथ मज़े

ये देख कर मुझे और ज़्यादा चुदास चढ़ गयी, और मैने अपनी हाथ की ऊँगली और भी ज़्यादा तेज तेज दीपका के भोसड़े में देने लगा और चूत फाड़ने लगा, अंदर उसकी चूत के अंदर उपर की और दीपका का जी स्पॉट था, मैं बार बार वो सहलाने लगा, ज़ोर ज़ोर से उसपर ऊँगली सहलाने लगा.

कुछ देर बाद दीपिका ने अपनी चूत से गर्म गर्म गाढ़ा सफेद मक्खन छोड़ दिया, मैं दीपिका के लाल भोसड़े पर मुँह रख दिया और सारा मख्खन पी गया, उसके बाद फिर मैने उसको 40 मिनिट चोदा.

आपको कहानी कैसी लगी अपने कॉमेंट्स दे और जो भी लॅडीस मुझसे मज़ा लेना चाहती हो बेफ़िक्र होकर मैल करे मेरी मैल आईडी है प्राइवसी एकदम सीक्रेट होगी प्लीज़ जो आप चाहो. सेक्स जोड़ी सेक्स स्टोरी हिन्दी

Pages: 1 2 3