अंजलि को पहली बार घर बुलाकर चुदाई

हेलो दोस्तो, मेरा नाम सूरज इंगोले है, मेरी उमर 30 साल है मैं महाराष्ट्रा के वाशिम डिस्ट का रहने वाला हू. स्टोरी पसंद आए तो मैल ज़रूर करना. ये कहानी 2 साल पहले की है. तब मैं 28 साल का था और मई मंगृलपीर मे पढ़ाई करता था. एक दिन मेरी मुलाकात अंजलि से हुई. मैने जब उसे देखा तो देखता ही रह गया. क्या मस्त माल लग रही थी. गोरा रंग, 5फिट 2इंच लंबाई, उसका फिगेर 34-28-36 और 18 साल की बाली उमर एकदम सेक्सी लग रही थी. तो मैने धीरे धीरे उस से दोस्ती बढ़ानी चालू की. और एक दिन मैने मौका पाकर अंजलि से आई लव यू कह दिया. तो उसने भी आई लव यू बोल दिया. तो हमारी मुलाक़ते बढ़ गयी. कभी मैं उसका हाथ पकड़ता था तो कभी हाथ चूम लेता था. तो कभी कभी कभी किस कर लेता था.

पर उसके आगे कुछ नही हुआ. एक बार मैने उसे अपने रूम बुलाया. वो आई. उस दिन उसने जीन्स पैंट और टी- शर्ट पहना था. क्या मस्त लग रही थी. बड़े बड़े बूब्स, गॅंड पीछे से फूली हुई. मैने कहा, ‘क्या बात है अंजलि आज बहोत सेक्सी लग रही हो. वो शर्मा गई. मैने उसे अपनी तरफ खिचा और लीप किस करने लगा. वो मना कर रही थी पर मैं नही माना और किस करते करते टी-शर्ट के उपर से ही उस के बूब्स दबाने लगा. उसे भी अब मज़ा आ रहा था. वो मेरा साथ देने लगी. फिर मैने उसका शर्ट उतार फेका. और ब्रा भी उतारी और बेड पे लेटके उसके बूब्स चूसने लगा. क्या बूब्स थे एकदम कड़क मुझे दबाने और चूसने मे बहोत मज़ा आ रहा था. वो मेरे बालो मे अपनी उंगलिया फिराने लगी. 5 मिनट तक बूब्स चूसने के बाद मैने उसका जींस पैंट भी उतार दिया. अब वो सिर्फ़ पैंटी मे थी. मैने एक बूब्स चूसना और दूसरा एक हाथ से ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और साथ ही एक हाथ निकार मे डालके उसकी चुत सहलाने लगा.

वो मूह से सिसकारिया निकाल रही थी. थोड़ी देर बाद मैने उसकी पैंटी भी उतार दी और खुद भी नंगा हो गया. मैने उसकी चुत को देखा क्या मस्त चुत थी एकदम गुलाबी चिकनी चुत पर एक बाल भी नही था ये देखकर मेरा लंड एकदम कड़क हुआ था. और नाग की तरह फूंकर रहा था. मैने उसको मूह मे लेने को बोला. तो अंजलि ने मना किया और हाथ से मेरे लंड को सहलाने लगी. मैने उसको लीप किस करना स्टार्ट किया. बूब्स भी दबा रहा था. थोड़ी देर बाद मैने उसके चुत चाटना चालू किया उसके चुत के मटर जैसे दाने को दात से हल्का सा काटता तो वो उछाल पड़ती थी. उसकी सिसकारिया लगातार बढ़ रही थी और वो मेरे सर को अपने चुत पे दबा रही थी. मैं ज़ोर ज़ोर से उसकी चुत चाटने लगा. बाद मे मैने चुत से मूह हटा लिया. और हाथ से चुत को सहलाना चालू किया एक उंगली उसकी चुत मे डाली तो वो उछाल पड़ी. और ज़ोर ज़ोर से लंड को सहलाने लगी. और मूह से सिसकारिया ले रही थी. उसकी चुत पूरी गीली हो चुकी थी. और मेरा लंड भी 6इंच लंबा 3इंच मोटा हो चुका था.

More Sexy Stories  बॉस की बेटी की कुँवारी चूत

तो मैने देर ना करते हुए. उसको सीधा लिटाया. और उसके चुत पे लंड रगड़ने लगा. वो मछली की तारह तड़प रही. और बोल रही थी. जानू जल्दी डालो. फिर मैं उठ के बैठ गया और उसके पैर फैलाक़े लंड का सूपड़ा उसकी चुत पे लगा के हल्का सा धक्का मारा तो लंड का सूपड़ा अंदर चला गया. मुझे लगा जैसे तपती भट्टी मे लंड घुसाया हो. वो बोली. ‘जान थोड़ा धीरे डालना ये मेरा पहली बार है. मैने कहा, ‘ ठीक है जानू तुम घबराना मत मैं प्यार से आराम से तुम्हारी चुत की सील तोड़ दूँगा. पर मुझे मालूम था की धीरे डालुगा तो लंड चुत मे घुसेगा नही. और वो दोबारा कभी मुझे चोदने नही देगी. तो मैने उसके पैर अपने कंधे पे लिए और किस करते करते ज़ोर का झटका मारा तो मेरा आधे से ज़्यादा लंड चुत मे घुस गया और चुत की झिली फट गयी और खून बहने लगा तो वो ज़ोर से चिल्लाई, ” उई मा मर गयी. प्लीज़ बाहर निकालो. बहोत दर्द हो रहा है, और रोने लगी.

मैने कहा. ‘बस हो गया जान. कहकर रुका और बूब्स दबाने लगा. और किस करने लगा. थोड़ी देर बाद वो चुप हो गयी. तो मैं आधे लंड से ही चोदने लगा. फिर वो भी मेरा साथ देने लगी. आवाज़ निकल रही हा उ हाहहहहहहाहा तो मैने थोड़ा लंड बाहर निकाला और एक इतना करारा शॉट मारा की, मेरा पूरा लंड चुत मे चला गया. वो फिर चीखी. मर गयी मा! रहने दो मुझे नही चुदना पर उसकी परवाह किए बगैर मैं उसे चोदने लगा. लंड दनादन अंदर बाहर हो रहा था. वो मूह से आवाज़ निकाल रही थी, आई ग हा हा अऔच मेरा जोश बढ़ गया. मैने स्पीड बड़ा दी. उसने मुझे जाकड़ लिया और बोलने लगी. और ज़ोर से चोदो और ज़ोर से चोदो. मैं झड़ने वाली हू. मैं भी झड़ने वाला था तो मैने ज़ोर ज़ोर से धक्के मारना चालू किया और थोड़ी देर बाद मेरी वीर्य की पिचकारिया उसके चुत मे गिरने लगी और उसी वक़्त वो भी झड़ गयी. हमने एक दूसरे को कस के पकड़ा और किस करने लगे.

More Sexy Stories  कॉलेज के प्रिन्सिपल के साथ सेक्स चुदाई

थोड़ी देर बाद मैं फिर से बूब्स दबाने लगा पर उसने मना किया. बोली, ‘ बहोत देर हो गयी जाने दो मुझे घर जाना होगा. दुबारा आउन्गि तो जी भर के चोदना. वो उठी बाथरूम जाके फ्रेश हुई कपड़े पहने और चली गयी. दोस्तो अगली स्टोरी मे बताउन्गा की कैसे मैने उसकी गॅंड मारके फाड़ दी. तो ये स्टोरी कैसी लगी मुझे मैल कर के ज़रूर बताए और मेरा हौसला बढ़ाए. मेरी मैल आईडी है अगली स्टोरी जल्द ही लिखुगा तब तक के लिए. अलविदा. कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके – डीके

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *